• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

क्या आपके बच्चे के दूध के दांत अभी तक नहीं गिरे हैं

Parentune Support
1 से 3 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jul 01, 2020

क्या आपके बच्चे के दूध के दांत अभी तक नहीं गिरे हैं
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

बच्चों के दूध के दांत को लेकर आपने बुजुर्गों से कई कहानियां सुनी होंगी, लेकिन आजकल ये सब धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। कई पैरेंट्स दांत के आने व गिरने को सामान्य प्रक्रिया मानते हैं। कई को इसकी सही जानकारी नहीं होती है। ऐसे में वे बच्चे के दूध के दांतों को यह सोचकर नजरअंदाज कर देते हैं कि ये हमेशा नहीं रहने वाले, ये जल्द ही टूट जाएंगे। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो आपको थोड़ा सावधानी बरतने की जरूरत है। दरअसल इस टाइम पीरियड में आपको काफी सावधानी बरतने की जरूरत होती है। इससे आपका बच्चा सवस्थ रहेगा और उसे किसी भी तरह की परेशानी नहीं होगी। आज हम लेकर आए हैं उन पैरेंट्स के लिए खास जानकारी, जिनके बच्चे के दूध के दांत अभी गिरे नहीं हैं। 

 

क्या है प्रक्रिया

दूध के दांत 20 होते हैं। ये 6 महीने से लेकर 1 साल की उम्र के बीच किसी भी समय आने लगते हैं। बच्चा जब 3-4 साल का हो जाता है, तो उसके सारे दूध के दांत निकल आते हैं। वहीं ये दांत तब टूटना शुरू हो जाते हैं, जब उनके नीचे स्थायी दांत निकलने वाले होते हैं। कुल मिलाकर 6-8 साल की उम्र के बीच ये टूटना शुरू हो जाते हैं। पहले सामने के निचले 2 दांत 6 साल की उम्र में गिरते हैं। इसके बाद धीरे-धीरे दूध के बाकी दांत भी 2-4 साल में गिर जाते हैं।

 

इन बातों का रखें ध्यान

  1. दांतों की सफाई जरूरी – अगर आपके बच्चे के भी दूध के दांत हैं, तो उन्हें रोजाना साफ कीजिए। दरअसल दूध के दांत की जगह पर ही स्थायी दांत आते हैं। 1 साल की उम्र के बाद बच्चों के दांतों को नरम ब्रश से साफ करना चाहिए।
  2. काफी ध्यान की जरूरत – कई बार बच्चा दूध पीते-पीते सो जाता है, तो ब्रेस्ट या बोतल के दूध की आखिरी घूंट को वह उसी वक्त नहीं निगलता। यह दूध उसके दांतों के आसपास जमा हो जाता है और नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि दूध दांत के पास न आटका हो।
  3. डायरिया का डर – दूध के दांत निकलने के कारण बच्चों के मसूड़ों में दर्द, अधिक लार बनना, भूख कम लगना, नींद न आना जैसी दिक्कतें होने लगती हैं। इन सबसे बच्चे चिड़चिड़े हो जाते हैं और आराम के लिए अपनी उंगलियां या खिलौने को मुंह में डालते हैं। इन सबसे गंदगी उसके मुंह में जाती है और डायरिया व बुखार का खतरा रहता है। इस स्थिति से बचने के लिए जरूरी है कि आप दूध के दांत निकलते वक्त बच्चे का खास ध्यान रखें। बुखार या डायरिया अगर हो भी जाए, तो उसे दांत निकलने की प्रक्रिया न समझें। फौरन बच्चे को डॉक्टर के पास ले जाएं। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 3
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Dec 21, 2019

Mera beta 5 saal, 9mahine ka h uske milk teeth toote bina hi permanent teeth nikalne shuru ho gye hai..... kya kiya jaye?

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Aug 18, 2020

Main ab 18 ka ho chuka hun mere samne niche ke do dant bahut chote hai doctor ko dikhaya to bole doodh ka dant nhi tuta hai mujhe malum nhi tuta hai ya phir nhi kya uske jagah pe dusre dant aa sakte hai

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Sep 23, 2020

Mere bete ki umar 6 aur half saal hai magar av tk iske dudh k 1 v dath nhi gire, kya ye achi bat hai ya mujhe kisi dentist se salah leni chahiye

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}