• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
बाल मनोविज्ञान और व्यवहार

बच्चे क्यों करते हैं अधिक जिद मेहमानों के आने पर?

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 06, 2020

बच्चे क्यों करते हैं अधिक जिद मेहमानों के आने पर
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

अधिकतर पैरेंट्स की ये शिकायत होती है कि उनका बच्चा काफी शरारती और जिदी है। बच्चे को कंट्रोल करने के लिए वह तमाम तरह की कोशिशें भी करते हैं, पर हर बच्चे जरूरी नहीं कि कंट्रोल में आ जाएं। कई बार बच्चे दूसरों खासकर घर में आने वाले मेहमानों के सामने अपनी जिद दिखाते हैं। यहां हम बात करेंगे आखिर क्यों बच्चे ऐसा करते हैं।
 

ये हैं वजहें

  • दरअसल कई पैरेंट्स शुरु में बच्चे की हर जिद पूरी करते हैं। यह ठीक नहीं है। इससे बच्चा अनुशासनहीन बन जाता है। मनोवैज्ञानिक ने कई स्टडी में ये पाया है कि बदलते वक्त के साथ बच्चों के आईक्यू में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। अजकल के बच्चे पहले समय की तुलना में ज्यादा बुद्धिमान होते हैं। इसलिए वे बड़ों से अपनी बात मनवाने के लिए जिद करते हैं। उन्हें पता होता है कि अगर मैं दूसरों के सामने रोऊंगा, चिल्लाऊंगा या जिद करके दिखाऊंगा तो पैरेंट्स को मेहमान के सामने शर्मिंदगी महसूस होगी और वे इससे बचने के लिए तुरंत उनकी बात मान लेंगे। यही वजह है कि बच्चे अक्सर मेहमानों के सामने जिद करने लगते हैं।
     
  • इसके अलावा बच्चों के दिमाग में ये भी चल रहा होता है कि अगर वे मेहमान के सामने किसी बात की जिद करेंगे तो हो सकता है मेहमान ही उनकी वह जिद पूरी कर दे। वह पैसा दे दे।
     

इन बातों का रखें ध्यान
 

  • शुरू से ही बच्चे की हर जिद पूरी न करें। अगर आप ऐसा करते रहेंगे, तो वह हर बात पर जिद करेगा। अगर वह जिद करता भी है तो उसके आगे झुके नहीं। क्योंकि ऐसा करने से वह समझ जाएगा कि अपनी मांग कैसे पूरी करानी है। आगे से वह हर बात के लिए जिद करेगा।
     
  • बच्चों को जब मूड अच्छा हो तो उन्हें उदाहरण देकर समझाएं कि हर चीज के लिए जिद करना ठीक नहीं है। उसे बताएं कि आपके पास सीमित साधन हैं। 
     
  • कभी कभार बच्चे को अपनी समस्याएं भी बताएं। इससे उसके अंदर जिम्मेदारी का अहसास होगा। वह समझ जाएगा कि आपकी स्थिति कैसी है। इसके बाद हो सकता है वह जिद न करे।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Apr 19, 2018

waaoo you are right

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Deepak Pratihast
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट
आज का पैरेंटून
पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}