• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग शिशु की देख - रेख

घर पर कैसे काटें नवजात शिशु के नाखून

स्पर्धा रानी
0 से 1 वर्ष

स्पर्धा रानी के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 09, 2021

घर पर कैसे काटें नवजात शिशु के नाखून
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

मुझे याद आता है कि जब मेरा बेटा कुछ महीनों का था तो उसका नाखून बढ़ने लगे थे तो कई दिनों तक डर से मैंने उसके नाखून नहीं काटे थे। तभी एक और बच्चे की मम्मी ने मुझे बताया था कि वह कैसे अपने नवजात शिशु के नाखून अपने दांतों से काट देती है। उसने मुझे भी ऐसे ही मेरे बेटे के नाखून काटने की सलाह दी थी। उस समय तो मैंने कुछ नहीं कहा था लेकिन मेरा मन अजीब सा हो गया था। यह आपबीती सिर्फ मेरी नहीं, बल्कि मेरी जैसी कई नई मांओं की है, जिन्हें पहली दफा समझ नहीं आता कि वह अपने फूल से कोमल बच्चे के नाखून कैसे काटें। नाखून काटना कोई बड़ा और भारी काम नहीं है, यह आपके नवजात शिशु की सफाई से जुड़ी जरूरी बात है। बावजूद इसके, नई मांओं को इसमें परेशानी होती है। सच कहा जाए तो उनकी ममता यह सोचकर उफान मारने लगती है कि हाय कहीं मेरे फूल से बच्चे को चोट लग गई तो क्या! लेकिन अगर आप अपने नवजात शिशु के नाखून नहीं काटेंगी तो उसे कई तरह के जर्म्स से छुटकारा कैसे मिलेगा और वह हाइजेनिक कैसे रहेगा? दरअसल नाखूनों के नीचे धूल, गंदगी और खराब बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं। ऐसे में जब नवजात शिशु अपने हाथ या पैर को अपने मुंह में लेते है तो ये आसानी से उसका मुंह के अंदर चले जाते हैं। ऐसे में समय- समय पर उसका नाखूनों को काटते रहना जरूरी है।

आपके नवजात शिशु के नाखून / newborn's nails In Hindi

आपके नवजात शिशु के नाखून बेहद सॉफ्ट होते हैं। वे बहुत फ्लेक्सिबल और तेजी से बढ़ने वाले भी होते हैं। इसलिए यदि आप समय से उनके नाखून नहीं काटेंगी तो इससे उन्हें ही नुकसान होगा। साथ ही अगर आप नाखून काटते समय ध्यान नहीं देंगी तो उनकी स्किन के कटने का खतरा बना रहता है। नवजात शिशु के नाखूनों को काटते समय उसके नाखूनों के आकार पर ध्यान देना भी जरूरी है। उनकी उंगली के आगे वाले हिस्से के आकार के अनुसार ही उनके नाखूनों का आकार भी होना चाहिए। आपके नवजात शिशु के हाथ के नाखूनों को हफ़्ते में एक बार काटने की जरूरत पड़ सकती है। लेकिन पैर के नाखूनों को अमूमन महीने में एक बार काटने से काम चल सकता है।

नवजात शिशु के नाखून काटते समय किन चीजों की जरूरत पड़ेगी / Cutting Your Baby's Nails in Hindi

नवजात शिशु का नाखून काटते समय इन चीजों की जरूरत पड़ सकती है। 

  • नाखून काटने वाली कैंची
  • नेल कटर/ क्लिपर
  • नेल फाइलर
  • बेबी मिटन
  • मोज़े
  • एंटी- बायोटिक क्रीम

नवजात शिशु के नाखून काटते समय किन बातों का रखें ध्यान / How to cut your baby's nails In Hindi

  1. रोशनी खूब हो- सबसे पहले और जरूरी बात यह है कि आप कभी भी अपने नवजात शिशु के नाखून रात में न काटें। ऐसा बड़े- बुजुर्ग भी कहते आए हैं लेकिन क्या आपने कभी इसके पीछे के कारण को जानने की कोशिश की है? ऐसा इसलिए क्योंकि, रात के समय पहले के जमाने में पर्याप्त रोशनी नहीं होती थी। अगर आपको लग रहा है कि रात में भी पर्याप्त रोशनी है तो आप रात का समय भी चुन सकती हैं। बस, ध्यान यह रखना है कि जिस जगह पर आप अपने नवजात शिशु के नाखून काट रही हैं, वहां खूब रोशनी हो, फिर चाहे दिन हो या रात।
     
  2. जब नवजात शिशु सो रहा हो- अमूमन बच्चे जब सो रहे होते हैं, तो वे शांत रहते हैं। इसलिए, उनके नाखून काटने का सबसे अच्छा समय यही है, जब वे गहरी नींद में होते हैं। ऐसे में उन्हें चोट लगने का खतरा भी नहीं रहता है।
     
  3. बेबी नेल क्लिपर/ कटर का इस्तेमाल- इन दिनों बाजार में और ऑनलाइन भी बेबी नेल क्लिपर/ कटर मिलने लगे हैं। इन्हें विशेष तौर पर नवजात शिशु के नाखून काटने के लिए ही बनाया जाता है। इसके कोने गोल और बिल्कुल भी नुकीले नहीं होते हैं। यही वजह है कि इससे उनकी स्किन कटने का खतरा कम रहता है।
     
  4. पानी में हाथ डुबोने के बाद काटें-  अगर आप अपने नवजात शिशु के नाखून उसके नहाने के तुरंत बाद काट सकती हैं तो उसी समय काटें। इस समय उनके नाखून और मुलायम हो जाते हैं। उन्हें काटना आसान रहता है। बाद में किसी और समय आप उसके हाथ और पैर को पानी मे थोड़ी देर भिगोकर रख सकती हैं। इससे नाखून सॉफ्ट हो जाते हैं।
     
  5. नाखून फाइल जरूर करें- बाजार में बच्चों के लिए अलग से फाइलर मौजूद है, जिसकी मदद से आप अपने नवजात शिशु के नाखून को फाइल कर सकती हैं। फाइलर सुनिश्चित करता है कि आपके नवजात शिशु के नाखून सही आकार में हों और जो बचे- खुचे बैक्टीरिया होंगे, वे भी दूर हो जाते हैं।
     
  6. मुंह से बिल्कुल न काटें- कुछ लोग अपने नवजात शिशु के नाखून अपने दांतों से काटते हैं। ऐसा बिल्कुल ना करें। इस तरह से आपके मुंह के बैक्टीरिया उसके हाथ या पैर में चले जाते हैं। इससे उनके बीमार पड़ने का खतरा होता है।
     
  7. अगर गलती से कट जाए उनकी स्किन- अगर ऐसा होता है तो सबसे पहली बात बिल्कुल न घबराएं। चोट को साफ रुई से पानी से साफ करें। कोई स्टेरिलाइज कपडा या गॉज लगा दें। जब तक कि खून का बहना कम न हो, उसकी उंगली को हल्के से दबाकर रखें। एक एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल क्रीम लगाएं।

अपने नवजात शिशु को साफ रखने का पहला कदम उसके नाखूनों को काटना है। इसे साफ और सुरक्षित तरीके से करना जरूरी है। अगर आपको नाखून काटने को लेकर कोई सवाल या चिंता है तो आप अपने नवजात शिशु के पेडियाट्रिशियन से पूछ सकते हैं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप पेरेंटिंग ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}