पेरेंटिंग

दूसरे बच्चे का आना आपके सामने लायेगा ये 7 चुनौतियाँ, करें पहले से तैयारी

Parentune Support
3 से 7 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 16, 2018

दूसरे बच्चे का आना आपके सामने लायेगा ये 7 चुनौतियाँ करें पहले से तैयारी

घर में दूसरे बच्चे का आना आपकी और आपके परिवार की ज़िन्दगी को पूरी तरह बदल सकता है. आपको कई सारी बातों का ख़याल रखना होता है. अभिभावक के तौर पर आपकी ज़िम्मेदारी दोगुनी हो जाती है. थोड़ी सी तैयारी के साथ आप इस ज़िम्मेदारी को कहीं बेहतर तरीक़े से निभा सकते हैं, बस आपको ख़ुद को इन चुनौतियों के लिए तैयार करना होगा.
 

1. आपकी भावनाएं:

कई माओं को दूसरे बच्चे के आने पर भावनात्मक असमंजस होती है. पहले बच्चे से भावनात्मक रूप से बहुत ज़्यादा जुड़े होने के कारण ये समस्या पेश आती है. हो सकता है अब आपको पहले बच्चे के साथ उतना ज़्यादा समय बिताने को न मिले. इस स्तिथि में आप सोचें कि असल में आपने अपने बच्चे को बहन/भाई के रूप में एक अनमोल तोहफ़ा दिया  है.
 

2. पहले बच्चे की प्रतिक्रिया

हो सकता है कि आपका पहला बच्चा नए सदस्य को अपनाने में थोड़ा समय लगाये. अगर वो नाखुश लगे तो आपको उससे इस बारे में बात करनी चाहिए ताकि वो पहले ही इस बदलाव के लिए तैयार हो सके. उसे बच्चे के साथ ज़्यादा समय बिताने का मौका दें.
 

3. कम समय मिलना

पहले बच्चे के समय में आपको उसके साथ एक भावनात्मक रिश्ता कायम करने के लिए पर्याप्त समय मिलता है. दूसरे बच्चे के समय में आपके पास दोहरी ज़िम्मेदारी होती है. आपको एक साथ दो बच्चों का ख्याल रखना होता है. ऐसे में आप अपने साथी या किसी रिश्तेदार की मदद लेकर बड़े बच्चे की ज़िम्मेदारी बाँट सकते हैं ताकि आपको दूसरे बच्चे के साथ अच्छा समय व्यतीत करने का मौका मिले.
 

4. पर्याप्त नींद न मिलना

दो बच्चों को सँभालते हुए हो सकता है कि आपको आराम करने का समय न मिले. आप उस वक़्त फ़ुर्सत के कुछ पल बिता सकते हैं, जब आपके बच्चे सो रहे हों. आपके शरीर और दिमाग़ को इस वक़्त पर्याप्त नींद की ज़रूरत होती है, आपको किसी तरह अपने लिए भी समय निकालना चाहिए
 

5. घर से बाहर जाना

दो बच्चों की ज़िम्मेदारी आ जाने पर कई बार ऐसा होगा कि आप बाहर जाने के प्लान नहीं बना पाएंगे या बने हुए प्लान्स को कैंसल करना पड़ेगा. ऐसे में निराश न हों और धैर्य रखें. बाहर जाने का प्लान बने तो पहले ही बच्चों की ज़रूरत का सामान अपने साथ रख लें. लम्बे सफ़र को कुछ समय तक अवॉयड करें
 

6. बड़े बच्चे के लिए समय निकालना

बड़े बच्चे को दूसरे बच्चे के आने पर ऐसा महसूस होने देना कि उस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है, बहुत बड़ी भूल हो सकता है. आपको हर वक़्त ये खयाल रखना चाहिए कि बड़े बच्चे को ऐसा महसूस न हो और वो भी छोटे बच्चे को अपनी ज़िम्मेदारी समझे. उसके लिए समय ज़रूर निकालें
 

7. अपने रिलेशनशिप को समय देना

दूसरा बच्चा आने पर समय न मिल पाना सबसे बड़ी चुनौती होती है. कई बार तो आपको अपने साथी के साथ भी अच्छा समय बिताने का मौका नहीं मिल पाता, क्योंकि आप बच्चों की देख-रेख में बहुत व्यस्त हो जाते हैं. जब भी समय मिले, एक-दूसरे से बात करते रहें. साथ मिल कर बच्चों की देख-रेख करें, इसी बहाने आपको साथ समय बिताने का मौका भी मिल जायेगा.

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}