• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
खाना और पोषण गर्भावस्था

5 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट/गर्भावस्था आहार प्लान - क्या खाएं और क्या न खाएं ?

Deepak Pratihast
गर्भावस्था

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 07, 2020

5 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्टगर्भावस्था आहार प्लान क्या खाएं और क्या न खाएं
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

प्रेग्नेंसी के पांचवें महीने में किस तरह का आहार लेना चाहिए? गर्भावस्था के पांचवे महीने में गर्भवती को लाइफस्टाइल से लेकर अपने खानपान तक का खास ध्यान रखना पड़ता है। दरअसल इस अवस्था में बच्चे का शरीर पेट में विकसित हो चुका होता है और गर्भवती जो भी खाती है उसका असर बच्चे पर सीधा पड़ता है। तो इस बात का आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए कि कोई भी ऐसा खाद्य पदार्थ ना खा लें जिससे फायदा की बजाय नुकसान हो जाए। इसलिए आपके डॉक्टर भी आपको सलाह देते होंगे कि प्रेग्नेंसी के दौरान संतुलित आहार लेना चाहिए और अपने डाइट चार्ट का निश्चित रूप से पालन करना चाहिए। ये जानना भी जरूरी है कि प्रेग्नेंसी के प्रत्येक महीने के दौरान आपके शरीर में अलग-अलग तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं तो पहले महीने और अन्य महीनों में आहार की जरूरतें भी अलग होती है।  अगर आप भी प्रेग्नेंट हैं और पांचवें महीने में हैं तो यह ब्लॉग आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है। यहां हम बता रहे हैं कि आखिर पांचवें महीने में आपको किस तरह का आहार लेना चाहिए।  [कैसा होना चाहिए गर्भवती महिला का खान पान?]

गर्भावस्था के पांचवें महीने में क्या होना चाहिए आहार ?/ 5th Month Pregnancy Diet Chart in Hindi 

प्रेग्नेंसी का पांचवां महीना यानि कि आपने अपने गर्भावस्था के सफर को आधे से ज्यादा पार कर लिया है तो अब अपने इस सफर को सफलतापूर्वक तय करने के लिए आपको आहार पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है।

  • हरी सब्जियां – इस महीने में आपके लिए हरी सब्जियां सबसे बेहतर आहार है। इससे आपको आयरन व अन्य पोषक तत्व मिलेंगे। आयरन के लिए पालक व ब्रोकली को जरूर खाएं। शिशु के लिए जरूरी है कि आप रोजाना हरी सब्जियों को अपने आहार में शामिल करें।
     
  • सलाद  - इस अवस्था में सलाद का सेवन भी काफी फायदा पहुंचाता है। इससे फाइबर मिलता है जो कब्ज जैसी समस्या को दूर करता है। सलाद में आप गाजर, टमाटर, चुकंदर व खीरे को शामिल करें। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि ये सब चीजें अच्छी तरह से धुली हों।
     
  • तरल पदार्थ – गर्भावस्था के पांचवे महीने में आपको खुद को हाइड्रेट रखने की जरूरत होती है। इसके लिए जरूरी है कि आप ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लें। आपको अधिक पानी पीना चाहिए। आपके लिए गन्ने और आम का रस सबसे बेहतर होगा। आप इसे भी पी सकती हैं। दरअसल इनमें प्रचूर मात्रा में कार्बोहाड्रेट व फाइबर होता है। ये दोनों तत्व आपको व बच्चे को स्वस्थ रखेंगे और ताकत देंगे।
     
  • फल खाएं – गर्भावस्था के किसी भी महीने में फल आपके लिए उपयोगी हैं। पांचवे महीने में भी आपको फलों का भरपूर सेवन करना चाहिए। फलों में विटामिन, खनिज और फाइबर होता है, जो आपको और आपके बच्चे के लिए लाभकारी होता है। आप सेब, केला, संतरा, मौसमी, आंवला और कीवी जैसे फलों को रोजाना अपने आहार में शामिल करें।
     
  • प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ – बच्चे के विकास के लिए प्रोटीन अति आवश्यक है। डॉक्टर एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए दूसरी व तीसरी तिमाही में 21 ग्राम अतिरिक्त प्रोटीन लेने की सलाह देते हैं। इसलिए अपने खानपान में प्रोटीन युक्त भोजन को शामिल करें। आप खाने में दालें, पनीर, सोयाबीन, अंडा, चिकन, ड्राई फ्रूट्स आदि को शामिल कर सकती हैं।
     
  • साबुत अनाज – प्रेग्नेंसी के 5वें महीने में साबुत अनाज का सेवन भी काफी फायदेमंद होता है। साबुत अनाज में आप गेहूं, चावल, कॉर्न व ओट्स शामिल हैं। इन्हें आप नियमित रूप से आहार में शामिल करें।

 

प्रेग्नेंसी के पांचवें महीने में क्या नहीं खाना चाहिए? / Foods To Avoid During Your Fifth Month Of Pregnancy In Hindi

ये जानना भी आपके लिए उतना ही जरूरी है कि पांचवें महीने में आपको क्या नहीं खाना चाहिए।

  • कोल्ड ड्रिंक से दूर रहें – प्रेग्नेंसी के पांचवे महीने में कोल्ड ड्रिंक्स पीने से परहेज करें। इनमें कैफीन, शुगर और ऐसे कैलोरी होती हैं, जो आपको व पेट में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंचा सकती हैं।
     
  • जंक फूड से बचें –  अगर आप पांचवे महीने में हैं, तो जंक फूड से दूर रहें। पिज्जा, बर्गर व बाहरी चाट पकौड़ियां आपको व बच्चे को नुकसान पहुंचा सकती हैं।
     
  • इन फलों का न करें सेवन – प्रेग्नेंसी के पांचवे महीने में अनार, कच्चा पपीता, अनानास का सेवन करने से बचें। इससे गर्भपात होने की आशंका रहती है।
     
  • कच्चा अंडा या कच्चा मांस – यूं तो अंडा व मांस इस महीने में काफी फायदेमंद होता है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि अंडा व मांस कच्चा न हो। मांस व अंडा पूरी तरह पका हुआ हो। दरअसल कच्चे अंडे में साल्मोनेला बैक्टीरिया होता है, जिससे भोजन में विषाक्ता हो सकती है।
     
  • कैफीन न लें – गर्भावस्था के पांचवे महीने में कैफीन युक्त चीजें जैसे चाय, कॉफी, चॉकलेट आदि का सेवन न करें। इससे जन्म के बाद बच्चे को अनिंद्रा की समस्या हो सकती है। 
     
  • शराब व तंबाकू – शराब व तंबाकू का सेवन करना किसी के लिए भी नुकसानदायक होता है। लेकिन अगर आप गर्भवती हैं और पांचवे महीने में हैं तो इससे दूर ही रहें। इन दोनों का सेवन आपको व पेट में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है।

 

इन बातों का भी रखें ध्यान

पांचवे महीने में आपको सोने की पोजीशन का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। आपको बाईं करवट सोना चाहिए। तकिए के साथ अपनी पीठ लगाकर बैठें। पैरों के बीच में एक तकिया रखकर सोएं, ताकि पेट पर दवाब न पड़े।

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 2
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Mar 22, 2019

thanku

  • रिपोर्ट

| Mar 09, 2019

thanks

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप खाना और पोषण ब्लॉग

Sadhna Jaiswal
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

आज का पैरेंटून

पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}