• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग

बच्चे में छोटे भाई या बहन के प्रति अलगाव कैसे दूर करें

Kumkum
1 से 3 वर्ष

Kumkum के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Sep 14, 2020

विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

हर परिवार में नए शिशु का जन्म आनंद का कारण होता है, परन्तु कई बार उसके आगमन से बड़े बच्चे में ईर्ष्या की भावना पैदा हो सकती है. ऐसे समय बड़े बच्चे को लगता हे की छोटे भाई या बहन की तुलना में उसका महत्व कम हो गया है. इस कारण बच्चे के मन में अपने नए भाई या बहन के प्रति घृणा, तिरस्कार और अलगाव की भावना निर्माण  होती है. इस वीडियो में कुमकुम जगदीश, जो की एक मनोवैज्ञानिक हैं, इस बारे में चर्चा कर रही हैं. उनके अनुसार, माता-पिता यह द्वेष कम करने के लिए अपने बड़े बेटे या बेटी को नए शिशु की देखभाल करने में शामिल कर सकते हैं, जैसे की उसके कपडे तय कर के रखना, उसको खिलाना, उसे से खेलना इत्यादि. साथ ही साथ, इस मदद के लिए, वह उसकी सराहना कर सकते हैं और उसे प्रोत्साहन दे सकते हैं. ऐसा करने से बच्चे में जिम्मेदारी का अहसास और उसके साथ बड़े होने कर गर्व उत्पन्न होता है. बच्चा ख़ुशी से इन कामों में शामिल होता है और उसके मन में अपने छोटे भाई या छोटी बहन के प्रति लगाव और अपनेपन की भावना बढ़ने लगती है.

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप पेरेंटिंग ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}