गर्भावस्था

सबसे कठिन फैसलाः दूसरा बच्चा हो या न हो

Shokhi Agarwal
1 से 3 वर्ष

Shokhi Agarwal के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Sep 09, 2018

सबसे कठिन फैसलाः दूसरा बच्चा हो या न हो

फिर से माता-पिता बनने के लिये सबसे अच्छा समय कौन सा है, इस बारे में कोई नियम नहीं हैं और आपकी सबसे अच्छी रोक-थाम के बावजूद भी आपका अगला बच्चा कुल मिलाकर एक ऐसे समय पर आ जाता है जिसके बारे में आप कभी सोच भी नहीं सकते। हमारे लिये, दूसरे बच्चे का आना एक समझौता करने जैसा था। मेरी बड़ी बेटी केवल 8 महीने की थी जब मैं दूसरी बार गर्भवती हुई। हमने चीजों को वैसे ही अपनाया, जैसे-जैसे वो सामने आ रही थीं पर कहीं न कहीं हमारे मन में एक डर भी था जैसे हमसे कोई बड़ी गलती हो गयी है।

आपके नये और सबसे छोटे शिशु होने के नाते उसे लगातार आपके ध्यान की जरूरत होती है और वह कम और कच्ची नींद लेता है। अपने दोनों शिशुओं के साथ मैं इतनी व्यस्त थी कि कई महीनों तक मुझे अपने होने का पता ही न चला। माता-पिता होने के कुछ ऐसे पहलू होते हैं जिन्हें आप माँ-बाप होकर ही समझ सकते हैं पर मेरे शिशु ही तेजी से मेरी सेहत में सुधार की वजह बने और अब हर रोज मुझे उनका सबसे ज्यादा प्यार मिलता है।

हर नये शिशु के साथ पूरे परिवार के मिजाज में बदलाव होता है और यह कुछ बातें हैं जो आपको दूसरे बच्चा पैदा करने की योजना बनाते समय ध्यान रखनी चाहियेः

1) दो बच्चों के बीच अंतरः कुछ लोगों का मानना है कि पहला बच्चा जितना बड़ा हो उतना बेहतर होता है। इस तरह, दूसरे भाई या बहन के आने से पहले उसे आपका काफी साथ मिल चुका होता है। कुछ लोगों का सुझाव है कि बच्चों के बीच उम्र का अंतर कम होना चाहिये क्योंकि यह आपके पहले बच्चे को जीवनभर साथ देने वाला दोस्त मिलना पक्का करता है।

2) आपकी उम्रः आपको हैरानी होगी कि माता-पिता बनने में उम्र काफी मायने रखती है, खास कर महिलाओं के लिये। हालांकि, इसके लिये उम्र की कोई तय समय-सीमा नहीं है। जैसे ही आप 35 साल की होती हैं, शरीर की जन्म देने की ताकत नाटकीय ढंग से कम हो जाती है लेकिन कुछ महिलायें उम्र के 40वें पड़ाव में भी कामयाबी से गर्भवती हो जाती हैं।

3) दूसरे गर्भधारण के समय पहले शिशु की उम्र क्या होः शिशु के अपने माँ-बाप के साथ रिश्ते, भाई-बहनों में आपसी मन-मुटाव और उसके खुद के सम्मान जैसे मामले में जांच के नतीजे बताते हैं कि दूसरा बच्चा पैदा करने का सही समय तब होता है जब आपका पहला शिशु 1 साल से भी कम का हो या वह 3 से 5 साल का हो (हालांकि पहले शिशु के 1 साल से कम का होने या 5 साल से बड़े होने पर, ये दोनों ही मामले, नये शिशु का पैदायशी वजन बहुत कम होने या उसके समय से पहले पैदा होने जैसे खतरों से आपको रूबरू करा सकते हैं।) पहले शिशु के 1 साल से कम होने पर उसे परिवार में अपने खास दर्जे का पता नहीं होता और वह नये आनेवाले शिशु से नाराजगी करने के लायक नहीं होता जबकि पहले शिशु के 5 साल का हो जाने पर उसके अंदर अपने-पराये और दूसरों का ध्यान खींचने की समझ आ चुकी होती है।

4) जीवनशैलीः हो सकता है कि आप दूसरे बच्चे के साथ अच्छी तरह से ताल-मेल कर लिया हो, या शायद उस स्तिथि में आ चुकी हों जहाँ आप और आपके जीवनसाथी के पास फिर से एक-दूसरे के लिये समय हो या आप फिर से अपने पसंदीदा काम पर लौट चुकी हों तो इस बात पर ध्यान दें कि शिशु की जरूरत के हिसाब से आपके पास उतनी ऊर्जा और समय हो।  

5) आपकी आर्थिक स्थितिः हालांकि पैसा ही सबकुछ नहीं होता पर परिवार को बढ़ाने के लिये आपकी आर्थिक स्तिथि मजबूत होनी चाहिये।

6) आपके जीवनसाथी की रायः कई बार ऐसा होता है जब जीवनसाथी में से कोई एक इसके लिये राजी होता है पर दूसरा नहीं। आप दोनों की राय हमेशा एक जैसी हो यह बहुत मुश्किल से होता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप इसे हल नहीं कर सकते।

7) आपके भविष्य से जुड़ी आकांक्षाः बेशक हर बात के अच्छे-बुरे पहलू होते हैं पर कुछ फैसले आपको अपने दिलो-दिमाग से लेने होते हैं इसलिये अपने हिसाब फैसला लेने के लिये आगे बढ़ें। अगर आपके माता-पिता और आप दोनों, दूसरा शिशु चाहते हों तो यही समय इसके लिये सबसे अच्छा है।

बेशक, दूसरे शिशु को पैदा करने के सही समय और परिवार के आकार को लेकर आस-पास हर किसी की अपनी राय होती है लेकिन यह आप पर है कि कोई भी फैसला लेने से पहले हर अच्छे-बुरे पहलू पर गौर करें।  

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 2
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jul 25, 2018

right hai. muje ichha hai dusre baby ki bt huby mna kr rhe hai meri baby ke bad 2 bar pregnant huyi bt hby ne miss krva diya nd me ab tusion chlati hu nd finacial cndition iti achhi ni to mere hby ka manna hai ak bachhe ki zarurt achhe se puri ho skti hai achhi school achha education.. me kya kru ...

  • रिपोर्ट

| Apr 02, 2017

Hi mam. muje apse puchna tha KI kya dusra bacha karna jaruri hai. kyunki hamari aarthik suvidha itni achi nai Hai KI hum do bacho ka parvarish ache se Kar Sake. mera aisa Manna hai ki do bacha karke bahut takleef uthake. bacho KI ichaon ko puri na karke jine se acha Hai KI Mai ek Baby Hi rakhun aur uski achi parvarish Kar sakun. uski ichaon ko puri Kar sakun. kyunki muje pata Hai KI financialy Mai do bacha afford nai Kar sakti. aur aage b mera financial Status acha hone ka Chance nai Hai . isliye muje ye question Baar Baar ata Hai. aur sabse Badi prblm ye Hai KI mere gharme dekhbal karne wala koi nai Hai. Mai hun mere husband. Or mera Baby. upar se Mera Baby Operation se hua. pehle Hi Rest nai hone k wajah se muje pura Body pain sticting mei pain rehta Hai. second Baby mei k baad tho responsibility jyada badh jayega.

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}