• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

कोरोना वैरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) ने भारत में दे दी दस्तक, जानिए लक्षण व क्या सावधानियां

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Dec 02, 2021

विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

 ओमिक्रोन वैरिएंट ने भारत में भी दे दी है दस्तक (Omicron Variant In India)। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कर्नाटक में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के 2 केस की पुष्टि हुई है। दोनों ही पीड़ितों की उम्र 66 साल और 46 साल बताई जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बाजाफ्ता प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी है। ( अपडेट- 2 दिसंबर 2021)

कोरोना से संबंधित विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें :- COVID-19 पेरेंट्स के लिए सपोर्ट

भारत में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट की दस्तक

  • स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक दोनो मरीज दक्षिण अफ्रीका से लौटे हैं और दोनो बिजनेसमैन हैं।
  • 1 मरीज 11 नवंबर को और दूसरा मरीज 20 नवंबर को भारत वापस आए हैं। दरअसल कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का मामला सामने आने के बाद कर्नाटक सरकार ने दक्षिण अफ्रीका से वापस लौटे 93 लोगों की टेस्ट करवाई और जिनमें से 2 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। 2 दिसंबर 2021 तक के अपडेट के मुताबिक फिलहाल दोनों की हालत स्थिर बताई जा रही है और आइसोलेशन में हैं।
  • स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक ओमिक्रोन वैरिएंट बीटा और डेल्टा वैरिएंट के मुकाबले ज्यादा तेजी से फैलता है। 
  • स्वास्थ्य मंत्रालय ने एहतियात के तौर पर मास्क का प्रयोग और वैक्सीिनेशन की प्रमुखता पर जोर दिया है। इसके अलावा कोविड प्रोटोकॉल का पालन जैसे कि समय समय पर हाथ धोते रहना और सैनिटाइज करना भी शामिल है।
  • फिलहाल विदेश से आने वाले यात्रियों का आरटीपीसीआर टेस्ट किया जा रहा है। रिपोर्ट निगेटिव होने पर भी 7 दिनों के लिए क्वारंटाइन करने का निर्देश जारी किया गया है।
  • फिलहाल जिन देशों को जोखिम वाले लिस्ट में शामिल किया गया है उनमें यूरोपीय देश, ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बॉब्वे, सिंगापुर, हांगकांग और इजरायल शामिल है।

अपने देश में कब पीक पर हो सकता है ओमिक्रोन का खतरा:- यहां क्लिक कर जानिए कि क्या कहना है एक्सपर्ट का?

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ( Covid-19 Omicron Variant) के खतरे को देखते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकार एलर्ट हो गए हैं। केंद्र सरकार की तरफ से दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइडलाइंस भी जारी कर दिए गए है। केंद्र सरकार की इस गाइडलाइंस के मुताबिक विदेश से भारत आने वाले सभी यात्रियों के लिए उनके पिछले 14 दिनों की ट्रैवल हिस्ट्री का रिकॉर्ड मांगा जाएगा। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से संबंधित नए अपडेट क्या हैं और तमाम जानकारियां यहां इस ब्लॉग में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

ये ब्लॉग भी जरूर पढ़ लें:- ओमिक्रोन की दस्तक और कई राज्यों में R वैल्यू 1 के पार, जानिए क्या है इसके मायने?

दिल्ली एम्स में कम्यूनिटी मेडिसिन विभाग के हेड डॉ संजय राय ने कोविड के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से संबंधित कुछ प्रमुख सवालों के जवाब दिए हैं।

  • डॉ संजय राय के मुताबिक वायरस के स्वरूप में लगातार बदलाव आते रहते हैं, और यही स्थिति कोविड के साथ भी है। डॉ संजय राय बताते हैं कि वायरस अपने स्वरूप में हजारों बार बदलाव कर सकते है और अभी जो वायरस का नया स्वरूप सामने आया है वो तेजी से संक्रमण करने में सक्षम है। सबसे चिंताजनक बात ये है कि ज्यादातर देशों में अधिकतम लोगों की इम्यूनिटी वैक्सीन की वजह से है और अपने देश में ज्यादातर लोगों में संक्रमण की वजह से बनी स्वाभाविक इम्यूनिटी है। क्या आप जानते हैं:- ओमिक्रोन वेरिएंट से कहां हुई मौत और जनवरी में अगली लहर को को लेकर क्या है एक्सपर्ट की चेतावनी

  • डॉ संजय राय बताते हैं कि अपने देश में 60 से 70 फीसदी लोगों में स्वाभाविक इम्यूनिटी है। ICMR ने भी 68 फीसदी लोगों में स्वाभाविक इम्यूनिटी क्षमता होने की बात की है। सीरो-सर्वेक्षण के मुताबिक दिल्ली में 90 फीसदी से ज्यादा लोगों में एंटीबॉडी है। अगर कोविड के नए वायरस का स्वरूप स्वाभाविक इम्यूनिटी को बेअसर नहीं कर पाता है तो अनुमान के मुताबिक भारत के ज्यादातर लोग सुरक्षित होंगे। 

 

कोरोना से संबंधित विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें :- COVID-19 पेरेंट्स के लिए सपोर्ट

कोरोना वायरस का नए वैरिएंट ओमिक्रोन के लक्षण क्या हैं?

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया वैरिएंड ओमिक्रोन पाया गया है। दक्षिण अफ्रीकन मेडिकल एसोसिएशन ( SAMA) की चीफ एंजेलिक कोएत्जी ने जानकारी देते हुए कहा कि बीते 10 दिन में उन्होंने कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के तकरीबन 30 संक्रमित मरीजों की जांच की है। डॉ कोएत्जी के मुताबिक संक्रमित मरीजों में जो लक्षण नजर आए हैं उनमें प्रमुख हैं बहुत ज्यादा थकान महसूस होना, गले में खराश की समस्या, मांसपेशियों में दर्द और सूखी खांसी। इस दौरान शरीर का तापमान भी बढ़ जाता है। हालांकि इसके साथ ही डॉ कोएत्जी ने एक और बात साफ की है कि इन सभी मरीजों को वैक्सीन नहीं लगी थी। ज्यादातर मरीजों की उम्र 40 साल से कम बताई जा रही है।

 कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन की कैसे होगी जांच?

WHO के मुताबिक SARS-CoV-2 PCR टेस्ट कोरोना के नए वैरिएंट को पकड़ने में सक्षम है। ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में 24 नवंबर को हुई थी। आंकड़ों के मुताबिक दक्षिण अफ्रीका में पिछले 2 सप्ताह में लगभग 4 गुना केस बढ़ने की बात सामने आ रहे हैं। 

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से बचाव के लिए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?

लगभग तमाम एक्सपर्ट्स ने इस बात पर जोर दिया है कि वैक्सीन सबसे महत्वपूर्ण है। इसके साथ ही ये नया वैरिएंट इस बात के लिए भी सावधान करता है कि कोरोना महामारी का खतरा अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है इसलिए पहले की तरह ही कोविड प्रोटोकॉल्स का पालन करते रहना चाहिए।

भारत  सरकार ने जारी किया है नया गाइडलाइंस

कोरोना के नए वैरिएंट के खतरे को देखते हुए भारत सरकार ने कुछ दिशा निर्देश भी जारी कर दिए हैं। ये सभी नियम 1 दिसंबर से लागू कर दिए जाएंगे। 

  1. अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के पिछले 14 दिनों के ट्रेवल हिस्ट्री का रिकॉर्ड मांगा जाएगा। यानि वे पिछले 2 सप्ताह में किस-किस देश की यात्रा करके आए हैं उसका विवरण देना होगा। 

  2. दिल्ली में ओमिक्रोन के संभावित खतरे से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने आपात बैठक बुलाई है। आपदा प्रबंधन की टीम के सुझावों को देखते हुए दिल्ली में भी नए दिशा निर्देश जारी किए जा सकते हैं। एक्सपर्ट्स से भी सुझाव मांगे जा रहे हैं।

  3. उत्तराखंड में बाहर से आने वालों के लिए आरटीपीसीआऱ टेस्ट कराना अनिवार्य कर दिया गया है। राज्य की सीमा पर प्रवेश करने के दौरान आरटी पीसीआर टेस्ट करने का निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बाहर से आने वाले किसी भी यात्री में अगर कोविड के नए लक्षण पाए जाते हैं तो तुरंत परीक्षण किया जाए। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर 14 दिनों के लिए क्वेरेंटाइन में रखा जाएगा।  

  4. केंद्र सरकार ने ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका समेत ज्यादा जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले प्रत्येक यात्री के लिए 7 दिन के हम क्वेरेंटाइन को अनिवार्य कर दिया है। 

  5. इन देशों से आने वाले यात्रियों को हवाई अड्डे पर ही आरटी पीसीआर टेस्ट कराया जाएगा। जांच रिपोर्ट आने तक उनको वहीं इंतजार करना होगा। अगर रिपोर्ट निगेटिवा आती है तो 7 दिन के लिए होम क्वेरेंटाइन रहना होगा।

  6. बाहर से आने वाले यात्रियों को भारत आने से पहले ऑनलाइन एयर सुविधा पोर्टल पर अपने पिछले 14 दिन की यात्रा संबंधी विस्तृत जानकारी भरनी होगी।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Nov 29, 2021

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}