• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

बच्चों के लिए वैक्सीनेशन (Vaccination for kids) को लेकर सामने आया नया अपडेट

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 27, 2021

बच्चों के लिए वैक्सीनेशन Vaccination for kids को लेकर सामने आया नया अपडेट
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीनेशन करवाना सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। आपने भी वैक्सीनेशन करवा लिया होगा लेकिन सबसे जरूरी सवाल कि आखिर बच्चों के लिए कोविड वैक्सीनेशन की शुरुआत कब से होगी। बच्चों के लिए भी स्कूल फिर से शुरू किए जा रहे हैं और बच्चों ने स्कूल जाना भी शुरू कर दिया है लेकिन क्या ऐसे में उनके लिए वैक्सीनेशन जरूरी नहीं है? इसके अलावा आपके मन में इस तरह के सवाल उठ रहे होंगे कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए भी बच्चों के लिए वैक्सीनेशन जितनी जल्द हो जाए उतना बेहतर। तो चलिए, हम आपको इस ब्लॉग में बच्चों के वैक्सीनेशन (Vaccination for kids) को लेकर जो सबसे ताजा अपडेट है उसके बारे में विस्तार से जानकारी दे देते हैं।

ताजा अपडेट ये है कि  भारत बायोटेक की कोवैक्सिन (Covaxin) को कुछ शर्तों के साथ मार्केटिंग की मंजूरी मिल गई है लेकिन इसका ये कतई मतलब नहीं कि अब वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल में लाया जाएगा।  2 साल से 18 साल के बच्‍चों व किशोरों को यह वैक्‍सीन दिया जाएगा ये नहीं इस पर अंतिम फैसला आना अभी भी बाकी है। ड्रग्स कंटोलर जनरल ऑफ इंडिया की तरफ से मंजूरी मिलने के बाद वैक्सीनेशन को लेकर बनी  राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समिति की तरफ से भी इस डेटा को जांचा और पखा जाएगा। इसके बाद वहां से ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद ही कोवैक्सीन को बच्चों के टीकाकरण कार्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा। इससे पहले कोविड टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह के चेयरमैन प्रो. नरेंद्र अरोड़ा ने जानकारी देते हुए बताया है कि अक्टूबर से दिसंबर तक जायडस कैडिला की जायको-डी वैक्सीन की 3 से 5 करोड़ डोज मिलेंगी।

यहां ये भी जान लें- कोविड वैक्सीन और प्रजनन क्षमता से संबंधित सभी सवालों का जानें जवाब

प्रोफेसर नरेंद्र अरोड़ा ने जानकारी देते हुए कहा है कि इस वैक्सीन की तीन डोज लगनी है, और जाहिर है कि तैयारी भी उसके मुताबिक ही करनी होगी। वैक्सीनेशन कार्यक्रम को शुरू करने को लेकर प्रो. अरोड़ा ने कहा, यदि पहले बैच में एक करोड़ डोज आती है, तो पहले फेज में 33 लाख से ज्यादा बच्चों का पंजीकरण नहीं करना चाहिए। ये तय करना आवश्यक है कि जिन्हें पहली डोज लगे उन्हें 28वें दिन दूसरी और 56वें दिन तीसरी डोज भी लग सके। प्रो. नरेंद्र अरोड़ा के मुताबिक अगर बच्चे को वैक्सीन की पहली डोज आज लगी है तो दूसरी डोज 28वें दिन और फिर वैक्सीन की तीसरी डोज 56 वें दिन लग सकती है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने भी जानकारी देते हुए कहा था कि जल्द ही बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन शुरू होने की उम्मीद है। अभी अपने देश में 18 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए ही कोरोना की वैक्सीन दी जा रही है।

क्या आपके मन में भी उठ रहे हैं ये सवाल- वैक्सीनेशन के बाद क्या साइड इफेक्ट्स का होना जरूरी है?

इसके साथ ही एक और महत्वपूर्ण अपडेट सामने आ रहा है उसके बारे में भी आपको अवगत कराना चाहूंगा। केंद्र सरकार कोवीशील्ड वैक्सीन की दो डोज के बीच के अंतराल को भी कम करने पर विचार कर रही है। हम आपको बता दें कि कोवीशील्ड की दो डोज के बीच का अंतर पहले 4 से 6 हफ्ते का था लेकिन बाद में इसको बढ़ाकर 4 से 8 हफ्ते और अब 12 से 16 हफ्ते का कर दिया गया। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}