मेरी बेटी 2years 7th months की है। वो चीखती चिल्लाती है अगर उसकी बात ना मानो तो मैं क्या करूं। मै उससे प्यार से भी बात करती हूं। बहुत जल्दी गुस्सा आ जाता है उसे

Translated to English

My daughter is of 2years 7th months. If he does not listen to me then what can I do? I also talk to him in love. Very angry gets him

Created by
Updated on Jan 31, 2019

education Corner This is an instant, automated response to support you

Answer:

बच्चों में आक्रामकता या क्रोध को कैसे कम करें?

आक्रामक होने की प्रवृत्ति तब आती है जब कोई किसी प्रकार से अपनी बात को मनवाना चाहता है। बाल मनोविज्ञान के हिसाब से आक्रामक व्यवहार को मूर्त रूप में रोग का लक्षण माना जाता है और इससे जुड़ी कई समस्याएं जिसमें हाइपरएक्टिविटी, आक्रामक और विपक्षी व्यवहार के साथ-साथ कुछ गंभीर नियम उल्लंघन जैसी कुछ समस्याएं शामिल हैं। अगर बच्चों में इस व्यवहार को समय रहते संभाला नहीं गया तो जाने अनजाने में वो अपराध के रास्ते भी अख्तियार कर लेते हैं। इसलिए अपने बच्चे में आक्रामकता पर नियंत्रण पाने के लिए आप कुछ उपायों को जरूर आजमाएं। एक बच्चे को ऐसे घर की जरूरत होती है जहां उसको प्यार, समर्थन, एटेंशन, ईमानदारी, और विश्वास का माहौल मिल सके। दरअसल एक बच्चा सबसे अधिक अपने पैरेंट्स से ही सीखता है। इसलिए जरूरी है कि हम अपने बच्चे के सामने मानवीय मूल्यों की सही परिभाषा को यथार्थ रूप में चित्रित कर सकें। आप अपने घर में प्यार, स्नेह और क्षमा करने की प्रवृति का माहौल बनाएं। गाली गलौच या अपशब्दों का प्रयोग भूलकर भी अपने घर में या बच्चों के सामने नहीं करें। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: बच्चों की गुस्से और जिद् की आदत सुधारने के तरीके , क्या आपके बच्चे को गुस्सा आता है , आखिर क्यो नहीं सुनता है मेरा ही बच्चा मेरी ही बात?

बच्चे को अनुशासित बनाने के लिए क्या करें?

प्रत्येक परिवार में परवरिश करने का तरीका अलग-अलग हो सकता है। अनुशासन एवं नियमों की परिभाषाएं भी अलग हो सकती है। लेकिन कुछ बेसिक टिप्स हैं जिनकी मदद से आप अपने बच्चे को बता सकते हैं कि उनका व्यवहार अच्छा नहीं है। बच्चे को एटेंशन और सहानुभूति दें- आप अपने बच्चे को समय-समय पर एसहास कराएं कि वो आपके लिए कितना खास है, उसको प्यार करें। एक बच्चे को आपसे हमेशा एटेंशन चाहिए। अगर बच्चे के दिमाग में ये सेट कर जाए कि उसका ख्याल नहीं रखा जाता है तो फिर वो कुछ और गलत रास्तों को अपनाने लगता है। आप कुछ नियमों को बनाएं और उसका पालन करें। आप अपने बच्चे को ये स्पष्ट कर दें कि कौन सी बातें स्वीकार करने योग्य है और किन बातों को कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता है। भूलकर भी अपने बच्चे को सजा देने की धमकी ना दें। अब अगर जैसे की आपके बच्चे ने गेम्स खेलने के बाद खिलौनौं को संभालकर नहीं रखा है या फिर किताबों को इधर-उधर बिखरा कर रखा है तो उसको प्यार से समझाएं। ये ना कहें कि अब उसको आईसक्रीम नहीं खिलाएंगे या बाहर घूमने के लिए लेकर नहीं जाएंगे। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: क्या आप बच्चों पे गुस्सा करती है? जानिये इसके दुष्प्रभाव ! , तीन स्टेप की इस तरक़ीब से आप छुड़वा सकते हैं बच्चों की उल्टा जवाब देने की आदत , जब बच्चा जिद करे तब हम क्या करें ? आजमाएं ये उपाय , बच्चे के गुस्साने या चिल्लाने की स्थिति में आजमाएं ये 5 उपाय

बच्चों के नखरे को कैसे नियंत्रित करें?

जब बात बच्चों के नखरे की होती है तो इसका कोई त्वरित समाधान नहीं होता है। आप बस इतना कर सकती हैं कि बच्चे को ये एहसास दिलाएं कि वो सुरक्षित है और आप उसको कितना प्यार करती हैं। आप इन उपायों को जरूर आजमाएं क्योंकि ये आपके लिए काफी मददगार साबित हो सकते हैं।:

  • हम सभी लोग अपने बच्चे को प्यार करते हैं लेकिन ये निर्भर करता है कि हम अपने प्यार को बच्चे के सामने कैसे अभिव्यक्त कर पाते हैं। कुछ पैरेंट्स अक्सर ये कहते हुए मिल जाएंगे कि हम अपने बच्चे को इसलिए डांटते हैं क्योंकि हम उससे प्यार करते हैं। वहीं दूसरी तरफ बच्चे के नजरिए से विचार करें तो हो सकता है कि बच्चा ये सोचता हो कि मेरी मां मुझसे प्यार नहीं करती है, वो हमेशा मुझको डांटती है या चिल्लाती रहती है।
  • ्रत्येक बच्चे का अलग व्यक्तित्व हो सकता है। माता-पिता होने के नामते आपको इस सच को स्वीकार करना चाहिए कि हरेक बच्चे का विकास या सोचने का स्तर अलग हो सकता है।
  • नियमों का पालन करने के लिए आपका बच्चा अभी छोटा हो सकता है। जिस दिन वो समझ जाएगा कि उस दिन से वो अच्छे से व्यवहार करने लगेगा तो इसलिए प्यार से समझाएं

आप अपने बच्चे को किसी को मारने या दांत काटने से कैसे रोकें ?

बच्चा किसी को दांत तब काटता है जब वो हताश महसूस करता है, निराश होता है या गुस्से में होता है तब वो अपने क्रोध का इजहार करने के लिए ऐसा करता है। इसलिए आप निगरानी करें कि आपका बच्चा किन परिस्थितियों में ऐसी हरकतें करता है। अगर आप अपने बच्चे को ऐसा करते हुए देखते हैं तो उसको रोकिए। आप अपने बच्चे को प्यार से समझाते हुए ऐसा नहीं करने के लिए बोलें। अपने बच्चे की ऊर्जा को सही दिशा में ले जाने का प्रयास करें। आप उसको स्पोर्ट्स या अन्य गतिविधियों में शामिल कराएं जिसको करना उसको अच्छा लगता हो। आप अपने बच्चे के अंदर की हताशा को दूर करने का प्रयास करें। ये प्रयास करें कि घर में कोई किसी के प्रति गुस्से का इजहार ना करें और ना ही मारपीट करे। जब कभी आप गुस्से में आते हों तो अपने ध्यान को दूसरी बातों पर केंद्रित कर लें। अपने बच्चे को भी ऐसा कुछ करने की शिक्षा दें। अगर वो कुछ अच्छा काम करता है तो उसकी प्रशंसा भी जरूर करें। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: कैसे करें कंट्रोल अगर आपका बच्चा गुस्साने पर दाँत काटता या नोचता है?


Note: Please check for allergies in your child and his/her medical condition. Please consult with the Doctor in person for physical examination and treatment.

Manisha Agarwal found the answer helpful.

Login or Signup to see Expert's complete response

Also Read

+ Ask an expert

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}