Pregnancy

गर्भावस्था में खारिश (खुजली) की समस्या से बचने के उपाय

Ridhi Doomra
Pregnancy

Created by Ridhi Doomra
Updated on Jun 10, 2018

गर्भावस्था में खारिश खुजली की समस्या से बचने के उपाय

गर्भावस्था आपके शरीर के लिए बहुत से मेटाबोलिक और हारमोनल बदलाव साथ लेकर आती है और इन्ही बदलावों की वजह से गर्भावस्था के दौरान खारिश (खुजली) की समस्या होती है। जैसे-जैसे गर्भावस्था आगे बढ़ती है आपको पेट और स्तनों के पास खुजली की परेशानी हो सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि भ्रूण का आकार बढ़ने की वजह पेट का आकार भी बढ़ता है। इस बढ़त से तालमेल बिठाने के लिए पेट की बाहरी त्वचा में खिंचाव पैदा होता है जिसकी वजह से खुजली होती है। इसके अलावा, यदि आपकी त्वचा खुष्क है तो खुजली की परेशानी बढ़ने के साथ-साथ ज्यादा महसूस होती है .... इसलिए इस लेख को ध्यान से पढ़ें और पता लगाएं कि क्या आपको खुजली होने की असल वजह क्या है और क्या इसी वजह से कुछ माताएं खुजली की समस्या से दूसरों की तुलना में ज्यादा परेशान रहती हैं।

 

गर्भावस्था के दौरान खुजली होने की क्या वजह है?

आमतौर पर, जैसा मैनें पहले बताया है कि गर्भावस्था में खुजली उन बदलावों की वजह से होती है जिनसे आपका शरीर गर्भावस्था के दौरान गुजरता है। हालांकि कभी-कभी गर्भावस्था में ली जाने वाली कुछ खास दवाएं भी खुजली की वजह हो सकती हैं, जिसके लिए आपको अपने डाक्टर से परामर्श करने की जरूरत है। कभी-कभी तेज खुजली के कुछ और लक्षण भी दिखाई देते हैं और ऐसे में डाक्टरी सलाह जरूरी हो जाती है। इनमें से 3 जो सबसे खास हैं-

1. गहरे रंग का पेशाब होना

2. असामान्य शौच होना

3. आंखो और त्वचा में पीलापन होना

 

क्या त्वचा पर खिंचाव के निशान खुजली की वजह से होते हैं?

खुजली, त्वचा पर खिंचाव के निशानों की वजह नहीं होती लेकिन खारिश से आराम पाने के लिए जब आप उस जगह पर खुजाते हैं तो इसकी वजह से त्वचा पर खरोंच के निशान बनते हैं। मिसाल के लिए, जब एक हवा से पूरे भरे गुब्बारे को यदि आप अपने नाखूनों से खंरोचते हैं तो गुब्बारे की सतह पर खंरोच के निशान दिखाई देने लगते हैं और यही गर्भावस्था में आपके फूले हुए पेट के साथ होता है। गर्भावस्था में आपके पेट की मांसपेशियां खिंच जाती हैं और जब आप आराम पाने के लिए पेट पर खुजली करती हैं तो इसके निशान वहां बने रह जाते हैं और प्रसव के बाद ज्यादा साफ दिखाई देने लगते हैं और खिंचाव के निशान बनने की यही वजह है।

 

क्या है गर्भावस्था में लगातार होने वाली खुजली का इलाज?

गर्भावस्था में लगातार होने वाले खुजली परेशान करने के साथ-साथ हताशा भी पैदा कर देती है तो इसे काबू करने और इसके इलाज के लिए आप क्या करेंगी? यहाँ पर 4 आसान से तरीके बताए गए हैं जो लगातार होने वाली खुजली से निपटने में आपकी मदद करेंग-

1. खूब पानी पिएंः ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं जिससे शरीर में पानी का स्तर अच्छा रहे। यह आपकी त्वचा को मुलायम और लचीला रखता है जिससे खुजली की परेषानी में आराम मिलता है।

2. हल्के तेल की मालिशः खुजली वाली जगह पर नारियल तेल से मालिश करें इससे त्वचा की नमी बरकरार रहती है।

3. बदन पोछते समय ज्यादा जोर न लगाएंः बदन सुखाने के लिए पोछते समय ज्यादा जोर न लगाएं और पोछ लेने के बाद खुजली से आराम के लिए बदन पर कोई तेल लगाएं। यह कमाल का काम करता है और शरीर की नमी को बरकरार रखता है जिससे खुजली होने की कम संभावना रहती है।

4. कपड़े/बर्तन धोने के लिए हल्के डिटर्जेंट का इस्तेमालः पक्का करें कपड़े/बर्तन धोने के लिए किसी हल्के डिटर्जेंट का इस्तेमाल हो। यह भी ध्यान रखें कि पहनने के कपड़े साफ-सुथरे हों और धोते समय उनमें से साबुन के अंश पूरी तरह निकाले गये हों क्योंकि वे खुजली की तकलीफ बढ़ाते हैं।

 

मेरे पेट में रात के समय खुजली क्यों होती है?

हालांकि गर्भावस्था में हल्की-फुल्की खुजली होना आम बात है लेकिन रात में ज्यादा और परेशान करने वाली खुजली होने पर बेहतर होगा कि आप अपने डाक्टर से सलाह लें क्योंकि इसके लिए आपको तुरंत इलाज की जरूरत पड़ सकती है। तो यदि सभीकुछ करने के बाद भी आपके पेट में रात में खुजली होना जारी रहता है तो यह अपने डाक्टर से सलाह लेने का यह सही समय है।

      

क्या गर्भावस्था में खुजली से शिशु के लड़का या लड़की होने का संकेत मिलता है?

यह एक मनगढंत बात है कि खुजली होने से आप भ्रूण में होने वाले शिशु के लड़का या लड़की होने के बारे में पता कर सकते हैं। जब मैं गर्भवती थी तो मुझे बताया गया कि यदि मुझे बांई ओर खुजली है तो यह लड़की होने और दांई तरफ खुजली लड़का होने का संकेत है। हे भगवान...क्या दांई और क्या बांई....मुझे तो पूरे पेट में खुजली हो रही थी!!! तो मेरी प्यारी बहनों, इन बातों में कोई सच्चाई नहीं है और इन बातों पर ध्यान देने के बजाय अपनी खुजली का इलाज कराना बेहतर है।

 

गर्भावस्था में खुजली से बचने के घरेलू इलाज

हालांकि, खुजली से बचने के लिए कुछ कुदरती इलाज मौजूद हैं जिन्हें आप घर में ही इस्तेमाल कर सकती हैं लेकिन फिर भी ज्यादा खुजली होने के मामले में मेरी सलाह है कि आप अपनी महिला रोग विशेषज्ञ से सलाह लें। यहाँ ऐसे 7 तरीके बताए जा रहे हैं जिन्हें गर्भावस्था में खुजली की परेशानी से आराम पाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है-

1. ठंडे कपड़ा रखनाः जब भी आपको पेट या स्तनों के आसपास की जगह पर खुजली महसूस हो, मलमल के कपड़े में कुछ बर्फ के टुकड़े लपेटकर उस जगह पर तब तक लगाएं/फिराएं, जब तक खुजली होना कम न हो।

2. त्वचा की नमी बनाए रखेंः त्वचा की नमी बनाए रखने के लिए सुगंध रहित क्रीम का इस्तेमाल करें। त्वचा को मुलायम और लचीला रखने के लिए आप कोको मक्खन का इस्तेमाल भी कर सकती हैं और इसे लगाने से काफी देर तक खुजली से बचा जा सकता है।

3. शरीर में पानी का स्तरः जैसे आपकी त्वचा को ऊपर से नम और कोमल बनाए रखना जरूरी है उसी तरह अंदरूनी तौर पर भी त्वचा की नमी और कोमलता बनाए रखना जरूरी है, इसलिए यह भी जरूरी है कि आप ज्यादा से ज्यादा से पानी पिएं जिससे शरीर के जहरीले पदार्थ बाहर निकलें और आपकी त्वचा की मुलायम और लचीली रहे।

4. साधारण कपड़े पहननाः ऐसे कपड़े पहने जो कुदतरी रेशों से बने हों जैसे सूती कपड़े। इससे त्वचा तक हवा पंहुचती रहती है और कुछ हद तक खुजली की परेशानी को कम किया जा सकता है।

5. खुश्बूदार चीजों से बचेंः बिल्कुल! ऐसी कोई भी चीज जैसे नहाने का साबुन, इत्र या बदन की बदबू दूर करने वाले स्प्रे। क्योंकि ये सारी चीजें त्वचा की जलन को बढ़ाती हैं और खुजली होने की वजह बनती हैं तो हल्के खुश्बू वाले साबुन और दूसरी चीजों को इस्तेमाल बेहतर है और हो सके तो इत्र और डिओड्रेंट का इस्तेमाल न ही करें तो बेहतर है।

6. गर्म पानी से नहाना बंद करेंः जी हाँ!! गर्म पानी से नहाना, त्वचा को खुष्क बनाता है जो खुजली की परेशानी को बदतर कर देता है। तो गर्म पानी से नहाने से परहेज करें। अगर आप गर्म पानी से नहाने के आदी हैं तो गुनगुने पानी से नहाएं जिससे त्वचा पूरी तरह से खुष्क न होने पाए, जो खुजली की बड़ी वजह है।

7. एलोवेरा की मदद लेंः त्वचा की खुजली और जलन से राहत पाने के लिए आप एलोवेरा का इस्तेमाल भी कर सकती है क्योंकि यह खुजली की कुदरती दवा है। इसे दवाइयों की दुकान से खरीद लें या चाहें तो इसके पौधे से निकलने वाले तेल/जैल को इकठ्ठा करें और खुजली होने वाली जगह पर लगा लें।

 

अगर आपकी त्वचा में ज्यादा चकत्ते हैं और खुजली भी ज्यादा है तो तकलीफ से पूरी राहत दिलाने के लिए यह तरीके काफी नहीं हैं। अपने डाक्टर से बात करें, आपको केवल त्वचा संबधी या इसके साथ सम्पूर्ण शरीर क्रिया संबधी इलाज की जरूरत हो सकती है।

 

खुश रहें और स्वस्थ रहें!!

 

गर्भावस्था में खारिश (खुजली) के बारे रिद्धी द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगी? आपने गर्भावस्था में इस परेशानी से बचने के लिए क्या किया, हमें जरूर बताएं। हमें यह जानकर अच्छा लगेगा।

 

  • Comment
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ START A BLOG
Top Pregnancy Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error