• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग शिक्षण और प्रशिक्षण

गुडगाँव नर्सरी स्कूल एडमिशन 2019-20 के लिए नए नियम निर्देश जारी

Prasoon Pankaj
3 से 7 वर्ष

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Feb 21, 2019

गुडगाँव नर्सरी स्कूल एडमिशन 2019 20 के लिए नए नियम निर्देश जारी

अगर किन्हीं कारणों से दिल्ली में रहने वाले पैरेंट्स के बच्चों का दिल्ली के स्कूलों में नर्सरी कक्षा में एडमिशन नहीं हो पाता था तो उनके पास एनसीआर के स्कूलों का विकल्प भी मौजूद रहता था। लेकिन अब शायद इस विकल्प का लाभ उनको नहीं मिल सकेगा। हरियाणा के प्राथमिक शिक्षा विभाग की नई गाइडलाइंस के बारे में जानकर दिल्ली में रहने वाले पैरेंट्स की परेशानियां बढ़ सकती है जबकि गुरुग्राम में रहने वाले पैरेंट्स के लिए ये राहत की खबर है। दरअसल हरियाणा के प्राथमिक शिक्षा विभाग ने गुडगाँव नर्सरी एडमिशन 2019-20 को लेकर नए नियम और दिशा निर्देश जारी किए हैं। तो आइये जानते हैं क्या हैं ये नए नियम और दिशा निर्देश।

अगले साल से शुरु होने वाले शैक्षणिक वर्ष से दिल्ली से सटे गुरुग्राम में नर्सरी एडमिशन के मौजूदा स्वरूप में भारी बदलाव होने जा रहा है। हम आपको बता दें कि पहली बार हरियाणा के प्राथमिक शिक्षा विभाग की तरफ से नए नियम और निर्देश जारी किए गए हैं।

गुरुग्राम में नर्सरी स्कूल एडमिशन 2019-20 की प्रक्रिया को लेकर किए गए बदलाव / New Guidelines for Gurgaon Nursery Admissions 2019-20 in Hindi

हरियाणा शिक्षा विभाग के अधिकारियों की माने तो पिछले कई वर्षों से अभिभावक मांग कर रहे थे कि गुरुग्राम में नर्सरी एडमिशन प्रक्रिया को रेग्युलेट किया जाए। पैरेंट्स की इस मांग को देखते हुए अगले शैक्षणिक सत्र से नए नियम प्रभाव में आ जाएंगे। 

  • अब उन छात्रों को एडमिशन में प्राथमिकता दी जाएगी जो स्कूल के एक किलोमीटर के दायरे में रहते हैं।
  • हरियाणा प्राथमिक शिक्षा विभाग की तरफ से जारी किए गए निर्देशों के मुताबिक हर स्कूलों में एक क्लास में समान उम्र सीमा रखने की बात कही गई है
  • अब गुडगाँव स्कूलों का एप्लीकेशन फॉर्म मुफ्त में मिल सकेगा
  • अब गुडगाँव नर्सरी एडमिशन के लिए लॉटरी सिस्टम लागू किया जाएगा

 

हालांकि नियमों में किए गए इस बदलाव को लेकर अभिभावकों एवं स्कूलों मैनेजमेंट के बीच में अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही है। कुछ अभिभावकों का ये भी कहना है कि ऐसा ना हो कि उनको 1 किलोमीटर के दायरे के अंदर स्कूल ना मिल पाए या फिर पड़ोस का स्कूल काफी महंगा हो। इतना ही नहीं कुछ स्कूल मैनेजमेंट भी इस फैसले से खफा बताए जा रहे हैं क्योंकि दिल्ली के बच्चों का गुरुग्राम के स्कूल में एडमिशन नहीं हो पाएगा। विकास नाम के एक पैरेंट ने अपनी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि अगर मान लिया जाए कि हमें अपनी पसंद का स्कूल नहीं मिल पाए और पड़ोस में जो स्कूल मिल रहा है वहां की फीस हमारे बजट से काफी ज्यादा हो तो ऐसी परिस्थिति में हम क्या करेंगे। वहीं दूसरी तरफ एक और पैरेंट्स प्रवीण ने कहा कि इन नए निर्देशों की वजह से अब स्कूलों का एप्लीकेशन फॉर्म मुफ्त में मिल सकेगा। कुछ स्कूल एप्लीकेशन फॉर्म के नाम पर 1000 रुपये तक वसूल कर लेते थे।

कुछ अभिभावक ये भी सवाल उठा रहे हैं कि लॉटरी सिस्टम कैसे काम करेगी इसको लेकर अब तक स्पष्ट दिशा निर्देश नहीं दिए गए हैं। वहीं दूसरी तरफ स्कूलों का कहना है कि एडमिशन के समय में पैरेंट्स को जिन समस्याओं का सामना करना होता था वे सारी समस्याएं नए नियमों के लागू होने पर दूर हो जाएंगी।

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Feb 24, 2019

mere bete ka sath ek taraf se jhagda ho gaya hai uska had thik karne ke liye kuch baatein bataye

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Tools

Trying to conceive? Track your most fertile days here!

Ovulation Calculator

Are you pregnant? Track your pregnancy weeks here!

Duedate Calculator
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}