Health and Wellness

बच्चे को ऐसे बचाएं हीट रैशेज से

Parentune Support
All age groups

Created by Parentune Support
Updated on Apr 18, 2018

बच्चे को ऐसे बचाएं हीट रैशेज से

यूं तो गर्मी में सबको बचकर रहना चाहिए, लेकिन ये मौसम बच्चों के लिए ज्यादा सावधानी बरतने का होता है। अगर सावधानी न बरती जाए तो गर्मी में बच्चों को कई तरह की दिक्कतें होनी लगती हैं। इन्हीं दिक्कतों में एक है हीट रैशेज। दरअसल गर्मी में तेज धूप और अधिक पसीना आने के कारण शरीर पर रैशेज आ जाते हैं। ये रैशेज लाल व उभरे हुए होते हैं। इससे बच्चा कम्फर्टेबल फील नहीं करता। कई बच्चे इसकी वजह से रोते भी अधिक हैं। यहां हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे उपाय जिनकी मदद से आप बच्चे को हीट रैशेज से बचा सकते हैं।
 

इस तरह बचाएं लाडले को रैशेज से

  1. कपड़ों का रखें ध्यान - गर्मी में बच्चे को सूती के ढीले कपड़े पहनाएं। इससे उसे ठंडक और आराम महसूस होगा। इसके अलावा सूती के कपड़े पसीने को सोखने की क्षमता भी रखते हैं। गर्मी में सिंथेटिक कपड़ा बच्चे को न पहनाएं। सिंथेटिक कपड़ों से घमौरियां व रैशेज आ सकते हैं।
     
  2. बेड का ख्याल रखना भी जरूरी – इस मौसम में बच्चे के बिस्तर का भी खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। बच्चे को ज्यादा फोम वादा गद्दा देने से उसे गर्मी ज्यादा लगेगी और ज्यादा गर्मी लगने पर रैशेज निकल सकते हैं।
     
  3. डेली नहलाएं – गर्मी में बच्चे को फिट व रैशेज फ्री रखना चाहते हैं, तो इसके लिए उसे रोज नहलाएं। उसकी साफ-सफाई पर खास ध्यान दें। गंदगी व पसीने की वजह से हीट रैशेज ज्यादा निकलते हैं।
     
  4. सुगंधित साबुन व पाउडर से बचें – अक्सर देखने में आता है कि कुछ माएं बच्चे को फ्रेश रखने के लिए सुगंधित पाउडर व साबुन का इस्तेमाल अधिक करती हैं। पर यह तरीका ठीक नहीं है। दरअसल इस तरह के कई प्रोडक्ट केमिकल युक्त होते हैं, जिससे बच्चे की त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। इसके अलावा इस बात का भी ध्यान रखें कि नहाने के फौरन बाद बच्चे को पाउडर न लगाएं।
     
  5. न होने दें पानी की कमी – गर्मी में बच्चे को समय-समय पर पानी देते रहें, उसे पानी की कमी न होने दें। हालांकि इस दौरान इस बात का ध्यान रखें कि 6 महीने से कम उम्र के बच्चे को पानी न पिलाएं। 6 महीने तक के बच्चों को मां का दूध ही पानी का काम करता है।
     

रैशेज को इन घरेलू नुस्खों से करें दूर
 

  1. तुलसी पत्ता – तुलसी के पत्ते में लहसुन, नमक, काली मिर्च व ओलिव ऑयल मिलाकर बच्चे के रैशेज पर लगाएं। इससे काफी आराम मिलेगा।
     
  2. दही और शहद – अगर बच्चे को रैशेज है, तो उस पर दही और शहद का लेप बनाकर लगाएं। इसके बाद फौरन नहला दें। इससे राहत मिलेगी।
     
  3. नारियल तेल – रैशेज पर नारियल तेल लगाने से भी बच्चे को आराम मिलेगा। इससे जलन व खुजली भी खत्म हो जाएगी।
     
  4. मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल – मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल का लेप बनाकर रैशेज पर लगाएं और 10 मिनट बाद धो दें, इससे खुजली व जलन की समस्या खत्म होगी।

  • Comment
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ START A BLOG
Top Health and Wellness Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error