• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिक्षण और प्रशिक्षण समारोह और त्यौहार

इन 8 सफल महिलाओं को पुरुष भी मानते हैं अपना आदर्श

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 05, 2019

इन 8 सफल महिलाओं को पुरुष भी मानते हैं अपना आदर्श

8 मार्च को प्रत्येक साल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारतीय संस्कृति में यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता के सिद्धांत को अनुसरण करने की परिपाटी रही है। आज की तारीख में महिलाओं ने साबित कर दिया है कि वे अपने प्रोफेशनल लाइफ और पारिवारिक जिम्मेदारियों के बीच बेहतर तरीके से सामंजस्य स्थापित कर सकती हैं। आज हम आपको इस ब्लॉग में ऐसी कुछ ऐसी महिलाओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने अपने करियर में सफलता अर्जित करने के साथ ही अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों का भी बखूबी पालन किया। 

 

  1. मैरी कॉम- आज की तारीख में मैरी कॉम का नाम भला कौन नहीं जानता है। मणिपुर की रहने वाली मैरी कॉम नामचीन बॉक्सर हैं। विश्व मुक्केबाजी प्रतियोगिता में कुल 6 बार पदक जीतकर उन्होंने भारत का नाम रोशन किया है। एक गरीब किसान परिवार में जन्मी मैरी कॉम अपने पिता के खेत में काम करके उनकी मदद करती थी। उनके मन में बॉक्सिंग को लेकर आकर्षण उस समय हुआ जब उन्होंने खुमान के स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में कुछ लड़कियों को बॉक्सिंग रिंग में लड़कों के साथ प्रैक्टिस करते हुए देखा।  मैरी कॉम के तीन बच्चे हैं। मैरी कॉम के जीवन पर एक फिल्म भी बन चुकी है। पद्म भूषण, अर्जुन पुरस्कार, राजीव गांधी खेल रत्न जैसे पुरस्कारों से सम्मानित मैरी कॉम आज भी बॉक्सिंग की प्रैक्टिस करती हैं और वे बच्चों को भी मुक्केबाजी सीखने के लिए प्रेरित करती हैं। 
     
  2.  दीपा मलिक- ये पहली भारतीय महिला हैं जिन्होंने पैरालिम्पिक गेम्स में सिल्वर मेडल जीत कर देश का नाम ऊंचा किया है। जब कभी आपको महसूस हो कि किन्हीं परिस्थितियों की वजह से आप अपने सपने को पूरा नहीं कर पा रही हैं तो दीपा मलिक के संघर्ष और जज्बे की कहानी को जरूर  पढ़ लें। मुझे पूरा यकीन है कि इसके बाद आप फिर से जोश में आ जाएंगी और सफलता हासिल करने के लिए जरूर प्रेरित हो जाएंगी। दीपा मलिक का कमर से नीचे का अंग लकवाग्रस्त है लेकिन उन्होंने इसे कभी अपनी कमजोरी नहीं बनने दी। वे एक तैराक, एथलीट और बाइकर हैं। दीपा की दो बेटियां देविका और अम्बिका को अपने मां पर गर्व है। साल 1999 के एक वाकये का जिक्र करना चाहूंगा। तब कारगिल का युद्ध चल रहा था और दीपा के पति कर्नल विक्रम सिंह कारगिल की जंग लड़ने के लिए सीमा पर तैनात थे। उन्हीं दिनों में दीपा की रीढ़ की हड्डी में ट्यूमर का पता चला। दीपा अपने बीमारी और उनके पति देश के दुश्मनों से जंग लड़ रहे थे और दोनों को कामयाबी मिली। दीपा अब एक रेस्तरां भी चलाती हैं। एक मां, एक कारोबारी, एक एथलीट और खिलाड़ी के रूप में दीपा ने साबित करके दिखा दिया है कि महिला के अंदर की इच्छाशक्ति नामुमकिन को भी मुमकिन करके दिखा सकती है।
     
  3.  किरण मजूमदार शॉ- एक सफल भारतीय उद्यमी के रूप में पहचान बनाने वाली किरण मजूमदार शॉ बॉयोटेक्नोलॉजी कंपनी बायोकॉन लिमिटेड की संस्थापक  और अध्यक्ष हैं। साल 2014 में, उन्हें साइंस की प्रगति में उत्कृष्ट योगदान के लिए ओथम गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया। इतना ही नहीं वह फाइनेंशियल टाइम्स की शीर्ष 50 व्यवसायी महिलाओं की सूची में हैं। 2015 तक, उन्हें फोर्ब्स द्वारा दुनिया की 85 वीं सबसे शक्तिशाली महिला के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। शुरुआती दौर में उन्हें काफी संघर्ष का सामना करना पड़ा। कम उम्र, महिला होने एवं बिल्कुल नए व्यापार मॉडल के कारण उनको लोन लेने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़े। लेकिन उन्होंने हिम्मत के साथ काम किया और तमाम चुनौतियों का डटकर सामना किया।
     
  4. स्वाति महादिक- शहीद कर्नल संतोष महादिक की पत्नी स्वाति महादिक आर्मि ऑर्डिनेंस कोर में सेना अधिकारी हैं। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए कर्नल महादिक शहीद हो गए थे। पति की मौत के बाद स्वाति ने सेना में भर्ती होने की इच्छा व्यक्त की और उसके बाद उन्होंने एसएसबी की परीक्षा दी। इस परीक्षा में सफल होने के बाद 11 महीनों की कठिन प्रशिक्षण को पूरा करने के बाद सेना में अधिकारी के तौर पर उनको शामिल किया गया। स्वाति महादिक दो बच्चों की मां हैं।
     
  5. ऐश्वर्या रॉय- साल 1994 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के बाद ऐश्वर्या रॉय ने खूब सुर्खियां बटोरी थी। इसके बाद उन्होंने फिल्मों में करियर आजमाया। शुरुआती दौर में तमिल फिल्मों में काम करने के बाद उन्होंने बॉलीवुड में दस्तक दी। और प्यार हो गया, हम दिल दे चुके हैं सनम, देवदास जैसी सफल फिल्मों में काम करने के बाद ऐशवर्या की गिनती सफल अभिनेत्री के तौर पर होने लगी। साल 2004 में टाइम मैग्जीन ने उन्हें दुनिया की सबसे प्रभावशाली महिलाओं की लिस्ट में शुमार किया। साल 2007 में महानायक अमिताभ बच्चन के बेटे और एक्टर अभिषेक बच्चन के साथ इन्होंने शादी की। इसके बाद ऐशवर्या ने अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों को भी बखूबी निभाया। ऐशवर्या-अभिषेक को एक बेटी है जिसका नाम आराध्या है।
     
  6. माधुरी दीक्षित- बॉलीवुड की नामचीन अभिनेत्री माधुरी दीक्षित के एक्टिंग स्किल की आज के दौर में भी प्रशंसा की जाती है। कई सारी सफल फिल्मों में काम कर चुकी माधुरी दीक्षित ने अपने जीवन साथी के रूप में डॉ श्रीराम नेने का चयन किया। माधुरी ने अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों का भी बखूबी पालन किया। माधुरी के दो बेटे हैं। परिवार को समय देने के लिए माधुरी ने कुछ सालों तक फिल्मों से दूरी बना कर रख ली लेकिन इसके बाद वे फिर से सक्रिय हो चुकी हैं।
     
  7.   मदर टेरेसा- कोलकाता की संत टेरेसा के रूप में लोग मदर टेरेसा को जानते हैं। अल्बेनियाई परिवार में जन्मी मदर टेरेसा ने अपनी कर्मभूमि के रूप में भारत के कोलकाता को चुना। साल 1950 में इन्होंने कोलकाता में मिशनरीज ऑफ चैरिटी की स्थापना की। गरीब, लाचार, असहाय और बीमार लोगों की निष्ठापूर्वक सेवा करने के चलते ही इनको मदर टेरेसा के रूप में जाना जाता है। इन्होंने एचआईवी-एड्स, कुष्ठ, तपेदिक जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों की सेवा के लिए कई आश्रम बनवाए। साल 1979 में इनको नोबेल शांति पुरस्कार और इसके बाद 1980 में इनको भारत रत्न सम्मान से नवाजा गया। 
     
  8. सुधा मूर्ति- प्रसिद्ध उद्योगपति नारायणमूर्ति की पत्नी सुधा मूर्ति का नाम एक समाजसेविका के रूप में सम्मान से लिया जाता है। आपको एक रोचक बात के बारे में जानकारी देना चाहूंगा। सुधा मूर्ति की बचत के 10 हजार रुपये से ही इनफोसिस कंपनी की नींव रखी गई और इसके बारे में सुधा मूर्ति के पति नारायणमूर्ति कई इंटरव्यू में बता चुके हैं। महिला अधिकारों की समानते के लिए भी सुधा मूर्ति ने बहुत काम किया है। इसके अलावा वे बेहतर लेखिका भी हैं और उन्होंने 8 किताबें लिखी है।

    इसके अलावा भी हमारे आसपास की कई महिलाएं हैं जो कामकाजी होने के साथ-साथ अपने परिवार की देखरेख में संतुलन बना कर चलती हैं। ये लिस्ट और बड़ी हो सकती है और इसकी शुरुआत आप करें। हमें लिखकर भेजिए ऐसी महिलाओं के बारे में जो आपकी नजर में आदर्श हैं और जिन्होंने घर और बाहर की जिम्मेदारियों को अच्छे से निभाया है। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 10
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jun 21, 2019

isme aishwarya or Madhuri ka nam to jaruri nhi tha...

  • रिपोर्ट

| Jun 06, 2019

nice post... girls should follow these inspiring women's

  • रिपोर्ट

| Mar 14, 2019

Prasoon Pankaj thanks

  • रिपोर्ट

| Mar 08, 2019

salute to all these inspirational ladies... hates off

  • रिपोर्ट

| Mar 08, 2019

happy women's day everyone!❤ to celebrate women's day, here's a true inspiration 💪 #nationalwomensday

  • रिपोर्ट

| Mar 08, 2019

happy women's day !!

  • रिपोर्ट

| Mar 08, 2019

प्रेरणादायक ब्लौग!

  • रिपोर्ट

| Mar 07, 2019

very nice. it helps to all parents for teach to their child

  • रिपोर्ट

| Mar 07, 2019

really informative good

  • रिपोर्ट

| Mar 06, 2019

मेरे हिसाब से तो कामकाजी महिलाओं से पुरुषों को जरूर प्रेरणा लेनी चाहिए क्योंकि वे अपने ऑफिस और घर के काम को भी अच्छे से मैनेज कर लेती हैं। ऑफिस की तमाम जिम्मेदारियों को अच्छे से निभाने के बाद वे अपने फैमिली और बच्चे का भी बखूबी ध्यान रख लेती हैं। ये स्किल हम पुरुषों को भी सीखना चाहिए।

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}