• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
समारोह और त्यौहार

त्योहार जरूर मनाएं लेकिन कोविड व्यवहार के संग

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 01, 2021

त्योहार जरूर मनाएं लेकिन कोविड व्यवहार के संग
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

त्योहारों का इंतजार साल भर रहता है और अब तो त्योहारों का सीजन शुरू हो चुका है। नवरात्रि यानि की दुर्गापूजा, दशहरा, दीपावली, भैया दूज, छठ पूजा ये सारे पर्व एक के बाद एक लगातार आ रहे हैं। त्योहारों में बच्चों का उमंग तो देखने लायक होता है लेकिन...अब आप सोच रहे होंगे कि त्योहारों की खुशियों के बीच ये लेकिन क्यो? ये लेकिन इसलिए क्योंकि त्योहार जरूर मनाएं लेकिन कोविड व्यवहार के अनुकुल। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से भी इस विषय को लेकर लोगों को सतर्कता बरतने के लिए जागरुक किया जा रहा है।

त्योहारों को कैसे मनाएं कोविड व्यवहार के मुताबिक?/ covid appropriate behaviour during festival In Hindi

त्योहारों के सीजन में आपने खुद भी नोटिस किया होगा कि आम दिनों की तुलना में बाजार में दुकानों में मॉल्स में हर जगह कुछ ज्यादा ही भीड़ नजर आने लगते हैं। कोरोना के मामलों में कमी जरूर आई है लेकिन कोरोना का खतरा अब भी टला नहीं है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर बहुत सारे एक्सपर्ट्स ने आशंका जाहिर की है तो ऐसे हालातों में हमें लापरवाही तो कतई नहीं बरतनी चाहिए। सतर्कता औऱ सावधानी इसलिए भी जरूरी है कि भले हम में से अधिकांश लोगों ने वैक्सीनेशन की दोनों डोज को ले लिया है लेकिन हमारे बच्चों का अब तक कोविड वैक्सीनेशन नहीं हो पाया है और इसलिए ये ज्यादा जरूरी है कि हम कोविड व्यवहार के मुताबिक आचरण का पालन करते रहें। 

  • कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए त्योहारों का आनंद उठाते रहें। सबसे जरूरी बात की अगर आप 18 साल से अधिक उम्र के हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी है कि कोविड वैक्सीनेशन जरूर करवा लें।

  • लंबी यात्रा करने से बचें- त्योहारों के सीजन में ज्यादातर लोग परिवार के संग लंबी यात्रा का प्लान कर लेते हैं, अभी आपको इस तरह के यात्रा का प्लान बनाने से बचना चाहिए, खास तौर से अभी बच्चों के संग ट्रैवल करने की योजना को तो त्याग ही कर देना चाहिए। सामान्य दिनों की तुलना में अभी फेस्टिवल सीजन में ट्रेन और फ्लाइट में टिकट बुकिंग भी आसानी से नहीं हो पाता है इसलिए जब तक हालात पूरी तरह से बेहतर नहीं हो पाते हैं तब तक त्योहारों का आनंद आप अपने घर पर ही उठाएं यही सबसे अच्छा विकल्प है।

  • पूजा पंडाल या भीड़भाड़ से बचें- दुर्गापूजा और दशहरा के दौरान रामलीला के मेले में एक साथ और एक ही समय में बहुत ज्यादा भीड़ इकट्ठा हो जाते हैं। एक्सपर्ट्स का सुझाव है कि इन जगहों पर  गर्भवती महिलाएं, बुजुर्गों और छोटे बच्चों को साथ लेकर ना ही जाएं तो ज्यादा अच्छा। पूजा पंडालों में भी भीड़ के चलते संक्रमण फैलने का खतरा हो सकता है इसलिए सुझाव दिया जाता है कि इन स्थानों पर अगर जाना ही है तो ऐसे समय में जाएं जब ज्यादा भीड़ इकट्ठा ना हो और इसके साथ ही ये भी ध्यान रखें कि आयोजकों के द्वारा कोविड प्रोटोकॉल का अच्छे से पालन किया जा रहा हो।

  • एक्सपर्ट हमेशा बताते रहते हैं कि कोरोना से सुरक्षित रहने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप स्वस्थ स्वास्थ्य व्यवहार को हमेशा के लिए अपना लें। अब आप सोच रहे होंगे कि स्वस्थ स्वास्थ्य व्यवहार क्या है? दरअसल हम अपने जीवन में कुछ छोटी लेकिन अति महत्वपूर्ण बातों को अगर अपनी आदतों में शुमार कर लें तो हम स्वस्थ व सुरक्षित रहेंगे। जैसे कि सार्वजनकि जगहों पर खांसते या छींकने के दौरान अपने मुंह व वाक को रूमाल या टिश्यू पेपर से अवश्य ढ़क लें। इसके बाद टिश्यू या मास्क को इधर उधर फेंकने की बजाय किसी डस्टबिन में ही डालें। समय समय पर अपने हाथों को साबुन से धोते रहें या सैनिटाइजर से स्वच्छ करते रहें। 

  • त्योहार के दिनों में घर से बाहर का खाना या फूड आइट्मस से परहेज रखें- त्योहारों के मौसम में आपके लिए ये आवश्यक है कि घर में ही अच्छे पकवान या मिठाई तैयार करें। त्योहार के दिनों में मिलावटी मिठाई की कई खबरें आते रहते हैं। दूसरी बात की जब आप बाहर का खाना मंगवाते हैं तो वो कई हाथों से गुजरकर आपके पास पहुंचता है और इससे भी संक्रमित होने का खतरा हो सकता है। 

  • अगर आप त्योहार के दिनों में किसी रिश्तेदार या दोस्त के घर जा रहे हैं तो सार्वजनिक वाहनों का प्रयोग करने के समय में खास सावधानियां बरतें। अगर आप यात्रा कर रहे हैं तो मास्क का प्रयोग करें। कुछ लोग मास्क को इसलिए पहनते हैं ताकि वे पेनल्टी या जुर्माने से बच सकें लेकिन मास्क आपकी सुरक्षा के लिए है इसलिए मास्क की मदद से अपने नाक और मुंह को अच्छे से ढ़क कर रखें। सार्वजनिक वाहनों में एक दूसरे से दूरी का मेंटेन करते रहें। मेट्रो बस की खिड़कियां या दरवाजे को छूने से बचें। अपने पास में सैनिटाइजर अवश्य रखें और समय समय पर हाथों को सैनिटाइज करते रहें। एक बार और बता दूं की यात्रा के दौरान बस या मेट्रो में बाहर का कुछ भी खाने-पीने से अवश्य बचें।

  • याद रहे कि कोरोना की तीसरी लहर को लेकर तमाम प्रकार के एक्सपर्ट आगाह कर रहे हैं और वे बताते हैं की तीसरा चरण कभी भी दस्तक दे सकते हैं। इसलिए दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी के नियमों का पालन करना ही आपके बचाव का सबसे बड़ा उपाय है।

  • आपके आसपास के कुछ लोग आपको कह सकते हैं कि अब सब बढिया हो गया है लेकिन आप इन बातों पर ध्यान ना दें और सदैव किसी एक्सपर्ट के सुझावों का ही पालन करें। खुद तो मास्क पहने ही इसके साथ ही अपने करीबी लोगों को भी मास्क पहनने के लिए प्रेरित करें। 

देश के ग्रामीण इलाकों में शारीरिक दूरी, मास्क और सैनिटाइजर के नियमों का बखूबी पालन नहीं हो रहा है, खासतौर से त्योहारों के दिनों में इन इलाकों में लगने वाले मेले और पूजा पंडालों में भीड़ बिल्कुल बेपरवाह हो जाते हैं। ऐसे में ये बहुत आवश्यक है कि आप अपने घरों में ही रहकर त्योहार व उत्सव मनाएं। खुद भी जागरुक रहें और दूसरों को भी जागरुक करें। त्योहार जरूर मनाएं लेकिन कोविड व्यवहार का पालन करते हुए।

#Unite2FightCorona

#StaySafeStayHealthy

#IndiaFightsCorona:

#TyoharonKeRangCABKeSang 

#COVIDSafeFestivities

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप समारोह और त्यौहार ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}