Mera baby 8 month ka h wo rat mdota nhi h barbar uth kar rota h kya ktu please bataye

Translated to English

Mera baby 8 month ka h wo rat mdota nhi h barbar uth kar rota h kya ktu please bataye

Created by
Updated on Nov 30, 2019

child-psychology Corner

Answer:
अधिकांश 4-12 महीने के बच्चे 12-16 घंटे तक सोते हैं और इसमें उनके झपकी लेने का समय भी शामिल हो सकता है। इस दौरान बेबी लगातार कई घंटों तक सोते हैं और वे फीड करना भी छोड़ सकते हैं। कुछ बेबी 4 से 6 घंटों तक लगातार सोते हैं और कुछ बच्चे 1-2 घंटे तक सोने के बाद जग जाते हैं। बेबी रात के समय में इन कारणों की वजह से जग सकते हैं। भूख- रात के समय में शिशु के रोने की मुख्य वजह भूख होती है। क्योंकि बेबी का पेट छोटा होता है और इसलिए उनको कुछ घंटें के बाद फीड की जरूरत होती है। अगर आपने अपने बेबी को ठोस आहार देना शुरू कर दिया है तो और आप उनको सुलाने से पहले ठोस आहार जरूर खिला दें। कॉलिक/गैस- अगर बेबी हेल्दी है और खुश है लेकिन अचानक से रात में रोना शुरू कर देता है तो इसके पीछे कॉलिक हो सकती है। आप ये सुनिश्चित कर लें कि प्रत्येक फीड के बाद बच्चे को डकार जरूर दिला दें और हां फीड कराने के तुरंत बाद बेबी को को बेड पर नहीं ले जाएं। अगर बेबी को कॉलिक की समस्या है तो आप उनको डॉक्टर से जरूर दिखलाएं और डॉक्टर की सलाह के बाद ही दवा दें। गैस- कई बार ये समस्या गैस के चलते भी हो जाती है। आप बेबी को पीठ के बल लिटा दें, और उनके पैरों को सहलाएं इसके बाद उनके पैरों कों इस तरीके से घूमाएं जैसे कि हम लोग साइकिल चलाने के समय में करते हैं। इसके अलावा आप उनके नाभि में हींग की हल्की मात्रा लगा दें इससे भी काफी मदद मिलेगी। रात के सोते समय में उस तरह के खाद्य पदार्थों से परहेज करें जिनसे गैस बनता हो। असुविधाजनक कपड़े/ माहौल- आप ये भी जरूर चेक कर लें कि कहीं कपड़ों की वजह से तो बेबी को असुविधा महसूस हो रही है या फिर ये भी हो सकता है कि बहुत ज्यादा गर्म या ठंढ़ा होने से भी दिकक्त हो सकती है। भींगे नैपकिन- जब बेबी का नैपकिन भींग जाता है तो तब भी वे बहुत रोते हैं। असहज महसूस करना- जब किन्हीं कारणों से आपका बेबी असहज महसूस करता है तब भी वे रोते हैं। बेबी पर्याप्त नींद ले सके इसके लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। बेबी के सोने के पैटर्न को सेट करने के लिए आप इन उपायों को आजमा सकती हैं। रात के समय में लाइट और ध्वनि के लेवल को कम रखें, अगर बेबी रात के समय में जगा है तो उसके साथ मत खेलिए। धीमी आवाज में लोरियां सुनाएं। इसके अलावा आप मसाज या बाथ भी करवा सकते हैं जिससे कि बेबी के मांसपेशियों को आराम मिल सके। दिन के समय में बेबी के साथ खूब खेलिए ताकि वो दिन के आखिरी तक थक जाए और जल्दी सो जाए। उन लक्षणों पर नजर बनाए रखें जो ये बताता है कि बेबी अब सोना चाहती है। शांत हो जाना, जम्हाई लेना या बिना किसी बात के चिड़चिड़ा हो जाना, इस तरह के कुछ लक्षणों को नोटिस करें। इस ब्लॉग को भी आप जरूर पढ़ लें। ये ब्लॉग आपक लिए मददगार साबित हो सकते हैं https://www.parentune.com/parent-blog/sleep-remedies-for-infant-in-hindi/4446

Login or Signup to see Expert's complete response

Also Read

mera baby 3 month ka h wo 4 ya 5 fin m potty jata..

Hi Anu, It is completely normal for a breast feedi..

Mera baby 4 month ka h wo apne mouth me fingers da..

Hi Megha Manocha, Its common in this age as its n..

mera baby 23 din ka h o potti krne m rota h potti..

Hi Pooja Mishra, In such young infants home remed..

My baby 6 month ka h ..bahot patla h ...helty nhi..

Hi Shaheen Khan, Health of a child is assessed by..

Mera baby 25 days ka h din MA ya rat MA soty hvy A..

Hi Hadi, Do not give any medication without cons..

+ Ask an expert

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}