• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग शिशु की देख - रेख स्वास्थ्य

क्या हैं सर्दी में खांसी और जुकाम (कफ & कोल्ड)से निजात पाने के उपाय?

Deepak Pratihast
0 से 1 वर्ष

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 12, 2019

क्या हैं सर्दी में खांसी और जुकाम कफ कोल्डसे निजात पाने के उपाय
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

सर्दियां आते ही बच्चों को सर्दी, जुकाम, खांसी, खांसी के साथ कफ, नाक बंद होना और बुखार जैसी ना जाने कितनी समस्यांए आना शुरू हो जाती हैं। मतलब सभी माता-पिता की चिंताएं और जिम्मेदारियाँ बढ़ जाती हैं। ऐसे में शरीर को ठंड से बचाना बहुत जरूरी है, खासकर अपने बच्चे को। सर्दी के मौसम में कोल्ड, कफ, जुकाम और खांसी की समस्या बेहद आम बात है लेकिन कुछ खास उपायों को आजमाकर आप इन समस्याओं से बचाव कर सकते हैं। ये तो आप भी जानते ही होंगे कि हमारी तुलना में बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम होती है और यही वजह है कि सर्दी में बड़ों की तुलना में बच्चे बीमारी की चपेट में ज्यादा आते हैं। इस मौसम में बच्चे अक्सर जुकाम (कफ कोल्ड) व खांसी के शिकार हो जाते हैं। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि सर्दी के मौसम में बच्चों का खास ख्याल रखा जाए। लेकिन कई बार होता यह है कि आप अपने बच्चे की बहुत अच्छे तरीके से देखभाल करते हैं फिर भी किन्हीं वजहों से बच्चे सर्दी, जुकाम की चपेट में आ जाते हैं। यहां हम बताएंगे सर्दी - जुकाम और खांसी दूर करने के कुछ आसान से उपाय।

बच्चे को जुकाम, खांसी से बचाने के घरेलू उपाय ? / Effective Home Remedies to Cure Cough & Cold in Hindi

ठंड का मौसम आ चुका है, अगर सर्दी, जुकाम व खांसी हो जाए तो अपने आप ठीक होने का इंतजार नहीं करना चाहिए। आप फौरन उसके समाधान में जुट जाएं। यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ घरेलू उपाय, जिनकी मदद से आप इस समस्या को फौरन दूर कर सकते हैं। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि कोई भी घरेलू उपचार देने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर करें। बच्चे को ज्यादा दिक्कत है तो डॉक्टर के पास फौरन ले जाएं। तो आइए जानते हैं कुछ असरदार उपायों के बारे में –

  1. नमक पानी – इस स्थिति में बच्चे को नमक पानी देना काफी फायदेमंद होता है। अपने बच्चे को दिन में 2-3 बार पानी में नमक मिलाकर पीने को दें। इससे बलगम खत्म होगा व उसकी बंद नाक भी खुलेगी।

  2. हल्दी – हल्दी के गुणों से आप भली-भांति परिचित होंगे। बच्चों से लेकर बड़ों तक को कई बीमारियों से राहत दिलाने में हल्दी मदद करता है। यह खांसी व जुकाम के इलाज के लिए भी रामबाण है। सूखी हल्दी के एक छोटे टुकड़े को मोमबत्ती या छोटे दिये की लौ से थोड़ा सा जला लें। इसके बाद जली हुई हल्दी के धुएं को अपने बच्चे को 1 मिनट तक सुंघाएं। हालांकि 2 साल से ऊपर के बच्चे को आप दूध में हल्दी मिलाकर भी पीने को दे सकते हैं। इसके अलावा आप गर्म पानी में हल्दी को मिलाकर इसका पेस्ट बना सकते हैं। इस पेस्ट को बच्चे के सीने, माथे व तलवे पर लगाएं। लेप सूख जाए तो इसे धो दें। इस प्रक्रिया से बलगम खत्म होगा और सर्दी व खांसी से राहत मिलेगी।

  3. नींबू – नींबू में विटामिन सी पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है, जो शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है। ऐसे में सर्दी, जुकाम व खांसी के इलाज के लिए नींबू अच्छा विकल्प है। आप नींबू के रस में थोड़ा सा शहद मिलाएं। इसके बाद इसमें ठीक मात्रा में पानी मिलाएं। अब बच्चे को इसे आराम से पिलाएं। यह उपाय 1 वर्ष से ऊपर के बच्चों के लिए ज्यादा कारगर है।

  4. कपूर – कपूर भी आपके बच्चे की खांसी व सर्दी दूर करने में मदद करेगा। नारियल के तेल में कपूर की थोड़ी सी मात्रा मिलाकर उसे गर्म कर लें। तेल जब ठंडा हो जाए तो 5-6 बूंद तेल लेकर बच्चे की छाती पर मालिश करें। इससे बच्चे को जल्द राहत मिलेगी। कुछ बच्चों को कपूर से स्किन एलर्जी हो जाती है, ऐसे में इस बात का ध्यान रखें कि तेल में कपूर की मात्रा अधिक न हो।

  5. अजवाइन – अजवाइन को हल्की आंच में भूनकर इसकी पोटली बना लें। इसके बाद इस पोटली को नवजात बच्चे की नाक के पास थोड़ी देर के लिए रखें, ताकि इसकी महक सांस की मदद से उसकी नाक में जा सके। यह उपाय भी आपके लिए काफी मददगार होगा।

  6. अदरक – खांसी व कोल्ड कफ दूर करने के लिए आप अदरक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। पहले अदरक लेकर उसके एक छोटे टुकड़े को घिस लें और इसे गरम पानी में मिला दें। जब पानी ठंडा हो जाए तो इसे बच्चे को पिलाएं। इस बात का ध्यान रखें कि यह उपाय 2 साल से ऊपर के बच्चे के लिए बेहतर है।

  7. शहद – शहद का सेवन भी बच्चे की खांसी व जुकाम की समस्या को दूर करता है। आधा चम्मच शहद दूध में मिलाकर बच्चे को दिन में 2 बार पिलाएं। हालांकि शहद 1 साल से कम उम्र के बच्चे को न दें। यह उपाय 1 साल से ऊपर के बच्चों के लिए है।

  8. तुलसी पत्ता – औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के पत्ते का सेवन भी आपके बच्चे को खांसी व जुकाम से दूर रखेगा। तुलसी के कुछ पत्तों को पानी में डाल दें। 1 घंटे बाद इस पानी को 2 साल के ऊपर के बच्चों को पीने के लिए दें। उसे काफी राहत मिलेगी।

  9. सरसो के तेल से मालिश – 8 से 10 चम्मच सरसों का तेल लें। इसमें लहसुन की कुछ कलियां पीसकर डालें। इसके अलावा तेल में थोड़ा सा अजवाइन मिला लें। अब तेल को गर्म कर लें। तेल को ठंडा होने के बाद इसे एक शीशी में रखें। बच्चा अगर सर्दी, खांसी व जुकाम से पीड़ित है तो इस तेल से बच्चे के माथे, पैर, पीठ व छाती पर हल्के हाथ से मालिश करें।

  10. खिचड़ी व सूप – सर्दी में बच्चों को ठोस आहार का सेवन करने में दिक्कत आती है। ऐसे में उन्हें गर्म सूप व खिचड़ी दे सकते हैं। इससे उसे सर्दी से राहत मिलेगी। यह उपाय 6 महीने से ऊपर के बच्चे पर ही करें।

  11. देसी घी – बच्चा अगर खांसी व कोल्ड कफ से पीड़ित है तो देसी घी भी उसके लिए काफी बेहतर उपचार हो सकता है। 2 चम्मच घी को गरम करने के बाद उसमें 2-3 काली मिर्च पीस कर मिला लें। इसके बाद इस मिश्रण का बच्चे को रह-रहकर सेवन कराएं। 1 साल से ऊपर के बच्चों के लिए यह उपाय बेस्ट है।

  12. भिंडी – भिंडी का लस्सा सर्दी, खांसी व बलगम से राहत दिलाता है। 1 साल से ऊपर के बच्चे पर इस उपाय को कर सकते हैं। एक भिंडी को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर इसे गरम पानी में मिलाकर ठंडा होने दें। इसके बाद बच्चे को थोड़ा-थोड़ा करके पिलाते रहें।

  13. दालचीनी – दालचीनी में एंटी बैक्टीरिया व  एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। यह सर्दी व खांसी दूर करने में काफी मददगार होता है। आप इसे 1 साल से ऊपर के बच्चे पर ट्राई कर सकते हैं। एक चम्मच शहद में ¼ चम्मच दालचीनी का पाउडर मिलाकर अपने बच्चे को हर चार घंटे के गैप पर खिलाते रहें।

  14. सिरहाने पर दें ध्यान – बलगम की वजह से बच्चे को सोने में दिक्कत आती है। उसे आराम पहुंचाने के लिए आपको सिरहाने पर ध्यान देना चाहिए। बच्चे को सुलाने से पहले उसके तकिये को जरा सा टेढ़ा कर दें। इससे उसकी नाक में बना बलगम आसानी से नीचे आ जाएगा और उसे राहत मिलेगी।

  15. भाप देना – सर्दी, खांसी व कफ कोल्ड को दूर करने के लिए बच्चे को भाप देना भी बेहतर विकल्प है। मशीन के अलावा आप बच्चे को भाप देने के लिए गर्म पानी बाल्टी या टब में रखकर बच्चे को गोद में लें। इसके बाद उसका भाप बच्चे को लगने दें।

  16. रब या बाम -  रब या बाम भी सर्दी, खांसी व बलगम दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। दो साल से कम उम्र के बच्चों के लिए आपको बेबी रब या बाम का इस्तेमाल करना चाहिए, जबकि दो साल से ऊपर के बच्चों पर सामान्य रब या बाम यूज कर सकते हैं। उम्र के हिसाब से रब या बाम का चयन करके उसे बच्चे के तलवे, छाती और पीठ पर लगाएं। आप हल्की मालिश भी कर सकते हैं। हालांकि रब या बाम की ज्यादा मात्रा ना लें।

  17. बच्चे में नमी बनाए रखें -  बच्चा अगर सर्दी, जुकाम व खांसी से पीड़ित है तो उसके शरीर में नमी को बनाए रखना बहुत जरूरी है। बच्चा अगर 6 महीने का है या इससे छोटा है तो उसे स्तनपान कराके हाइड्रेट रख सकते हैं।

इसके अलावा बच्चे को सर्दी, खांसी से बचाने के लिए जरूरी है कि आप उसके कपड़ों पर भी खास ध्यान दें। सर्दी में बच्चे को चुस्त व गर्म कपड़े पहनाएं। अगर बच्चे को बुखार है तो गर्म व चुस्त कपड़े न पहनाएं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 8
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Nov 20, 2019

Kya 2 mnts ke baby ko namak ka Pani de skte hai plz reply

  • Reply | 3 Replies
  • रिपोर्ट

| Nov 22, 2019

No

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Dec 20, 2019

Nhi

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Jan 15, 2020

Nhi bilkul nhi use apna dhoodh pilaye sirf

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Nov 26, 2019

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Nov 26, 2019

19 month k baby ko Bohot zada cough or khasi ho to kya kre but fever b tez h

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Dec 19, 2019

1 saal se kam age k baby KO Honey Kyu nhii De sakte

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Jan 12, 2020

4 months ka baby h usko bhut khashi h kya kru .

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप पेरेंटिंग ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}