• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिशु की देख - रेख

बेबी स्किन केयर प्रोडक्ट को कैसे चुनें? रखें इन बातों का ख्याल

Parentune Support
0 से 1 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Nov 04, 2019

बेबी स्किन केयर प्रोडक्ट को कैसे चुनें रखें इन बातों का ख्याल

नये पैदायशी शिशु की त्वचा फूल जैसी कोमल, चिकनी और बेदाग होती है और इसीलिए उसकी त्वचा को खास देखभाल की जरूरत होती है। यहाँ पर यह समझना भी जरूरी है कि शिशु की त्वचा की देखभाल का मतलब सिर्फ उसके चेहरे की त्वचा की देखभाल करने तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह पूरे शरीर की त्वचा की देखभाल करने से जुड़ा है।

आजकल बाजार में तरह-तरह के बेबी केयर प्रोडक्ट मौजूद हैं जिनमें पाए जाने वाले रसायन, खुश्बू वाली चीजें, कपडों को रंगने में इस्तेमाल होने वाले पदार्थ, डिटर्जेंट या कोई अन्य शिशु उत्पाद, नवजात् की सेहत के साथ-साथ उसकी त्वचा में दाग, चकत्ते, दरदरापन, जलन और खुश्की पैदा कर सकते है इसलिए यह जानना बहुत जरूरी है कि बेबी स्किन केयर प्रोडक्ट का चुनाव करते समय किन बातों का ध्यान रखा जाए।

आमतौर पर शिशु के शरीर की बाहरी त्वचा की देखभाल के लिए जिन चीजों को सबसे ज्यादा जरूरत होती है वे हैं - बेबी क्रीम, शैम्पू, बेबी सोप, हेअर आॅइल/मसाज आॅइल, पावडर और शिशु को पहनाये जाने वाले कपड़े।

तो आइए जाने उन जरूरी बातों जो इन प्रोडक्ट का चुनाव करते समय आपको ध्यान रखनी हैं

बेबीक्रीम

नवजात् शिशु मौसमी बदलावों के प्रति बड़े संवेदनशील होते हैं और इनका असर शिशु की कोमल त्वचा पर भी पड़ता है जिससे उसकी त्वचा में सूखापन आ सकता है या त्वचा काली हो सकती है।

इन बातों को ध्यान में रखते हुए शिशु के लिए किसी अच्छे अच्छे ब्रांड की ऐसी क्रीम/मॉइस्चराइजर्स का चुनाव करें जिसका इस्तेमाल सभी मौसमों में किया जा सके जिससे शिशु की त्वचा गर्मी में हाइड्रेटेड और सर्दी में मॉइस्चराइज्ड रह सके।

बेबी शैम्पू

आजकल बाजार में मिलने वाले ज्यादातर बेबी शैम्पू में जहरीले पदार्थों और रसायन मिले होते हैं जिसकी वजह से शिशु की आंखों में जलन हो सकती है या वह ‘आॅरगन सिस्टमिक टाॅक्सिटी’ (ऐसा जहर जो किसी खास अंग को नुकसान पहुंचाए) का शिकार हो सकता है। इसलिए ध्यान रहे कि हल्के और कोमल बेबी शैम्पू का चुनाव किया जाए जिससे उनकी आंखे सुरक्षित रहें, सिर की त्वचा खुश्की से बचे और शिशु के बालों को पोषण मिले।

बेबी सोप

आजकल यह बात बड़ी आम है कि फलां-फलां साबुन को ‘कार्बनिक’ या ‘प्राकृतिक’ रूप से निर्मित किया गया है पर यहाँ यह समझना जरूरी है कि सभी साबुन एक जैसे नहीं होते। हमारी त्वचा की जरूरत के हिसाब से हर साबुन में अलग-अलग पदार्थ मिले होते हैं और उनका असर भी त्वचा के मुताबिक अलग होता है इसलिए नवजात् शिशु की मुलायम त्वचा के लिए अलग साबुन बनाए गए हैं जिनमें रसायनिक पदार्थों की मात्रा कम से कम होती है जो शिशु की त्वचा को चिकना और उसमें ताजापन बनाए रखते हैं।

हालांकि शिशु को सादे पानी से नहलाया जाना काफी है पर शिशु को साबुन से ही नहलाना हो तो किसी गैर-विषाक्त, कोमल और हानिकारक रसायनों से मुक्त साबुन का चुनाव करें।

हेअर आॅइल/मसाज आॅइल

कुछ शिशु जन्म के समय गंजे होते हैं तो कुछ के पूरे सिर में बाल होते हैं। कुछ शिशु के बाल रूई जैसे नरम और कुछ के मजबूत और कड़क बाल होते हैं... पर चाहे जो हो शिशु के बालों की कोमलता और मजबूती को बनाए रखने के लिए खासे रखरखाव की जरूरत होती है और यहएक अच्छे हेअर आॅइल के जरिए ही हासिल की जा सकती है।

इसी तरह एक अच्छे मसाज् आॅइल से हल्के हाथों से की गई मालिश भी शिशु की त्वचा के लिए कमाल का काम करती है। यह शिशु की त्वचा के खिंचाव को कम करती है, त्वचा को पोषण देती है और इसके साथ-साथ उसके पेट को भी हल्का रखती है।

तो शिशु के लिए हेअर आॅइल का चुनाव करते समय याद रहे कि इससे शिशु के बालों को पर्याप्त पोषण मिले, बालों की अच्छी बढ़त और मजबूती तय हो सके। वहीं मसाज आॅइल ऐसा हो जो शिशु के शरीर और त्वचा के लिए सुरक्षित हो।

बेबी पावडर

शिशु की त्वचा की बेहतर देखभाल का सबसे जरूरी हिस्सा है एक अच्छे बेबी पावडर का चुनाव।

तो एक हल्का और अच्छा टेल्कम पावडर खरीदें। इसकी भीनी-भीनी खुशबू शिशु के लिए आपके प्यार और लगाव को और बढ़ा देगी। यह पावडर आपके शिशु को ताजा महसूस करने में मदद करने के साथ-साथ उन्हें सूखा बनाये रखते हैं जिससे उनकी मासूम त्वचा गीलेपन से होने वाले रैशेज् और चकत्तों से बची रहती है।

शिशु के कपड़े (बेबी क्लोथ्स)

आजकल ज्यादातर माता-पिता का मानना है कि शिशु को कार्बनिक कपड़े पहनाना उनकी सेहत के साथ-साथ पर्यावरण को भी सुरक्षित रखता है।

कपास (काॅटन), पटसन या ऊन जैसी चीजों से बने कपड़े कुदरती रूप से शरीर की नमी को आसानी से सोखने या उन्हे बाहर निकालने का काम करते हैं और इससे पर्यावरण को नुकसान भी नहीं होता।

इसके अलावा काॅटन के कपड़ों के पहनाये जाने पर शिशु की त्वचा पर चकत्ते या एक्जिमा जैसी परेशानी नहीं होती, ये कपड़े टिकाऊ और इस्तेमाल में आसान है और सबसे जरूरी कि आप आसानी से इन्हें धो सकते हैं और जल्दी सुखा सकते हैं।

हम में से सभी माता पिता अपने शिशु की त्वचा को नर्म और सुदंर बनाए रखना चाहते हैं। एक समय था जब माता-पिता और दादा-दादी शिशु की त्वचा की देखभाल साधारण तेल मालिश से किया करते थे लेकिन अब बदलाव का दौर है और लोग बाजार में तरह-तरह के बेबी स्किन केअर प्रोडक्ट ले सकते हैं, जो न केवल शिशु की त्वचा को मुलायम और आकर्षक बनाए रखते हैं पर यह भी जरूरी है कि कोई भी बेबी प्रोडक्ट ऊपर दी जानकारी को ध्यान में रखते हुए खरीदा और इस्तेमाल किया जाए।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 5
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Nov 16, 2019

Hum Apne Bacce ko Tedibear sop use krte hai. Kya ye sop Achi hai..

  • रिपोर्ट

| Nov 10, 2019

Mere baby ke bump pe redness ho raha hai me use diapers bhi use nahi karti fir ye redness kyu ho raha hai koi cream hai kya plz suggest

  • रिपोर्ट

| Nov 02, 2019

मेरी बेटी 6महीने की हैं और अपनी बेटी के लिए मदरकेयार का प्रोडक्ट इसतेमाल कर रही हूँ क्या ये सही है

  • रिपोर्ट

| Oct 31, 2019

Mera beta 1 mahine ka h or usko red red funsiya ho rhi h kya karna chahiye

  • रिपोर्ट

| Jul 02, 2019

इसीलिए मैं अपनी बेटी के लिए हमेशा जॉनसन पर ही भरोसा करती हूँ। क्योंकि new J&J इसके लोशन डर्मेटोलॉजीकली सेफ हैं और क्लीनिकली प्रोवन माइल्ड हैं ,ये इतने सुरक्षित हैं कि हम इन्हें न्यूबॉर्न बेबी के लिए भी बेहिचक यूज़ कर सकते हैं।

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}