Parenting

बच्चों से घर के छोटे-मोटे काम करवाना बनाएगा उन्हें आत्मनिर्भर

Parentune Support
3 to 7 years

Created by Parentune Support
Updated on Dec 06, 2017

बच्चों से घर के छोटे मोटे काम करवाना बनाएगा उन्हें आत्मनिर्भर

आजकल कई माता-पिता बच्चों को घर के कामों में हाथ बंटाना सिखाना ज़रूरी नहीं समझते या फिर व्यस्त दिनचर्या के कारण उन्हें बच्चों को ये सब सिखाने का समय नहीं मिल पाता. इस वजह से वो रोज़मर्रा की ज़िन्दगी के लिए ज़रूरी घरेलू काम भी नहीं सीख पाते. लेकिन अगर एक्सपर्ट्स की मानें, तो घर के कामों में हाथ बंटाना सीखना आपके लिए ही नहीं, बच्चे के लिए भी अच्छा होता है.

कई बार ऐसा भी होता है कि बच्चे ही घर के काम सीखने के इच्छुक नहीं होते, ऐसे में आप उनको इन टिप्स से काम करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं. अगर आप वाकयी बच्चे को काम करना सिखाना चाहते हैं, तो आपको कुछ बातों का ख्याल भी रखना होगा.

  • काम को कॉम्पीटीशन का रूप दें. उन्हें कोई काम दें और स्टॉप वॉच लगा कर उनसे कहें कि इसे कम समय में ख़त्म करने पर उन्हें कोई इनाम मिलेगा.
     
  • बहन-भाइयों को भी आपस में कॉम्पीटीशन करने के लिए कह सकते हैं. उनसे कहें कि जो भी काम अच्छे से और कम समय में पूरा करेगा, वो जीतेगा.
     
  • बच्चों को छोटी उम्र से ही कपड़े तह करने जैसे छोटे-छोटे काम सिखाये जाने चाहियें. उन्हें आगे ये सब काम आएगा. उन्हें छोटे-छोटे कामों के लिए किसी पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा.
     
  • भले ही आपको वो काम खुद ही कर लेना उस वक़्त आसान लग रहा हो, लेकिन बच्चों को ज़रूरी काम सिखाना भी आपकी ही ज़िम्मेदारी है. इसकी शुरुआत आप जितना पहले करेंगे, उतना बेहतर है.
     
  • अगर बच्चे उस उम्र तक पहुंच चुके हैं, जहां उन्हें घर के किसी काम में दिलचस्पी नहीं रही है, तो आपको उन्हें आराम से बैठ कर समझाना चाहिए कि ये सब सीखना क्यों ज़रूरी है.
     
  • उन्हें ये चुनने का मौका दें कि उन्हें क्या काम करना है. उन्हें विकल्प के रूप में 2-3 काम दें. इससे वो काम में ज़्यादा दिलचस्पी लेंगे.
     
  • उनके लिए काम को फ़न बनाएं. उनकी पसंद के गाने चला कर उन्हें खेलते-खेलते काम करने दें.
     
  • कुछ कामों को उनकी रूटीन का हिस्सा बना दें, ताकि आपको रोज़-रोज़ उन्हें इसके लिए मनाना न पड़े.
     
  • उनके काम की लिस्ट बना कर किसी जगह लगा दें, ताकि उन्हें याद रहे कि उनके ऊपर घर के कौनसे काम की ज़िम्मेदारी है.
     
  • काम के लिए उन पर गुस्सा करने या चिल्लाने से उन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और वो मन से काम नहीं करेंगे.
     
  • उन्हें ये निर्देश दें कि उन्हें Exactly क्या करना है. उदाहरण के लिए, उन्हें ये कहने के बजाय कि अपना कमरा साफ़ करो, उनसे कहिये कि अपनी किताबें और खिलौने जगह पर रखें.
     
  • उन्हें ऐसा महसूस न करायें कि घर का काम कर के वो कोई फ़ेवर कर रहे हैं. बल्कि, उन्हें ये बताएं कि घर को व्यवस्थित रखना, घर के सभी सदस्यों की ज़िम्मेदारी है. उन्हें भी घर के सदस्य के तौर पर अपना योगदान देना चाहिए.
     
  • आप उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए पॉकेट मनी के रूप में कुछ इंसेंटिव भी दे सकते हैं. लेकिन इसका लालच देकर काम न करवाएं.
     
  • अगर वो अपने हिस्से के काम नहीं करते, तो इसके लिए थोड़ी सख्ती बरती जा सकती है. उनका टीवी देखने का समय कम कर देना और इंटरनेट मॉडेम ऑफ़ कर देने जैसी छोटी सज़ा दी जा सकती है.   

  • 1
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Dec 06, 2017

बच्चों के लिए छोटी सी उम्र से ही आत्मनिर्भर होना अति आवश्यक है। जरूरत पड़ने पर वो अपना तथा अपने छोटे भाई बहन को भी मदद कर सकते है। इससे न केवल उनका आत्मविश्वास बढ़ता है बल्कि वे घर के एक जिम्मेदार सदस्य भी बन जाते है। बहुत बढ़िया ब्लॉग , अति आवश्यक सुझावों के साथ।

  • Report
+ START A BLOG
Top Parenting Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error