Health and Wellness

घरेलू उपचार अपने बच्चे के बालों के जुओं के लिए

Parentune Support
3 to 7 years

Created by Parentune Support
Updated on Dec 20, 2017

घरेलू उपचार अपने बच्चे के बालों के जुओं के लिए

बच्चों के बालों में जूओं का होना एक आम समस्या है। जुओं के होने पर सिर में बहुत अधिक खुजली होने लगती है। जूं एक परजीवी कीड़ा है जो मनुष्य के खून को अपनी खुराक बनती है। एक जूं महीने में 50 से 100 अंडे दे सकती है, और जूएँ ये अंडे हमारे सिर में रहकर देती है। 10 दिन के अंदर ये अंडे (जिन्हें सामान्य भाषा में लीख कहा जाता है), अपना सामान्य रूप ले लेते हैं। । जूएं बालों में आसानी से छुप जाती हैं। जुएं एक बार सिर में आ जाने के बाद काफी तेज़ी से बढ़ते हैं अतः कुछ दिनों में इन्हें निकाल पाना संभव नहीं हो पाता। जूओं के कारण खुजली होने से संक्रमण होने का भय बना रहता है।
 

जुएं तेजी से, एक बच्चे से दूसरे बच्चे तक फैल सकती हैं यदि वे :
 

  • हैट, स्कार्फ, कंघी, ब्रश, हेयर क्लिप, हेयर बैंड, हेलमेट अथवा कपड़ों, का अदल-बदलकर इस्तेमाल करते हैं।
  • एक ही बिस्तर, पलंग अथवा कालीन का प्रयोग करते हैं।
  • स्कूल में बहुत पास बैठते हैं। बहुत निकट रहकर खेलते हैं।

जूओं को खत्म करने के लिए कई प्रकार की दवाइयां बाजार में उपलब्ध हैं जिनका नियमित प्रयोग असरकारक है। आप चाहे तो जूँ हटाने के लिए घरेलू उपचार का सहारा ले सकते है जिसके लिए नीचे बेहतरीन अजमाए हुए नुस्खे बताये गए है जिनके कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते है :

  • पांच-छ: काली मिर्च पीसकर एक कप दही में मिलाएं। एक नींबू का रस भी मिलाएं। इसे अपने बच्चे के सिर पर लगाकर 20 मिनट बाद सिर धो दें। जूएं खत्म हो जाएंगी।
  • नीम के पत्तों को पीसकर लगाने से भी जूओं से छुटकारा पाया जा सकता है। नीम के तेल से सिर की जुएँ और लीखें मर जाती हैं। इसे रात में सोते समय बालों में लगायें |
  • लहसुन को पीसकर नींबू के रस में मिलाएं तथा रात को सोते समय सिर में लगाएं। सवेरे शैम्पू से सिर धो दें।
  • लहसुन को खाना बनाने वाले तेल, नींबू के रस, ग्रीन टी और थोड़े शैम्पू के साथ मिलाएं। इस मिश्रण को अपने सिर पर लगाएं और तौलिये या शावर कैप से 30 मिनट तक सिर को ढककर रखें। इसके बाद शैम्पू कर लें।
  • सिर की लीखों से छुटकारा पाने के लिए बोरिक पाउडर काफी मात्रा में पूरे सिर पर अच्छी तरह छिड़कें व 20 मिनट बाद बारीक कंघी करें। लीखें निकल जाएंगी।
  • जूएं होने पर बालों में प्याज का रस लगाएं, तीन-चार घंटे बाद बालों को धो दें। तीन-चार दिन लगातार ऐसा करें।
  • सीताफल के बीजों का चूर्ण रात को बालों में लगाएं। बालों को अच्छी तरह तौलिया या शावर कैप से ढकें। इससे सिर की जूएं तथा लीखें मर जाती हैं।
  •  नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर लगाने से जूएं दूर हो जाती हैं।
  • नारियल के तेल में कपूर का चूर्ण मिलाकर लगाने से भी जूएं और लीखें खत्म हो जाती हैं।
  • रात को पेट्रोलियम जेली बच्चों के बालों में लगाएँ और सुबह बाल धोने से पूर्व कंघी की मदद से मरी हुई जूँए बाहर निकालें।
  • बहुत इलाज करने पर भी यदि जूँ खत्म नहीं हो रही हों तो तीन चम्मच पानी में एक चम्मच सिरका मिलाएं। इस मिश्रण को सप्ताह में तीन बार रात को बालों में लगाएं। सुबह शैम्पू से सिर धो दें। महीने भर ऐसा करने से सिर से जूएं खत्म हो जाएंगी।
  • जैतून का तेल भी जुओं को सांस लेने नहीं देता और उन्हें मार देता है। रात को सिर में जैतून का तेल लगाएं और सिर को तौलिये या शावर कैप से ढक दें।
  • टी ट्री आयल एक प्राकृतिक कीटनाशक है जो कि जुओं को हटाने में काफी असरकारी है। टी ट्री आयल,प्राकृतिक शैम्पू और नारियल या जैतून के तेल का पेस्ट बनाएं। इसे सिर पर लगाएं और 30 मिनट बाद गर्म पानी से धो लें। भीगे बालों को कंघी करके मृत जुओं को निकालें।
  • तिल के तेल में एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और प्राकृतिक रूप से कीटनाशक गुण होते हैं। एक चौथाई कप तिल का तेल, 1 चम्मच टी ट्री आयल, आधा चम्मच यूकेलिप्टस और रोजमेरी का तेल और करीब 10 बूँदें लैवेंडर का तेल लें और इन्हें अच्छे से मिलाएं। सबसे पहले बालों को सेब के सिरके से अच्छे से धोएं। बालों को सुखाकर उपरोक्त मिश्रण लगाएं और रातभर सिर को तौलिये में लपेटकर छोड़ दें। कंघी से मृत जुएं निकालें और फिर शैम्पू कर लें।
  • लीख हटाने के उपाय – नमक और सिरके का पेस्ट बनाएं और सिर पर लगाएं। अब सिर को शावर कैप से ढक दें और 2 घंटे तक ऐसे ही छोड़ दें। इसके बाद बालों में शैम्पू एवं कंडीशनर का प्रयोग करें।
  • दो चम्मच नींबू का रस और दो चम्मच अदरक का जूस मिलाकर सिर पर मलने से जूएं खत्म हो जाती हैं।
  • जूँ मारने की दवा बनाने के लिए 20 ग्राम सुहागा और 20 ग्राम फिटकरी लेकर 250 मिली. हल्के गर्म पानी में मिलाकर सिर में लगाने से लीखो और जुओं से छुटकारा मिलेगा |
  • अमरुद के पत्तों को पीसकर हल्दी के साथ मिलाकर मिश्रण बना लें और नहाने से दो घंटे पहले सिर पर मल दें। इससे आपको जूँ से छुटकारा मिल जायेगा। 
  • जूँ मेंहदी की गंध से दूर भागती हैं | घर के प्रत्येक सदस्य के तकिये की खोल के अन्दर थोड़ी मात्रा में ताजी मेंहदी (2-3 छड़ियाँ) रख दीजिए।

 

            बालों में जूँ होने के कारण बच्चे के सिर मे खुजली होने लगती है जिसके बढ़ने पर स्कैल्प पर दाने भी हो सकते है और यदि इन फुंसियो का समय पर इलाज न करवाया जाए तो परिणाम उससे भी बदतर हो सकते है इसलिए जुओं का सही समय पर सही इलाज आवश्यक है | उपरोक्त सुरक्षित घरेलू उपचारों का प्रयोग करके आप अपने बच्चे को जूं से होने वाली दिक्कतों से बचा सकते हैं। Bottom of Form

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Dec 21, 2017

घरेलु नुस्खे से अगर बच्चों की जूओं की समस्या को दूर कर सकते है,तू केमिकल्स और दवा से भी बचाव हो सकता है जिनके काफी दुष्परिणाम होते है, न केवल स्कैल्प पर बल्कि बालों पर भी।इस जानकारी के लिए बहुत बहुत शुक्रिया।

  • Report
+ START A BLOG
Top Health and Wellness Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error