meri beti 9mnth ki hogyi aj.. uske teething hori hai raat. boht roti hai.. or use cold or cough bhi boht jyada hai.. plzz muje koi home remedy btae jisse jld result mile or meri beti healthy b hojae .. uska weight b loose hogya h boht.. plz rrply soon as possible. thnks

Translated to English

meri beti 9mnth ki hogyi aj.. uske teething hori hai raat. boht roti hai.. or use cold or cough bhi boht jyada hai.. plzz muje koi home remedy btae jisse jld result mile or meri beti healthy b hojae .. uska weight b loose hogya h boht.. plz rrply soon as possible. thnks

Created by
Updated on Feb 25, 2019

health Corner This is an instant, automated response to support you

Answer:

सर्दी और कफ के लिए घरेलु नुस्खे

मौसम में हो रहे बदलाव के चलते बच्चे अक्सर सर्दी, जुकाम और कफ की चपेट में आ जाते हैं। सरसो तेल में लहसुन की कलियां और अजवाइन डालकर गर्म कर लें फिर ये जब हल्का गर्माहट लिए रहे उसके बाद इससे बच्चे की पीठ और सीने पर मालिश करें। इसके अलावा आप बच्चे को लहसुन और शहद मिलाकर खाने के लिए भी दे सकते हैं। ये नुस्खे बेहद असरदार तरीके से काम करते हैं। आप लहसुन का रस निकालकर उसमें थोड़ी मात्रा में शहद मिला दें। आप इस मिश्रण को दिन में तीन बार बच्चे को पिलाएं इसका परिणाम बहुत जल्द देखने को मिलेगा। एंटीबायोटिक दवाओं से परहेज करें। शाम के समय में बच्चे को फल ना खिलाएं। हल्का गर्म या सुशुम पानी पीने के लिए बच्चे को दें। अगर आप मांसाहारी हैं तो बच्चे को शोरबा या सूप पिला सकती हैं। अगर आप शाकाहारी हैं तो फिर अपने बच्चे को वेजिटेबल सूप बना कर पीने को दें। दक्षिण भारतीय व्यंजन रसम में लहसुन, जीरा और हल्दी मिलाकर सेवन करने से बहुत फायदा मिलेगा। अगर इन उपायों को आजमाने के बाद भी राहत ना मिलें तो अपने डॉक्टर से बच्चे का चेकअप करवा लें। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: यह 6 रामबाण घरेलु नुस्खे करेंगे आपके बच्चे की सर्दी खांसी दूर , सर्दी में होने वाली खांसी के लिए घरेलु उपचार क्या हैं? , क्या करें जब नवजात शिशु को आ जाए बुखार? 8 उपाय बुखार से राहत के

नाक बहने की स्थिति में किन घरेलु नुस्खों को आजमाएं?

नाक बहने की स्थिति में आपका बच्चा खुद को काफी असहज महसूस कर सकता है। सोने और आराम करने के दौरान भी कठिनाइयों का सामना करना होता है। सांस लेने में हो रही दिक्कतों की वजह से वो चिड़चिड़ापन महसूस करता है और अनिद्रा का शिकार भी बन जाता है। ऐसा माना जाता है कि नाक के एक निश्चित प्वाइंट का मसाज करने, ऑंख के किनारों और कान के कुछ हिस्सों को हल्का दबाने से भी राहत मिलती है। अपनी उंगलियों की मदद से राउंड मूवमेंट्स में धीरे-धीरे मसाज करें। इसी तरीके से आंख के किनारों के ठीक नीचे वाले हिस्से में भी इस तरीके को दोहराएं। कान के नीचले वाले हिस्से को आगे और पीछे तरफ से भी इसी तरीके से मसाज करें। ये ध्यान रखें कि मसाज धीरे-धीरे करना है और इस दौरान ज्यादा दबाव ना दें।

सीने में संक्रमण होने पर किन घरेलु नुस्खों को आजमाएं?

कर्पूर का तेल और नारियल के तेल को मिला कर उसको गर्म कर लें। रात को सोने से पहले इस तेल से बच्चे के पूरे शरीर पर लगा दें। ये ना सिर्फ बच्चे को अच्छी नींद लेने में मदद करेगा बल्कि सीने में संक्रमण को दूर करेगा और कफ, सर्दी और नाक बहने की परेशानी को भी दूर करेगा। इसके अलावा एक चुटकी जायफल और एक चम्मच दूध को गर्म कर लें। इसको रूम टेम्परेचर के मुताबिक नॉर्मल होने दें। अब इसको बच्चे को खिला दें । ये आपके बच्चे को तत्काल राहत देगा।

छींक से राहत दिलाने के लिए घरेलु नुस्खे

सर्दी, कफ, छींक और नाक बह रहा हो तो भाप लेने से अच्छा और कोई उपचार हो ही नहीं सकता है। आप अपने बाथरूम को स्टीम रूम बना लें, दरवाजे को बंद करें और बच्चे को अच्छे से भाप दिलाएं। आपके बच्चे को ये तत्काल राहत देगा। इसके अलावा सरसो तेल में अजवाइन, लहसुन और हींग को मिला कर अच्छे से गर्म कर लें। इसके बाद इसको सामान्य होने दें जब ये हल्का गर्म रह जाए तब बच्चे के छाती और पीठ पर अच्छे से मालिश करें। इस प्रक्रिया को दिन में 2 बार दोहराएं।

जुकाम की वजह से जब नाक जाम हो जाए तब क्या करें ?

जुकाम होने पर बच्चों का नाक जाम भी हो जाता है और इसके चलते बच्चे बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं और उनको सांस लेने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ जाता है। ऐसी परिस्थिति में आप सेलीन ड्रॉप्स की मदद लें। सेलीन ड्रॉप्स बच्चे के नाक में जमा म्यूकस को हटाने में मदद करता है। इस दौरान बच्चे को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ जैसे कि दूध, पानी, सूप और जूस पिलाएं। इसके अलावा आप बच्चे को सोने से पहले शहद भी पिलाएं। शहद के प्रभाव के चलते बच्चे को सर्दी और जुकाम से भी राहत मिलती है। आप आधा चम्मच शहद तक बच्चे को दे सकती हैं लेकिन इस बात का खास ख्याल रखें कि 1 साल से ऊपर के बच्चे को ही शहद पिलाएं। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: ज़ुकाम ठीक करने के घरेलु नुस्खे

बच्चे की इम्यूनिटी पॉवर यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाएं?

बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए कुछ आहार और लाइफस्टाइल में थोड़ा बदलाव करने की आवश्यकता है। पैक्ड फूड की बजाय घर में तैयार किए हुए ताजा खाना बच्चे को खिलाएं। पैकेज्ड जूर में चीनी उच्च मात्रा में मिली होती है और ये इम्यून सिस्टम को कमजोर बनाता है। इसके अलावा, एक स्वस्थ पाचन तंत्र पर ध्यान केंद्रित करें - पाचन तंत्र में रहने वाले बैक्टीरिया प्रतिरक्षा प्रणाली को भी प्रभावित करते हैं। जब इसमें कुछ भी असंतुलन होता है तो प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है। प्रोबायोटिक्स आंत में स्वस्थ बैक्टीरिया के संतुलन को बनाए रखने में मदद करते हैं। इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में अच्छी नींद का भी बड़ा योगदान है तो इस बात का ध्यान रखें कि आपका बच्चा अच्छे से सो रहा है या नहीं। कुछ और जानकारी के लिए इस ब्लॉग को जरूर पढ़ें: कैसे बढाएं नवजात शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पावर) ?

वे आहार जो बच्चे की इम्यूनिटी पॉवर को बढ़ाने में मदद करते हैं

आप अपने बच्चे के आहार में प्रतिदिन कम से कम 2 से 3 सब्जियों को जरूर शामिल करें। विशेष रूप से हरी पत्तेदार सब्जियां इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाती हैं क्योंंकि इनमें पर्याप्त मात्रा में आयरन शामिल होता है। पालक और प्याज का सूप बच्चे के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा पालक पनीर या पालक परांठा भी आप बच्चे को दे सकती हैं। स्वाद बदलने के लिए वेजिटेबल कटलेट बना सकती हैं। शकरकंद भी इम्यूनिटी पावर बढ़ाने में सहायक होता है। विटामिन C से भरपूर फल जैसे कि संतरा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है। अगर आपका बच्चा बेरी को खाने से मना कर देता है तो आप दही में जमाकर इसको खिला सकती हैं, स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें स्ट्रॉबेरी और ब्लूबेरी को मिला सकती हैं। फलों का सलाद बना कर भी आप बच्चे को ज्यादा मात्रा में फल खाने के लिए प्रेरित कर सकती हैं।


Note: Please check for allergies in your child and his/her medical condition. Please consult with the Doctor in person for physical examination and treatment.

Vaibhav Saxena found the answer helpful.

Login or Signup to see Expert's complete response

Also Read

Mujhe सुझाव चाहिए kii meri beti km nind kyun leti..

Hi Kusum Lata, Hope this blog below helps you in..

mam Meri beti 9 month 1week ki complete ho gai hai..

Hi Priyanka Mishra, Vomiting in this season could..

+ Ask an expert

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}