शिक्षण और प्रशिक्षण

बच्चों के सवाल होते है अनोखे , इन्हे न करें अनदेखा!

Vidyashree Rai
3 से 7 वर्ष

Vidyashree Rai के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 25, 2018

बच्चों के सवाल होते है अनोखे इन्हे न करें अनदेखा

छोटी उम्र व पूरी तरह से समझ विकसित न होने के कारण बच्चों में हर चीज के बारे में जानने को लेकर उत्सुकता बनी रहती है। ये उत्सुकता 3 से 8 साल तक बच्चों में ज्यादा रहती है। ऐसे में वे हर छोटी से छोटी चीज को लेकर अपने माता-पिता से सवाल पूछते हैं। ये सवाल कई बार पैरेंट्स को परेशान भी कर देते हैं और वे या तो सवाल को अनदेखा कर देते हैं या फिर गलत जबाव व बच्चे पर गुस्सा होते हैं। पर ये स्थिति गलत है। अगर आप भी पैरेंट्स हैं और बच्चे के सवाल को अनदेखा कर रहे हैं, गलत जबाव दे रहे हैं या गुस्सा कर रहे हैं तो इस आदत को बदल डालिए। दरअसल इसका बच्चे पर निगेटिव असर पड़ता है।

 

अनदेखी से पड़ता है गलत असर

दरअसल जब आप बच्चे के सवालों की अनदेखी करेंगे और उसे उसका जवाब नहीं देंगे, तो सवाल उसके दिमाग में घूमते रहेंगे। कम उम्र में दिमाग पर इतना लोड बच्चे के लिए नुकसानदायक होगा। इसके अलावा वह उन सवालों के जवाब के लिए परेशान होगा। हो सकता है कि वह किसी बाहरी से इसका सवाल पूछे और बाहरी शख्स उसे गलत जवाब दे। ऐसी स्थिति में उसके मन में गलत जानकारी ही भर जाएगी। वह उसे ही सही मानेगा। इससे भी बच्चा गलत रास्ते पर चला जाएगा। यही नहीं अगर आप बच्चे के सवालों पर झल्ला को उसे डांटते हैं या भला-बुरा कहते हैं तो इसका भी निगेटिव असर पड़ेगा। उसके दिमाग में नकारात्मकता घर कर जाएगी। हो सकता है वह परेशान भी हो जाए।

 

जवाब देने के फायदे

जब आप बच्चे के सवालों का जवाब देते हैं तो उसकी जिज्ञासा शांत होती है। सही जवाब मिलने पर आगे के लिए उसकी सोच विकसित होगी। उसका मानसिक और बौद्धिक विकास होगा।  इसके अलावा अगर आप सवाल का जवाब देते हैं तो वह खुश भी रहेगा। अक्सर बच्चा कई ऐसे सवाल भी पूछ देता है, जिनके जवाब हमें मालूम नहीं होते। ऐसी सवालों के जवाब जब आप किताब व इंटरनेट से ढूंढकर देते हैं तो बच्चे के साथ-साथ आपकी जानकारी भी बढ़ती है।

 

इन बातों का रखें ध्यान

  • बच्चे के किसी भी प्रश्न का जवाब उसकी समझ के हिसाब से उन्हीं के लहजे में दें।
  • जिन सवालों के जवाब नहीं पता, उनके गलत जवाब न दें। बेहतर होगा कि आप बच्चे को कहें कि इसका जवाब मुझे नहीं पता। चलो हम दोनों मिलकर इसका जवाब ढूंढते हैं।
  • इसके अलावा सवालों से परेशान होकर बच्चे पर गुस्सा न करें
  • बच्चे के सवाल पूछने पर कभी भी ये न कहें कि, तुम बहुत सवाल पूछते हो, कहां से लाते हो इतने सवाल, ये बेतुका सवाल है। अगर आप इस तरह की बातें बच्चे को कहेंगे तो उसका मनोबल टूटेगा।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप शिक्षण और प्रशिक्षण ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}