• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
शिशु की देख - रेख स्वास्थ्य

क्या हैं लक्षण बच्चे के कान में गंदगी जमा हो जानें के ? कान साफ़ करते समय क्या सावधानी रखें ?

Prasoon Pankaj
1 से 3 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Apr 23, 2020

विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

आपने अक्सर लोगों को कानों में ऊंगली या माचिस की तिली से खुजलाते हुए देखा होगा हालांकि अगर आप उनसे इसकी वजह पूछेंगे तो उनका जवाब ये होगा कि वे अपने कान की सफाई(ear cleaning) करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये उनके कानों के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदेह साबित हो सकता है। छोटे बच्चे अपने घर में या बाहर भी किसी को जब इस तरह की हरकतों को करते हुए देखते हैं तो वे सहज रूप में इसको स्वीकार कर लेते हैं और फिर उसका पालन करना भी शुरू कर देते हैं। तो बेहतर यही होगा कि आप अपने बच्चे को कान की साफ-सफाई(child's ear cleaning) सुरक्षित तरीके से कैसे की जाए इसका प्रशिक्षण देना अभी से शुरू कर दें। तो चलिए आज हम आपको बच्चों के कानों के अंदर की गंदगी या मैल की कैसे सफाई करें इसके बारे में कुछ आसान लेकिन सुरक्षित उपायों के बारे में जानकारी देते हैं।

बच्चे के कान में गंदगी जमा हो जानें के क्या लक्षण हो सकते हैं? / Symptoms of Ear Wax in Kids in Hindi

हम आपको बता दें कि छोटे बच्चों के कान में मैल या गंदगी जल्दी जम जाते हैं और चूंकि कान में वैक्स का जमना एक प्राकृतिक तरीका है। इसके कुछ फायदे भी हैं। कान में वैक्स के जम जाने से ये कानों की नली में आने वाली बाहरी गंदगी और बैक्टीरियो को बढ़ने से रोकता है। लेकिन जब ये बहुत ज्यादा जम जाए तो फिर बच्चे को कम सुनाई देता है और उनको दर्द की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। 

  • कान में दर्द होना
  • कान भरा-भरा सा लगना
  • कान में अजीब-अजीब आवाज आने का आभास होना
  • कानों से कम सुनाई देना

कान से मैल निकालने के आसान तरीके /How to Clean Ear Wax in Kids in Hindi ?

अब हम आपको कान साफ करने के कुछ आसान तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं। सबसे जरूरी बात की इस दौरान आपको विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है क्योंकि कान बहुत ही संवेदनशील अंग होते हैं।

  1. नहलाने के बाद करें कान की सफाई -  5 साल से कम उम्र के बच्चों के कान की सफाई करने का ये सबसे अच्छा तरीका हो सकता है। जब आप अपने बच्चे को नहलाते हैं उसके तुरंत बाद आप उनके कानों की सफाई कर दें। इसकी मुख्य वजह ये है कि स्नान के बाद बच्चे के कान से मैल आसानी से निकल जाते हैं। कॉटन या रूई की मदद से आप कान से मैल साफ कर सकते हैं और बच्चे को कोई खास परेशानी भी नहीं होगी। [जरूर पढ़ें - क्या हैं बच्चों के कान में दर्द होने के लक्षण, कारण व बचाव के उपाय ?]
     
  2. बेबी ईयर बड (Earbuds​) - 5 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों के कान की सफाई करने के लिए हमेशा बेबी ईयर बड का ही प्रयोग करें। ईयर बड को कान के अंदर डालते समय में ये ध्यान रखें की इसको बहुत गहराई तक नहीं डालें नहीं तो बच्चे के कान के परदे में चोट लगने का खतरा बना रहता है। 
  3. बेबी ऑयल(Baby Oil) - अगर आप चाहें तो कान के अंदर छुपे मैल की सफाई करने के लिए बेबी ऑयल या मिनरल ऑयल की एक से दो बुंदों को कान में डाल दें। इसके बाद कान में रूई का छोटा टुकड़ा लगा दें ताकि तेल बाहर ना निकल जाए। इससे फायदा ये होगा कि तेल कान के अंदर के वैक्स को मुलायम कर देगा और आराम से बाहर निकल सकता है।
     
  4. सैलाइन स्लपुरान - तकरीबन आधे कप पानी में थोड़ा सा नमक मिलाकर इसको अच्छे से मिला लें। फिर इसके बाद इसमें रूई का एक छोटा सा टुकड़ा भिंगो दें और इसको कान में निचोड़ दें। जब ये पानी कान के अंदर अच्छे से चला जाए तो उसके बाद फिर पानी को बाहर निकालें। इस प्रक्रिया को करने से भी कान अच्छे से साफ हो सकता है।
     
  5. ऑलिव ऑयल (Olive Oil) - कान की सफाई करने में ऑलिव ऑयल भी बहुत मददगार साबित हो सकता है। ऑलिव ऑयल की दो-तीन बूंद कान में डालें। रात को सोने से पहले 2 से 3 दिन तक इस प्रक्रिया को दोहराएं।  कान के अंदर की गंदगी बहुत मुलायम हो जाएगी और कान बिल्कुल साफ हो जाएगा। [ जरूर पढ़ें - क्यों जरूरी होता है कान या नाक छिदवाना?
  6. प्याज(Onion) - अब आप सोच रहे होंगी कि भला कान की सफाई करने में प्याज कैसे मददगार साबित हो सकता है। दरअसल ये घरेलू नुस्खा भी बहुत कारगर है। प्याज को उबाल कर इसका रस निकाल लें। फिर जब ये रस ठंढ़ा हो जाए तो इसकी कुछ बुंदें कान में डालें। 

कान साफ़ करते समय क्या सावधानी रखें?/ Take Precautons While Ear Wax Cleaning in Hindi 

जैसा कि हमने आपको शुरू में ही बताया की कान बेहद नाजुक अंग होते हैं तो जब कभी आप अपने बच्चे के कानों की सफाई करें तो ये जरूर ध्यान रखें कि उस समय में उनका मूड अच्छा हो। क्योंकि जब बच्चे बहुत ज्यादा शरारत करने के मूड में हों या रोते या चिल्लाते हों तब अगर आप जबरन उनके कानों की सफाई करेंगी तो हो सकता है कि ज्यादा हिलने डुलने से उनके कान के पर्दों को नुकसान पहुंच सकता है। 

बेहतर यही होगा कि आप अपने बच्चे को कान की साफ-सफाई सुरक्षित तरीके से कैसे की जाए इसका प्रशिक्षण देना अभी से शुरू कर दें। तो चलिए आज हम आपको बच्चों के कानों के अंदर की गंदगी या मैल की कैसे सफाई करें इसके बारे में कुछ आसान लेकिन सुरक्षित उपायों के बारे में जानकारी देते हैं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 7
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Mar 27, 2019

,SC,, / ,,uittu

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Mar 28, 2019

nice

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Mar 29, 2019

शुक्रिया @Manpreet

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Mar 29, 2019

Thax

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Apr 10, 2019

thanks

  • Reply
  • रिपोर्ट

| May 18, 2020

Mai 21 years ka hu aur Mera Kan sansanta hai please bataye

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Jun 11, 2020

Mere baby ko sotye per kampun sa hota h kabhi left side kBhi right pahle aisa sone ki suruat Mai hota tha ab sone k adha ghante tuk kabhi leg Mai jaise lagta h under se movement ho raha ho thodi thodi der mai aisa q hota h koi chinta ka vishay to nahi

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप शिशु की देख - रेख ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}