स्वास्थ्य

बच्चों का दिमाग़ (मेमोरी पावर) तेज़ करने के लिए क्या होना चाहिए आहार?

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 19, 2018

बच्चों का दिमाग़ मेमोरी पावर तेज़ करने के लिए क्या होना चाहिए आहार

उचित आहार आपके बच्चों को उपयुक्त मानसिक फिटनेस का स्तर बनाए रखने में मदद करता है, जबकि असंतुलित आहार ठीक इसके विपरीत कार्य करता है। आपको यह जानकारी होनी चाहिए कि मानव मस्तिष्क को काफी ऊर्जा की जरूरत होती है। शरीर के वजन का मात्र 2% होने के बावजूद, मस्तिष्क प्रतिदिन शरीर की कुल ऊर्जा खपत के 20 प्रतिशत का उपभोग करता है। इस वजह से स्वस्थ आहार, बच्चों में स्मरण शक्ति बढ़ाने का एक एक महत्वपूर्ण तरीका है।
 

छोटे बच्चों और बडों का दिमाग़ तेज़ करने के लिए क्या उपाय करें? /Foods/Diet to Boost Child's Brain & Memory in Hindi

बच्चों की दिमाग़ी विकास के लिए पैरेंट को अपनी ज़िम्मेदारी पूरी तरह से निभानी चाहिए। आज कल की कॉम्पटीशन भरी ज़िंदगी में बच्चों में भी तनाव इतना बढ़ गया है कि छोटी छोटी बातों को भी वे भूल जाते हैं, और अगर सही समय पर वो याद न आए तो परेशानियाँ बढ़ सकती हैं।

  • फलों का सेवन-​ फलों के सेवन द्वारा आप अपने बच्चे दिमाग को स्वस्थ और चुस्त-दुरुस्त रख सकती हैं क्योंकि फलों में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट आपके बच्चे के ब्रेन की एक्टिवनेस को बनाए रखने में काफी सहायक होते हैं। आपको इन्हे अपने बच्चे की डाइट में शामिल कर लेना चाहिए जिससे उसकी मेमोरी भी शार्प हो जाएगी और साथ ही मानसिक तनाव से राहत मिलेगी। 
  • अनार और सेब का सेवन​- दिमाग को तेज करने के लिए और याददाश्त बढ़ाने के लिए अनार और सेब का सेवन करना चाहिए अनार में भरपूर मात्र में एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व होते हैं जो आपके ब्रेन के लिए बहुत जरूरी तत्व माना जाता है।
  • ग्रीन टी पीने के लिए उत्साहित करें - अगर आपका बच्चा चाय या कॉफी का सेवन करता है तो इसकी जगह पर आप ग्रीन टी दे सकती हैं क्योंकि ग्रीन टी में पोली-फॅनल्स  तत्त्व होते हैं जो उसके दिमाग को तेजतर्रार रखने में मददगार साबित होते हैं।
  • दिमाग को तेज तर्रार बनाने के लिए अगर संभव हो तो अपने बच्चे को अखरोट दे सकती हैं क्योंकि अखरोट में विटामिन ए और एंटीऑक्सीडेंट्स तत्वों की भरपूर मात्रा होती है जो आपके बच्चे की याददाश्त बढ़ाने में फायदेमंद होती है।
     
  • चेरी के सेवन से भी दिमाग तेज़ बनता है, अगर संभव हो और यह आपके यहाँ उपलभ्ध है तो आप अपने बच्चे को चेरी दे सकती हैं।
     
  • रात को सोने से पहले 2-3 बादाम पानी में भिगोकर रख दें और सुबह छिलका उतारकर पेस्ट बना लें। 2 चम्मच शहद और बादम के पेस्ट को 1 गिलास गुनगुने दूध में मिलाकर अपने बच्चे को पिलाएँ। दूध पीने के 1 घंटे तक कुछ खिलाएँ पिलाएँ नहीं। आप बादाम के पेस्ट को मक्खन और मिसरी के साथ भी मिलाकर दे सकते हैं। रोज़ इस उपाय को करने से दिमाग़ तेज़ होता है।

​​इसे भी पढ़ें- 13 असरदार उपाय बच्चे की स्मरण शक्ति बढ़ाने के

  • पालक में विटामिन ए, के, ई, सी, बी2, बी6, फ़ोलिक एसिड, ज़िंक, मैग्नीज़ और कैल्शियम होता है, जो आपके बच्चे के दिमाग़ को एक्टिव रखते हैं। पालक में ओमेगा 3 फ़ैटी एसिड भी होता है, जो बच्चे के ब्रेन के लिए बहुत ज़रूरी न्यूट्रीशन है। याददाश्त बढ़ाने, दिमाग़ी विकास और एकाग्रता बढ़ाने वाले सभी ज़रूरी पोषक तत्व पालक में होते हैं। इसलिए बच्चे के दिमाग़ी स्वास्थ्य के लिए आपको नियमित रूप से इसे देना चाहिए।
     
  • डार्क चॉकलेट खाने से आपके बच्चे की दिमाग़ी कार्य शक्ति बढ़ती है । इसे सीमित मात्रा में दें, क्योंकि इससे वज़न भी बढ़ता है।
     
  • आपके बच्चे की याददाश्त अच्छी करने के लिए उसे गुड़ के साथ तिल भी  सकते हैं। इसे रोज़ खाने से ब्रेन पॉवर बढ़ती है।
     
  • रात को सोने से पहले उड़द की दाल पानी में भिगो दें और सुबह इसे पीसकर पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को दूध और मिसरी में मिलाकर अपने बच्चे को खिलायें, इसे बुद्धि तेज़ होती है।
     
  • रोज़ाना अलसी के तेल के सेवन करने से ब्रेन से जुड़ी कोई बीमारी नहीं होती है। इसके प्रयोग से आपके बच्चे का ब्रेन एक्टिव होता है।

 

  • बुद्धि बढ़ाने के लिए ब्राह्मी एक आयुर्वेदिक औषधि है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो मस्तिष्क की थकान दूर करता है। रोज़ाना 1 चम्मच ब्राह्मी का सेवन आपके बच्चे के लिए अति लाभकारी है।
     
  • एग्जाम देने वाले अपने बच्चों को मुलेठी हर दिन देनी चाहिए। इससे पढ़ा हुआ याद रहता है और बुद्धि बढ़ती है।

इसे भी पढ़ें - क्या हैं बच्चों में मानसिक तनाव के मुख्य कारण (वजहें)?

  • अपने बच्चे की स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए दिन में 2 बार गुलुकंद खिलाना चाहिए। इससे आपके बच्चे को पढ़ा हुआ लम्बे समय तक याद रहता है।
     
  • रात को सोने से पहले 10 ग्राम दालचीनी पाउडर को शहद में मिलाकर बच्चे को चटाएँ और उसके बाद कुछ खिलाएँ पिलाएँ नहीं। इससे याददाश्त बढ़ती है।
     
  • दही में पाया जाने वाला अमीनो एसिड तनाव दूर करके ब्रेन को कूल रखता है। इसलिए आप अपने बच्चे के भोजन में दही को स्थान दें।
     
  • दूध में शहद डालकर पीने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। अपने बच्चे का माइंड शार्प करने और उसे एक्टिव रखने के लिए शहद वाला दूध पिलाना चाहिए।
     

कहने का तात्पर्य यह है कि उपरोक्त को अपने बच्चे की डाइट में शामिल करना आपके बच्चे के मानसिक विकास के लिए अत्यंत लाभदायक है। बच्चे के खानपान पर अधिक खर्च करना ही काफी नहीं है बल्कि इससे भी अधिक आहार का संतुलित होना जरूरी है। जब आपका बच्चा एग्जाम की तैयारी कर रहा हो तो ऐसे चीजें उसके आहार में शामिल की जानी चाहिए जो उसकी स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक हों। इसके लिए आप किसी डायटीशियन की सलाह भी ले सकती हैं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 6
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jan 24, 2019

hi I'm tasneem my daughter is 7 year's & she isvery naughty

  • रिपोर्ट

| Jan 04, 2019

Very nice

  • रिपोर्ट

| Dec 27, 2018

Nice information

  • रिपोर्ट

| Nov 18, 2018

Kya ladkiyo ko badaam khilaa sakte h

  • रिपोर्ट

| Jul 05, 2018

Thanks for getting information

  • रिपोर्ट

| Apr 03, 2018

wow... Kitna accha information thanx mam

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}