• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

कोविड वैक्सीन और प्रजनन क्षमता से संबंधित सभी सवालों का जानें जवाब

Dr Manju Puri
गर्भावस्था

Dr. Manju Puri के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 28, 2021

कोविड वैक्सीन और प्रजनन क्षमता से संबंधित सभी सवालों का जानें जवाब
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

18 साल से अधिक आयु वर्ग के सभी लोगों के लिए देशभर में एक मई से कोरोना का वैक्सीन शुरू कर दिया गया था। वैक्सीन को लेकर इस आयु वर्ग में सबसे अधिक जिज्ञासा भी है और आशंका भी, वैक्सीन और प्रजनन क्षमता को लेकर महिलाओं के मन में भ्रम है कि वैक्सीन लेने से वह भविष्य में गर्भधारण नहीं कर पाएगीं, वहीं युवाओं के मन में शंका है कि वैक्सीन उनकी प्रजनन क्षमता को प्रभावित करेगी। कोविड वैक्सीन को लेकर इस वर्ग की स्वास्थ्य संबंधी कई दिक्कतों पर हमने लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज की प्रसूति एवं स्त्री रोग विभाग की प्रमुख डॉ. मंजू पुरी से बात की- प्रस्तुत है उनसे हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

सवाल- क्या कोविड वैक्सीन प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है?

जवाब- वैक्सीन को शरीर में संक्रमण के कारक वायरस के खिलाफ प्रतिरक्षा तंत्र विकसित करने के लिए बनाया गया है, इसका अन्य किसी भी हार्मोन पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ता है। महिलाओं में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टोरेन को गर्भधारण के लिए कारक माना जाता है, वहीं पुरूषों में हार्मोन टेस्टोरेन प्रजनन क्षमता का निर्धारण करता है। कोविड की किसी भी वैक्सीन से हार्मोन पर किसी भी तरह का असर नहीं पड़ता, इसलिए वैक्सीन लेने के बाद संतानहीनता या प्रजननक्षमता कम होने के दीर्घकालीन परिणाम होने की संभावना लगभग न के बराबर है। सभी वैक्सीनों की प्रभावकारिता और गुणवत्ता की जांच के लिए सबसे पहले वैक्सीन का जानवरों पर परीक्षण किया जाता है, कोविड वैक्सीन को भी वैक्सीन प्रमाणिकता की सभी मानकों पर जांचा-परखा गया है।


सवाल- गर्भ निरोधक उपायों का सेवन करते हुए भी क्या कोविड वैक्सीन ले सकते हैं? क्या इसका कोई बुरा प्रभाव पड़ेगा?

जवाब- कुछ कांट्रेसेप्टिव या गर्भनिरोधक विकल्पों में स्टेरॉयड होता है। अधिकांश युगल दम्पतियों में यह आशंका है कि यदि वह परिवार नियोजन के लिए गर्भ निरोधक गोलियों का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उन्हें फिलहाल कोविड वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए। कुछ देशों में कोविड वैक्सीन लेने के बाद थांब्रोसाइसिस (खून का थक्का)बनने के मामले सामने आए हैं जिसका संबंध वैक्सीन के बाद शरीर में होने वाले इम्यून इंड्यूस्ड (प्रतिरक्षा प्रेरित)से लगाया जाता है। परंतु भारत के लोगों में खून के थक्के बनने की संख्या बहुत कम है इसलिए कोविड वैक्सीन परिवार नियोजन के साथ भी लिया जा सकता है।

सवाल- क्या महिलाओं को पीरियड्स या माहवारी के समय वैक्सीन नहीं लेना चाहिए?

जवाब- अधिकतर लोगों द्वारा यह कहा जा रहा है कि महिलाओं को माहवारी के तीन या चार दिन तक कोविड वैक्सीन नहीं लेना चाहिए, क्योंकि इस समय महिलाओं के शरीर में कुछ तरह के हार्मोनल्स बदलाव होते हैं। लेकिन वैक्सीन माहवारी में भी ली जा सकती है, हार्मोन संबंधी बदलाव को वैक्सीन प्रभावित नहीं करती है। महिलाएं किसी भी स्थिति में वैक्सीन ले सकती हैं। वैक्सीन लगवाने वाले दिन खाना खाकर जाएं और पानी साथ लेकर जाएं।

सवाल- क्या गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली महिलाएं भी वैक्सीन ले सकती हैं?

जवाब- भारत में लांच की गई कोरोना की किसी भी वैक्सीन का गर्भवती महिलाओं पर परीक्षण नहीं किया गया है, इसलिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ इस बात के लिए आश्वस्त नहीं हैं कि वैक्सीन गर्भवती महिलाओं या गर्भस्थ शिशु को किस प्रकार प्रभावित करेगी, लेकिन स्तनपान कराने वाली महिलाएं वैक्सीन ले सकती है। इससे उन्हें किसी तरह का नुकसान नहीं हैं। यदि वैक्सीन लगने के बाद हल्का बुखार हो तो उस स्थिति में शिशु को स्तनपान न कराएं।

सवाल- क्या पीसीओडी (पॉलिसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम) या यूटीआई (यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) की स्थिति में भी महिलाएं वैक्सीन ले सकती है?

जवाब- ऐसी किसी भी स्थिति में वैक्सीन का दुष्प्रभाव होगा, ऐसा फिलहाल नहीं देखा गया है। एहतियात के तौर पर कहा जाता है कि यदि पूर्व में कोई खून पतला करने वाली दवाओं का सेवन कर रहा है तो वैक्सीन लेने से पहले एक बार अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क कर लें। पीसीओडी या यूटीआई में वैक्सीन का दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है।

 सवाल-अकसर महिलाओं में थायराइड की समस्या होती है, यदि कोई महिला थायराइड की दवाओं का नियमित सेवन कर रही है क्या तभी वैक्सीन ले सकती है?
जवाब- जी बिल्कुल ले सकती हैं, जैसा कि मैने आपको पहले भी बताया कि वैक्सीन केवल संक्रमण के कारक वायरस के प्रति शरीर में प्रतिरक्षा तंत्र विकसित करती है, इसका हार्मोन्स या व्यक्ति के डीएनए पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ता है, इसलिए थॉयरॉयड की दवाओं का सेवन करने के दौरान भी वैक्सीन ली जा सकती है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}