• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गैजेट्स और इंटरनेट

बच्चों को टेक्नोलॉजी से दूर करने से बेहतर है कि उन्हें इसका सही इस्तेमाल सिखाएं

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 11, 2020

बच्चों को टेक्नोलॉजी से दूर करने से बेहतर है कि उन्हें इसका सही इस्तेमाल सिखाएं
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

आजकल आप छोटे-छोटे बच्चों को टेबलेट और फ़ोन चलते हुए देखते होंगे | यूं तो अब बहुत छोटी उम्र में ही वो इन सब चीज़ों से जुड़ जाते हैं, लेकिन उनका कम्प्यूटर से परिचय कराने का सही वक़्त और तरीका हर माता-पिता को पता होना चाहिए |

सही उम्र:

बच्चा जब 6 साल का हो जाता है, तब उसका दिमाग टेक्नोलॉजी का सही इस्तेमाल सीखने लायक विकसित हो जाता है | इस उम्र से पहले आपको बच्चों को आत्मविश्वास, खुद पर नियंत्रण रखना, मिलना-जुलना, जैसी ज़रूरी बातें सिखाने पर ध्यान देना चाहिए |

ज़रूरी है सामंजस्य:

टेक्नोलॉजी और असल ज़िन्दगी के बीच सामंजस्य बनाना उन्हें ज़रूर सीखना चाहिए | हर चीज़ उन्हें कम्प्यूटर नहीं सिखा सकता | इस मशीनी युग में इंसान का इंसान बने रहना ज़्यादा ज़रूरी है |

तय करें सीमा:

जब तक वो स्कूल नहीं जाने लगते, उन्हें कम्प्यूटर आदि का कम प्रयोग करना चाहिए | इसके आगे भी आपको फ़ोन वगेरह इस्तेमाल करने की सीमा उनके लिए तय कर देनी चाहिए | 6 साल की उम्र के आस-पास आपको खुद उन्हें कम्प्यूटर के बारे में सिखाना शुरू करना चाहिए |

बेसिक चीज़ें:

इस काम के लिए फ़ोन, टेबलेट के बजाय कम्प्यूटर को ही चुनें, इससे उन्हें हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में अंतर सीखने में आसानी होगी | सिखाने की शुरुआत बेसिक चीज़ों से करें | उन्हें कम्यूटर ऑन-ऑफ़ करना सिखाने से शुरू करें |

साथ बैठें:

उन्हें अगर कम्यूटर इस्तेमाल करने का तरीका नहीं सिखाया गया, तो मुमकिन है कि वो उसे न चाहते हुए नुकसान पहुंचा बैठें | एक-एक कर के उन्हें कीबोर्ड, माउस वगेरह का इस्तेमाल सिखाएं | इस दौरान आपको भी उनके साथ बैठना चाहिए |

इंटरनेट के अलावा भी हैं ज़रूरी चीज़ें:

उन्हें ये भी सिखाया जाना चाहिए कि इंटरनेट के अलावा कम्यूटर के क्या इस्तेमाल हैं | उन्हें पेंट करना, लिखना, जानकारी निकालना जैसे काम सिखाएं, जिनमें उनका समय व्यर्थ नहीं होगा | ऐसा न सिखाने पर वो कम्यूटर, फ़ोन वगेरह को गेम खेलने की चीज़ ही समझते रहते हैं |

सोशल मीडिया से परिचय बाद में:

सोशल मीडिया से उनका परिचय अभी कराना ज़रूरी नहीं होता | इसके बारे में आप आगे उन्हें सिखा सकते हैं |

ये ऐसी पीढ़ी है, जिसका हर काम शायद आगे कम्प्यूटर से जुड़ा होगा | ऐसे में उन्हें इनका इस्तेमाल करने से रोकने से बेहतर है कि आप उन्हें सही इस्तेमाल सिखाएं |

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Sep 22, 2019

very good

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप गैजेट्स और इंटरनेट ब्लॉग

Sadhna Jaiswal
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

आज का पैरेंटून

पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}