• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग बाल मनोविज्ञान और व्यवहार स्पेशल नीड्स

बाल यौन शोषण का सबसे बड़ा मामला सामने आया, पेरेंट्स इन 10 बातों का जरूर ख्याल रखें

Prasoon Pankaj
1 से 3 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Nov 18, 2020

बाल यौन शोषण का सबसे बड़ा मामला सामने आया पेरेंट्स इन 10 बातों का जरूर ख्याल रखें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

एक बच्चे के लिए उसका बचपन सबसे बड़ी पूंजी होती है। बचपन में दी गई शिक्षा औऱ संस्कार इंसान के साथ जीवन भर बना रह जाता है। बचपन की यादें इंसान के जीवनपर्यंत बना होता है। हमारे ही आसपास के कुछ ऐसे लोग होते हैं जो बच्चे के बचपन को कुचलने जैसा घटिया काम कर देते हैं। बाल यौन शोषण के मामलों में जिस तरीके से लगातार बढ़ोतरी हो रही है वह हम सबके लिए चिंतनीय है। ताजा मामला सामने आया है यूपी में जहां सिंचाई विभाग के एक जूनियर इंजीनियर को बाल यौन शोषण के 50 से ज्यादा मामलों में संलिप्त होने के आरोप में सीबीआई की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। 

बाल यौन शोषण का आरोपी इंजीनियर गिरफ्तार

सीबीआई की टीम ने पिछले 10 साल से बच्चों का यौन शोषण करने के आरोप में एक जूनियर इंजीनियर को गिरफ्तार किया है। 

  • इस इंजीनियर पर करीब 50 बच्चियों के साथ यौन शोषण का आरोप है जिनमें 5 से 16 साल की बच्चियां शामिल है

  • ये भी आरोप है कि यौन शोषण का वीडियो और फोटोग्राफ की ऑनलाइन बिक्री करता था।

  • यूपी के चित्रकूट, बांदा और हमीरपुर जिल में इस आरोपी ने कुकृत्य को अंजाम दिया।

  •  तलाशी के दौरान सीबीआई की टीम ने 8 मोबाइल फोन, तकरीबन 8 लाख रूपये की नकदी, सेक्सी टॉयज, लैपटॉप और भारी मात्रा में सेक्स एब्यूज मटेरियल को बरामद किया है। 

  • बताया जाता है कि बच्चो को मोबाइल और गैजेट्स का लालच देकर आरोपी ने इस घिनौनी करतूतों को अंजाम दिया।

  • बाल यौन शोषण से संबंधित सामग्रियों को बेचने के लिए आरोपी कथित रूप से कुछ विदेशी लोगों के भी संपर्क में बना हुआ था। 

  • सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म और वेबसाइट का उपयोग करते हुए डार्क नेट के माध्यम से शेयर करने का आरोप है। 

बाल यौन शोषण से जुड़े चौंकाने वाले आंकड़े आए सामने 

अपने देश में बाल यौन शोषण के मामलों में कई गुना बढ़ोत्तरी होने के आंकड़े सामने आए हैं। जनवरी मेंNational Crime Records Bureau (NCRB) के द्वारा जारी किए आंकड़ों के मुताबिक अपने देश में प्रत्येक दिन तकरीबन 100 से ज्यादा बच्चे यौन उत्पीड़न के शिकार होते हैं।

  1.  पिछले साल के आंकड़ों के मुताबिक इस साल में बाल यौन शोषण के मामलों में 22 फीसदी बढ़ोतरी हो गई है। 

  2. आपको जानकर हैरानी होगी कि साल 2008-2018 में बच्चो के अपराध के कुल 22,500 केस दर्ज किए गए वहीं पिछले दो साल में कुल 1 लाख 41 हजार 764 मामले दर्ज किए गए हैं।

  3. रिपोर्ट के मुताबिक यूपी में बाल यौन शोषण के 2023 मामले दर्ज किए गए हैं।

बाल यौन शोषण से बचाव के लिए पेरेंट्स क्या करें?

सबसे ज्यादा जरूरी है कि बच्चे में यौन शोषण के संकेतों व लक्षणों को पहचान किया जाए।

  • बच्चे की बातों को गंभीरतापूर्वक सुनें औऱ अगर वे कुछ बताना चाह रहे हों तो जरूर सुनें

  • बच्चे को ऐसा माहौल दें कि वे अपनी बातों को आपके साथ खुलकर शेयर कर सकें

  • बच्चे को ये एहसास कराएं कि वे निडर हैं औऱ जो कुछ भी हुआ है उसमें उनका कोई दोष नहीं है

  • बच्चे अगर अपने किसी शारीरिक तकलीफ के बारे में बताएं तो उसका निवारण करने का भरोसा दिलाएं

  • घर के बड़े बुजुर्गों से इस समस्या के बारे में चर्चा करें

  • 1098- ये नंबर चाइल्ड हेल्पलाइन का है औऱ इस पर कॉल करके उनको सूचित अवश्य करें

  • बच्चे का मेडिकल एग्जामिनेशन अवश्य कराएं

  • नजदीकी पुलिस स्टेशन पर बाल यौन शोषण का केस दर्ज कराएं

  • बच्चे के सामने इस तरह का व्यवहार नहीं करें कि उनके ऊपर किसी प्रकार का मानसिक दबाव ना पैदा हो जाए

  • बच्चे पर किसी प्रकार का दोष नहीं डालें और हां उनकी शिकायतों को कतई नजरंदाज नहीं करें

इस तरह के मामलों में जो सबसे बड़ी समस्या देखने को मिलती है उसमें ये होता है कि अभिभावक इसको अपनी इज्जत से जोड़ कर देखने लगते हैं, उनके मन में ये लगने लगता है कि इससे उनकी बदनामी हो सकती है। लेकिन ये गलत है, जो गुनहगार है उसको सजा दिलाना हमारा फर्ज है ताकि समाज में मिसाल कायम हो सके।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप पेरेंटिंग ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}