पेरेंटिंग खाना और पोषण

मानसून में आपके बच्चे के लिए ये आहार सर्वोत्तम रहेगा

Sadhna Jaiswal
3 से 7 वर्ष

Sadhna Jaiswal के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 29, 2018

मानसून में आपके बच्चे के लिए ये आहार सर्वोत्तम रहेगा

बारिश का मौसम है। झमाझम बारिश को देख कर सिर्फ बड़े लोग ही नहीं बल्कि बच्चे भी खुश हो जाते हैं।  मानसून के आने से जहां एक ओर तो उमस भरी गर्मी से राहत मिलती है वही दूसरी तरफ मानसून के इस मौसम में कई तरह की गंभीर बीमारियों का भी खतरा बना होता है। हर तरफ पानी भरा रहता है और कीचड़ की गंदगी से संक्रमण फैलने का डर भी बना रहता है और फिर संक्रमित खान-पान बड़े से लेकर छोटे बच्चो को अपनी चपेट में ले लेता है। मानसून में आपको अपने बच्चे का खास ख्याल रखने की जरूरत है क्योंकि इस मौसम में ज्यादा बीमार होने का खतरा बना रहता है। इस मौसम में आप अपने बच्चे को ऐसा आहार दें जिससे आपके बच्चे की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढे और इस मौसम में बच्चा किसी भी बीमारी की चपेट में आने से बचे। तो आइये जानते है की इस मौसम में कौन-कौन से आहार आपके बच्चे की लिए सर्वोत्तम हो सकते है। 

   मानसून में आपके बच्चे के लिए डाइट चार्ट/ Diet chart for your child in monsoon in Hindi

बड़े-बुजुर्ग अक्सर कहा करते थे कि मौसम के मुताबिक हमारा आहार होना चाहिए। गर्मी और ठंढ़ के मौसम में तो लोग आहार का पूरा ख्याल रखते हैं लेकिन बारिश के मौसम में लापरवाही बरत देते हैं और कई बार इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ जाता है। तो आइये जानते हैं कि आपको अपने बच्चे के लिए मानसून में किस तरह के आहार को खिलाना चाहिए। 

  • वेज और नॉन-वेज सूप: सूप पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसमें सभी हरी सब्जियों के गुण आप को आसानी से मिल जाते है और ये आसानी से पचने वाला होता है। डॉक्टर भी अक्सर वेज और नॉन-वेज सूप पीने की सलाह देते है। अगर आप अपने बच्चो को नॉन-वेज खिलाते है तो, आप ताज़ी सब्जियों के साथ मांस को भी सूप में डालें। ये सूप मानसून में आपके बच्चो के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। इसे बनाने के लिए आप एक बर्तन में सब्जियां या मांस उबाल ले फिर इसमें काली मिर्च,अदरक, लहसन और प्याज डालकर अच्छी तरह से मिला ले ये सूप आपके बच्चो को जरुर पसंद आएगा।     
     
  • मौसमी फल:  मानसून के इस मौसम में बाहरी संक्रमण से बचने के लिए फलों का सेवन करना सबसे अच्छा उपाय है। इसके लिए आप अपने बच्चो के आहार में मौसमी फलों को जरुर शामिल करें। फलों के सेवन से आपके बच्चे में रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। अपने बच्चों के आहार में मौसमी फल जैसे प्लम, जामुन और चेरी शामिल करें। इन मानसूनी फलों में एंटीबायोटिक गुणों की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो प्रतिरोधक क्षमता में सुधार लाती है जिससे मानसून की वजह से होने वाले बुखार में राहत मिलती है।     
     
  • ड्राई फ्रूट्स: मानसून में सूखे मेवे और नट्स का सेवन भी बच्चो के शरीर के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे भी बच्चे की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। इसके साथ ही इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक गुण जैसे फैटी एसिड, प्रोटीन, सेलेनियम,विटामिन बी काम्प्लेक्स होते है जो मानसून के समय होने वाले संक्रमण के साथ-साथ बैक्टीरिया से लड़ने में भी सहायक होते है। इसके साथ ही ये पौष्टिक तत्व बच्चों की ग्रोथ में भी सहायक होते हैं।   
     
  • हल्दी वाला दूध: आम तौर पर सर्दी होने या शा‍रीरिक पीड़ा होने पर घरेलू इलाज के रूप में बच्चो को हल्दी वाला दूध दिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि हल्दी वाले दूध के एक नहीं अनेक फायदे हैं? हल्दी अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए जानी जाती है, और दूध, कैल्शि‍यम का स्त्रोत होने के साथ ही शरीर और दिमाग के लिए अमृत के समान हैं। लेकिन जब दोनों के गुणों को मिला दिया जाए, तो यह मेल आपके बच्चे के लिए और भी बेहतर साबित होता है, यह अपने एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता।   
      
  • दही: मानसून आने पर अक्सर बच्चो को पेट से सम्बंधित परेशानियां हो जाती है इसलिए अपने बच्चो को रोज दही का सेवन करवाएं। दही आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। दही में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम,विटामिन, पाए जाते है। दही में दूध के मुकाबले ज्यादा कैल्शियम पाया जाता है। रोजाना बच्चो को दही खिलाने से डाइजेसन अच्छी तरह से होता है और खुलकर भूख भी लगती है। बच्चो को पेट सम्बंधित परेशानी ना हो इसके लिए  रोज दही खिलाये।   

मानसून बच्चो के लिए ख़ुशियों के साथ-साथ समस्याएं भी लेकर आता है। इस मौसम में बच्चो के खान-पान पर थोडा ज्यादा ध्यान देना होता है। उपर दी गयी इन चीजो को अपने बच्चे के आहार में जरुर शामिल करें। स्वास्थ्य  के प्रति कुछ सावधानी रखने पर संबंधित रोगों से बचाव किया जा सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}