Parenting

कुछ इन तरीको से सीखाएं अपने बच्चे को पैसे की अहमियत !

Parentune Support
All age groups

Created by Parentune Support
Updated on Dec 22, 2017

कुछ इन तरीको से सीखाएं अपने बच्चे को पैसे की अहमियत

किसी शख्स ने रुपयों के महत्व को लेकर लिखा है कि...... ‘‘पैसा ख़ुदा तो नही लेकिन ख़ुदा की कसम ख़ुदा से कम भी नहीं।’’ कि. आज के समय में ये पंक्तियां बिल्कुल फिट बैठती हैं। आज के समय में रुपयों का काफी महत्व है। हर कोई चाहता है कि वह पैसे वाला बने। पैरेंट्स भी चाहते हैं कि उनका बच्चा बड़ा होकर खूब पैसे वाला आदमी बने, लेकिन सिर्फ पैसा आ जाना ही काफी नहीं है। पैसे को संभालकर रखना व उसका सदुपयोग करना बहुत जरूरी है। अचार्य चाणक्य ने कहा है कि, अगर कुबेर भी अपने आय से ज्यादा खर्च करेगा तो कंगाल हो जाएगा। ऐसे में धन की बचत करना बहुत जरूरी है। अगर आप पैरेंट्स हैं और चाहते हैं कि आपका बच्चा भविष्य में आर्थिक रूप से मजबूत बना रहे, तो बेहतर होगा कि आप बचपन से ही उसे पैसों का महत्व बताते हुए बचत की आदत लगाएं। यहां हम बता रहे हैं आखिर कैसे आप बच्चे को पैसे का महत्व बता सकते हैं और उन्हें बचत करना सिखा सकते हैं।

 

  1. प्यार ठीक, लेकिन फिजूलखर्ची गलत – अगर आप बच्चे से बहुत प्यार करते हैं, तो इसका मतलब ये नहीं कि उसकी हर जिद पूरी करें। बिना बात के उसके लिए कई सारी चीजें लाना फिजूलखर्ची है, इससे बचें। अगर आप खुद पैसे फिजूल में खर्च करेंगे, तो बच्चा कैसे पैसे की अहमियत समझेगा। इसके अलावा बच्चे को ये भी समझाएं कि फालतू खर्च क्या है। इससे वह शुरू से ही चीजों को समझेगा और बड़ा होकर उन चीजों में पैसे खर्च नहीं करेगा।
     
  2. हिसाब से दें पॉकेट मनी – बच्चे को हमेशा हिसाब से ही पॉकेट मनी दें। अगर आप उन्हें ज्यादा पॉकेट मनी देते हैं, तो इससे उनमें फिजूलखर्च की आदत पड़ सकती है।  जब आप हिसाब से पॉकेट मनी देंगे, तो बच्चा बचत करना सीखेगा।
     
  3. पिगी बैंक बनाएं – आप चाहते हैं कि आपका बच्चा पैसा बचत करना सीखे, तो उसे एक पिगी बैंक लाकर दें। बच्चे को बताएं कि यह उसका बैंक है। इसमें वह पॉकेट मनी व अन्य लोगों से मिला पैसा जमा कर सकता है। उसे ये भी बताएं कि जरूरत पड़ने पर वह पैसा निकाल भी सकता है।
     
  4. बैंक में खाता खुलवाएं – बैंक में बच्चों का सेविंग अकाउंट खुलवाएं। इसके बाद बच्चे से हर महीने उसमें कुछ पैसे जमा करवाने की आदत डलवाएं। उन्हें बताएं कि वह जो पैसे जमा कर रहे हैं, आगे चलकर ये उनके काम आएगा। वह भविष्य में कोई भी जरूरी चीज बिना किसी से पैसे मांगे खुद खरीद सकते हैं।
     
  5. बच्चे के जमा पैसों से गिफ्ट खरीदकर दें -  किसी खास मौके पर बच्चे के बचाए पैसों से कुछ अच्छा गिफ्ट खरीदकर दें और उसे बताएं कि ये गिफ्ट उसी के पैसों से खरीदा गया है। इससे वह बचत का महत्व समझेगा और अगली बार से और अधिक बचत करेगा।
     
  6. काम करवाएं – बच्चे को पैसे देने की जगह काम करने के लिए कहें, ताकि उन्हें बचपन से ही पता चले कि पैसे किस तरह मेहनत से कमाए जाते हैं। इससे वह उन पैसों की कद्र करेगा।
     
  7. अपनी स्थिति साफ कर दें – बच्चे आसपास के दूसरे पैसे वालों को देखकर वैसी ही लाइफस्टाइल की इच्छा करने लगते हैं। वैसे चीज न मिलने पर परेशान भी हो जाते हैं, ऐसे में बेहतर होगा कि आप पहले ही उन्हें अपनी आर्थिक स्थिति बता दें कि आपकी कितनी क्षमता है। इससे वह समय रहते एडजस्ट कर लेगा।
     
  8. अपना संघर्ष भी बताएं -  आप बच्चों को पैसों का महत्व बताने के लिए अपने पुराने संघर्षों को भी बता सकते हैं। उन्हें बताएं कि आज जो आपके पास है, वह कभी उनके पास नहीं था। कैसे आपका बचपन अभावों में बीता है। कितनी मेहनत करके आपने ये सब चीजें खरीदीं हैं।
     
  9. प्राथमिकता तय करना सिखाएं – इसके अलावा बच्चे को छोटी सी उम्र से ही ये बताएं कि हम जो चाहते हैं, वो सब कुछ खरीदा नहीं जा सकता है। कभी-कभी हमें अपनी जरूरतों और जरूरी चीजों में चुनाव करना पड़ता है, प्राथमिकताएं तय करनी पड़ती हैं। 

  • 1
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Dec 23, 2017

Mera beta 2yrs ka he.. he oves to drink coffeee.... kya ye uski sehat ke liye thik he?

  • Report
+ START A BLOG
Top Parenting Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error