• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

जानिए कब तक कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होंगे औऱ कीमत क्या होगी?

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Nov 20, 2020

जानिए कब तक कोरोना वैक्सीन उपलब्ध होंगे औऱ कीमत क्या होगी
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

अपने देश में कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ने लगा है। ब्लॉग लिखे जाने तक जो आंकड़े हैं उसके मुताबिक संक्रमित मरीजों की संख्या 90 लाख के पार जा चुकी है। अब सबकी नजरें कोरोना वैक्सीन पर टिकी है। कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर ये है कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने जानकारी देते हुए बताया है कि अगले साल फरवरी 2021 में कोरोना वैक्सीन आ जाएगी। इसके अलावा उन्होंने एक और महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए कहा है कि आम लोगों के लिए ये वैक्सीन अप्रैल महीने तक उपलब्ध हो जानी चाहिए। आइये इस ब्लॉग में हम जानते हैं कि कोरोना वैक्सीन को लेकर किस तरह की तैयारियां चल रही हैं और इसकी कीमत क्या हो सकती है?

आम आदमी तक कब तक पहुंचेगा कोरोना वैक्सीन?

सीरम इंस्टीट्यूट के मुताबिक हर भारतीय का टीकाकरण करवाने में कम से कम 2 से 3 साल तक लग सकते हैं। आपूर्ति के अलावा बजट, टीका की उपल्धता, और बुनियादी ढांचो के चलते इतना वक्त लग जाने का अनुमान किया जा रहा है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला के मुताबिक वैक्सीन की कीमत 1 हजार रुपये के आसपास तक हो सकती है लेकिन इसकी कीमत में कमी भी मुमकिन है।

कोरोना वैक्सीन तैयार करने वाली कंपनियों की प्रगति के बारे में जाने विस्तार से

देश-विदेश में कई सारी कंपनियां कोरोना वैक्सीन का निर्माण करने और ट्रायल करने में तेजी से जुट गई है। तो आइये जानते हैं कि कौन कौन सी ये वैक्सीन हैं, इन वैक्सीन का ट्रायल कहां तक पहुंचा है औऱ बाजार में वैक्सीन के कब तक लॉन्च होने की उम्मीद है?

  • ऑक्‍सफर्ड-एस्‍ट्राजेनेका की कोरोना वैक्‍सीन- बताया जाता है कि अपने देश में इस वैक्सीन से सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं। SII की एस्ट्राजेनेका के साथ एक अरब डोज आपूर्ति करने के लिए साझेदारी होने की बातें भी सामने आ रहे हैं। इसे स्थानीय स्तर पर Covishield नामकरण किया गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि साल के आखिरी तक ये भारत में आ सकता है और आम जनता के लिए अगली तिमाही तक का इंतजार करना पड़ सकता है।

  • फाइजर की कोरोना वायरस वैक्‍सीन- अमेरिकी दवा कंपनी फाईजर ने जर्मनी की बायोएनटेक के साथ मिलकर इस वैक्सीन को तैयार किया है। ये वैक्सीन 95% तक प्रभावशाली बताया जा रहा है। फाइजर के साथ भारत में कोई डील अब तक नहीं हो पाया है। आने वाले दिनों में देखना ये है कि क्या फाइजर किसी भारतीय कंपनी के साथ डील करती है या खुद ही बाजार में उतरती है। फाइजर की कीमत अमेरिका में 20 डॉलर वैक्सीन की एक डोज यानि की इस हिसाब से भारत में डेढ़ से 2 हजार रूपये के आसपास होने की उम्मीद जताई जा रही है।

  • मॉडर्ना की कोविड-19 वैक्‍सीन- अमेरिका की ही एक और कंपनी मॉडर्ना में भी वैक्सीन के फेज 3 ट्रायल के नतीजे जारी कर दिए हैं। ये वैक्सीन 94.5 फीसदी लोगों तक कोरोना के संक्रमण को रोकने में सफल बताई जा रही है। ये वैक्सीन 2 डोज वाली है। अमेरिका के साथ ही भारत में अगले साल की दूसरी तिमाही तक उपलब्ध होने की बात सामने आ रहे हैं हालांकि अब तक इस कंपनी ने भारत में किसी के साथ डील नहीं किया है। वैक्सीन की एक डोज की कीमत 32 से 37 डॉलर के बीच हो सकती है। भारतीय बाजार में ये वैक्सीन 4000 के आसपास उपलब्ध होने का अनुमान जताया जा रहा है।

  • देसी कोरोना वैक्‍सीन-  ICMR-भारत बायोटेक की ये वैक्सीन शुरुआती ट्रायल में सुरक्षित पाई गई है। फिलहाल 26 हजार लोगों पर फेज 3 का ट्रायल शुरू किया गया है। उम्मीद के मुताबिक अगले साल की पहली तिमाही तक ये वैक्सीन उपलब्ध हो सकता है। सबसे अच्छी बात इस वैक्सीन के साथ है कि भारत बायोटेक के एमडी डॉ कृष्णा एल्ला ने कहा है कि इसकी कीमत एक बोतल पानी की कीमत से भी कम हो सकती है। डॉ कृष्णा के मुताबिक वैक्सीन की कीमत 20 रुपये से ज्यादा नहीं होगी।

  • रूसी वैक्सीन Sputnik V - रूस में बनी वैक्सीन 92 फीसदी तक प्रभावी बताई जा रही है। भारत में डॉ रेड्डी लैबोरेटरीज के साथ साझेदारी की गई है। इस वैक्सीन का अपने देश में दूसरा तीसरा ट्रायल फेज चल रहा है। वैक्सीन के भारतीय बाजार में अगले साल की दूसरी तिमाही में उपलब्ध होने का अनुमान किया जा रहा है। इस वैक्सीन की कीमत को लेकर अब तक कुछ साफ नहीं हो पाया है।

  • नोवावैक्‍स और ZyCov-D- नोवावैक्‍स वैक्सीन का इंग्लैंड में 10 हजार लोगों पर ट्रायल का फेज 3 चल रहा है। वहीं दूसरी तरफ ZyCov-D का फेज 3 ट्रायल दिसंबर में शुरू हो सकता है। अगले साथ ये दोनों वैक्सीन उपलब्ध हो सकते हैं। 

कोरोना वैक्सीन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री का बयान

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि अपने देश की आबादी 135 करोड़ है इसलिए वैक्सीन का वितरण वैज्ञानिक तरीके से किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि अगले साल के जुलाई से अगस्त तक हमारे पास 400 से 500 मिलियन वैक्सीन की खुराक उपलब्ध हो सकते हैं।  

हालांकि कोरोना वैक्सीन अब तक उपलब्ध नहीं है लेकिन भारत में इसको पहुंचाने की तैयारियां जोर शोर से चल रहे हैं। भारतीय विमान कंपनियां ने इसको लेकर ठोस योजना पर काम शुरू कर दिया है। कोल्ड चेन स्टोरेज सेटअप किए जा रहे हैं। वैक्सीन ट्रांसपोर्टेशन की तैयारियां को लेकर कूल चैंबर्स लगाए जा रहे हैं। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}