• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्पेशल नीड्स बाहरी गतिविधियाँ

Cyclone AMPHAN : चक्रवात से कैसे बचें : क्या करें और क्या नहीं करें

Prasoon Pankaj
0 से 1 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया May 03, 2019

Cyclone AMPHAN चक्रवात से कैसे बचें क्या करें और क्या नहीं करें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

देश में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच एक और बड़ी आफत चक्रवात AMPHAN के रूप में सामने आने की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के द्वारा जारी किए गए एलर्ट के मुताबिक सोमवार की शाम ओडिशा के कई ज़िलों में जमकर बारिश के साथ जोरदार हवाएं चल सकती हैं इसके अलावा पश्चिम बंगाल, बिहार के भी कई इलाकों में भयंकर बारिश के संग तूफान आ सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक 21 मई को सिक्किम में भी जोरदार बारिश हो सकती है। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात ‘अम्फान’ बहुत तेज़ गती से सुपर साइक्लोन में बदल रहा है।

  • चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के बारे में बताया जा रहा है कि बुधवार को 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं के साथ यह पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट से टकरा सकता है
  • मौसम विभाग से मिल रही जानकारी के मुताबिक 20 मई को यह चक्रवात पश्चिम बंगाल एवं बांग्लादेश तट के बीच से गुजरेगा।  इस दौरान 155-165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जो कभी भी 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘अम्फान’ को लेकर उच्चस्तरीय बैठक कर रहे हैं जिसमें एनडीएमए और एनडीआरएफ के अधिकारी भी मौजूद हैं।
  • मिल रही जानकारियों के मुताबिक ओडिशा सरकार इन संवेदनशील इलाकों में रहने वाले तकरीबन 11 लाख लोगों को निकालने की तैयारी कर रहा है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल सरकार ने भी तटीय इलाकों के लिए एलर्ट जारी कर दिया है।

 मौसम विभाग की तरफ से ओडिशा, यूपी, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, तमिलनाडु एवं अन्य इलाकों में एलर्ट जारी किया गया है। ऐसे हालात में ये सबसे जरूरी बात है कि आप एहतियात बरतें और सुरक्षा के लिहाज से ये जरूर जान लें कि आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए।


चक्रवात के दौरान क्या करें और क्या नहीं करें / Cyclone: Do's & Don't for Your Home In Hindi

 राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) की तरफ से चक्रवात की स्थिति में बचाव के कुछ महत्वपूर्ण उपाय बताए गए हैं।

चक्रवात के आने से पहले क्या करें

  1. शांत रहें, घबराए नहीं और अफवाहों पर ध्यान ना दें 
  2. लोगों से संपर्क में बने रहने के लिए अपने मोबाइल को चार्ज रखें और एसएमएस के माध्यम से संपर्क करें । मोबाइल के लिए पॉवर बैंक को भी चार्ज कर लें।
  3. अपने घर में खाने के वैसे सामान का स्टॉक कर लें जो जल्द खराब नहीं होते हों।
  4. मकान के आसपास लगे सूखे पेड़ों को जरूर कटवा दें
  5. घर में बैटरी के सेल को जरूर चेक कर लें। लालटेन में मिट्टी तेल का इंतजाम कर लें। अगर मान लिया जाए कि किन्हीं वजहों से 2 या 3 दिनों के लिए बिजली की समस्या रहे तो आपको अंधेरे में नहीं रहना पड़े इसकी व्यवस्था जरूर कर लें।
  6. अगर जिला प्रशासन की तरफ से इलाके को खाली करने का निर्देश दिया गया है तो अपने मकान या दुकान का मोह छोड़ कर सुरक्षित ठिकानों पर जरूर चले जाएं।
  7. मौसम के ताजा अपडेट को जानने के लिए रेडियो, टीवी और अखबार पर ध्यान दें
  8. रोजमर्रा की जरूरी और कीमती सामानों को वाटरप्रूफ बैग में रखें 
  9. एक किट तैयार कर लें जिसमें सुरक्षित रहने के लिए जरूरी सामान हो
  10. आप अपने मकान में चेक कर लें। अगर आपको लगता है कि कोई टाइल्स, दीवाल, दरवाजे-खिड़कियां हिल रही हों तो मरम्मत करा लें और कोई नुकीला सामान खुला ना छोड़ें 
  11. अगर आपके घर के आसपास कोई जर्जर इमारत है तो प्रशासन को इसके बारे में इत्तिला जरूर कर दें।
  12. अगर आपके घर में पालतु पशु हैं तो उनको सुरक्षित रखने के लिए उन्हें बांधकर न रखें
  13. चक्रवात के समय में तेज बारिश भी होती है तो इसलिए आपके घर में भी पानी घुसने की संभावना बनी रहती है।


चक्रवात के दौरान या बाद में क्या करें (अगर आप घर के अंदर हों

  1. सबसे जरूरी बात कि बिजली का मेन स्विच और गैस सप्लाई बंद कर दें 
  2. अपने घर के दरवाजों और खिड़कियों को बंद रखें 
  3. अगर घर असुरक्षित हो तो चक्रवात से पहले किसी सुरक्षित स्थान पर चले जाएं 
  4. रेडियो, टीवी या इंटरनेट के माध्यम से जानकारी को अपडेट रखें 
  5. उबला हुआ पानी या क्लोरीनयुक्त पानी ही पिएं 
  6. केवल उसी चेतावनी को गंभीरता से लें जो आधिकारिक हो 
  7. जब बहुत जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकलें

चक्रवात के दौरान या बाद में क्या करें (अगर आप घर के बाहर हों)

  • टूटी हुई इमारतों में न जाएं
  • टूटे बिजली के खंबों, तारों और नुकीली चीजों से बचें 
  • कोशिश करें कि किसी सुरक्षित स्थान पर पहुंचें

आप इन जरूरी बातों का ध्यान रखें और धैर्य ना खोएं। प्रशासन की तरफ से सुरक्षा के सारे इंतजाम किए जा रहे हैं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्पेशल नीड्स ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}