• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

कोरोना लॉकडाउन के दौरान छोटे बच्चों व प्रेग्नेंसी की हेल्थ इमरजेंसी में क्या करें?

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 24, 2020

कोरोना लॉकडाउन के दौरान छोटे बच्चों व प्रेग्नेंसी की हेल्थ इमरजेंसी में क्या करें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

जिस तरीके से कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं उसके बाद कई राज्यों में सरकार की तरफ से लॉकडाउन करने का ऐलान कर दिया गए हैं। दिल्ली, राजस्थान, बिहार व ओडिशा समेत कई राज्यों की सरकारों ने लॉकडाउन कर दिया है। अब सवाल ये है कि लॉकडाउन होने की स्थिति में कौन-कौन सी सेवाएं मुहाल रहेंगी और इस समय में आपको क्या नहीं करना चाहिए। लॉकडाउन को लेकर आपके मन में भी कई तरह के प्रश्न उठते होंगे खास तौर से अगर आप एक नवजात शिशु की मां हैं तो बच्चे के वैक्सीनेशन को लेकर भी आप जानना चाह रही होंगी। तो चलिए आज हम इस ब्लॉग में आपको इन सभी बातों के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं। 

प्रश्न- बच्चे की वैक्सीनेशन डेट आ गई है लेकिन अभी लॉकडाउन होने की स्थिति में कुछ दिनों बाद वैक्सीनेशन करा सकते हैं क्या?

उत्तर- अभी सबसे ज्यादा जरूरी है कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जाए। चूंकि नवजात शिशु व छोटे बच्चों की इम्यूनिटी पावर बहुत कम होती है और वे आसानी से किसी प्रकार के संक्रमण के शिकार हो सकते हैं इसलिए ये ज्यादा जरूरी है कि आप स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए हेल्थ एडवाइजरी का पालन करें। अभी बच्चे को कहीं बाहर लेकर ना निकलें। यह अस्थाई व्यवस्था है, कुछ ही दिनों में हालात सामान्य होने के आसार हैं उसके बाद भी आप अपने बच्चे का वैक्सीनेशन करा सकती हैं। एहतियात के तौर पर आप अपने डॉक्टर के भी संपर्क में बने रहें व समय-समय पर उनसे सुझाव लेते रहें।  

प्रश्न- अभी लॉकडाउन है तो बच्चे के हेल्थ से रिलेटेड अगर कोई समस्या होती है तो हमें तत्काल क्या करना चाहिए?

उत्तर- सबसे पहली बात कि सामान्य स्वास्थ्य समस्याओं के लिए बच्चे के लिए आपके डॉक्टर ने जो भी दवाएं सुझाया है उन सभी दवाओं को अपने घर में जरूर स्टोर करके रखें। इसके अलावा आप अपने डॉक्टर से कॉल व व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क में बने रहें। अगर ऐसी कोई भी समस्या आती है तो आप अपने डॉक्टर को कॉल करके भी दवा के बारे में जानकारी हासिल कर सकती हैं दूसरी बात की दवा की सारी दुकानें इस समय में खुली रहेंगी इसलिए आवश्यक दवाओं की दिक्कत नहीं होनी चाहिए। एक और जरूरी बात की आप हमारे एक्सपर्ट कॉर्नर में जाकर Parentune के एक्सपर्ट डॉक्टरों से अपने सवाल पूछ सकती हैं। parentune के एक्सपर्ट डॉक्टर से अपने सवाल पूछने के लिए आप यहां इस लिंक को क्लिक करें:- https://bit.ly/2WDmWtS

प्रश्न-  छोटे बच्चों में कोरोना के लक्षण क्या होते हैं?

उत्तर- कोरोना के लक्षण सभी में एक जैसे होते हैं। कोरोना के जो सामान्य लक्षण होते हैं जैसे कि सिरदर्द, खांसी, सांस लेने में परेशानी, मांसपेशियों में दर्द, बुखार और थकान। ध्यान रखिए संक्रमण होने पर पहले बुखार हो सकता है फिर सूखी खांसी और फिर इसके बाद सांस लेने में परेशानी हो सकती है। इस तरह के लक्षणो को महसूस होते ही तत्काल कोरोना हेल्पलाइन नंबर पर या नजदीकी अस्पताल में संपर्क करें। 

प्रश्न- अभी प्रेग्नेंसी के दौर से गुजर रही हूं, क्या गर्भवती महिलाओं को कोरोना होने का खतरा ज्यादा होता है?

उत्तर- सीडीसी (Centers for Disease Control and Prevention) के मुताबिक अभी फिलहाल इस बात को लेकर पुष्टि नहीं की जा सकती है कि गर्भावस्था के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित होने के खतरा ज्यादे हैं। लेकिन इसके साथ ही एक और महत्वपूर्ण बात यह भी ध्यान में रखना चाहिए कि प्रेग्नेंसी के दौरान कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते रहते हैं, और यही वजह है कि वे आसानी से किसी प्रकार के संक्रमण से प्रभावित हो सकते हैं या इस दौरान उनको फ्लू होने का खतरा बना होता है। इसलिए हमारा सुझाव है कि आप इस समय में अपने स्वास्थ्य के प्रति कुछ ज्यादा ही सजग बने रहे। कोरोना के इन्फेक्शन से बचने के लिए अभी आपको कुछ विशेष बातों का जरूर ख्याल रखना चाहिए जैसे कि अगर आपको खांसी हो तो उस समय में अपने मुंह को ढ़क कर रखें। अगर खांसी के समय में आपके पास टिश्यू ना हो तो अपने हाथ की कोहनी या बाजू से मुंह को जरूर ढ़क लें। बीमार लोगों के संपर्क में अभी बिल्कुल ना जाएं। हालांकि अभी तो लॉकडाउन हैं लेकिन अगर हालात सामान्य भी हो जाते हैं तो आपको कुछ दिनों तक अभी भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचना चाहिए। पर्याप्त मात्रा में पोषक पदार्थों का सेवन करते रहें। समय-समय पर हाथों को धोते रहें और सैनिटाइजर का प्रयोग करें। अपने डॉक्टर से मोबाइल व व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क में बने रहें और किसी प्रकार की आपातकालीन परिस्थिति हो तो नजदीकी अस्पताल में चेकअप करवाएं।  Parentune के एक्सपर्ट डॉक्टर से अपने सवाल पूछने के लिए आप यहां इस लिंक को क्लिक करें:-https://bit.ly/2WDmWtS

प्रश्न- क्या किसी प्रेग्नेंट महिला के माध्यम से भ्रूण या नवजात शिशु को संक्रमित कर सकता है कोरोना वायरस?

उत्तर- अभी कुछ दिनों पहले ही लंदन में एक नवजात शिशु को कोरोना वायरस हो गया था। हालांकि ये नवजात शिशु अब खतरे से बाहर बताया जा रहा है। डॉक्टर ये पता करने का प्रयास कर रहे हैं कि क्या यह नवजात शिशु गर्भ के अंदर ही कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया था या फिर जन्म के बाद शिशु संक्रमित हुआ? CDC की रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक जो मामले सामने आ रहे हैं उसमें कोरोना वायरस से पीड़ित जिन महिलाओं ने शिशु को जन्म दिया है वे बच्चे कोरोना से संक्रमित नहीं थे। इसके अलावा एक और महत्वपूर्ण जानकारी ये भी दी गई है कि मां के दूध में कोरोना वायरस नहीं पाया गया है।

प्रश्न- क्या लॉकडाउन की स्थिति में हम अपने प्राइवेट वाहनों का इस्तेमाल कर कहीं जा सकते हैं?

उत्तर- बहुत आवश्यकता होने पर लॉकडाउन की स्थिति में हम अपने निजी वाहन का प्रयोग जरूर कर सकते हैं लेकिन इससे फिलहाल बचना चाहिए। अगर आप बाहर निकल भी रहे हैं तो आपके पास जेन्यून वजह होनी चाहिए, अगर आपके पास कोई ठोस वजह नहीं है तो फिर आपके खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है। अगर हेल्थ संबंधी कोई आपातकालीन स्थिति है तो एंबुलेंस को बुला सकते हैं।

क्या होता है लॉकडाउन?

लॉकडाउन एक आपातकालीन व्यवस्था है जिसके तहत प्राइवेट संस्थान, प्राइवेट ऑफिस एवं पब्लिक ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को बंद कर दिया जाता है। इसको आप ऐसे समझें कि अगर आप अपने घर से बाहर निकलना चाहते हैं तो इसको लेकर आपके पास कोई खास वजह होनी चाहिए अन्यथा आपको अपने घर में ही रहना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक लॉकडाउन से आम जनों को थोड़ी बहुत दिक्कतों का सामना जरूर करना पड़ सकता है लेकिन ये अस्थाई है और कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए समस्त दुनिया में लोग इस तरीके को प्रयोग में ला रहे हैं। 

लॉकडाउन होने पर कौन-कौन सी सेवाएं आम लोगों के लिए उपलब्ध रहती है?

अधिकांश जगहों पर 31 मार्च तक के लिए लॉकडाउन कर दिए गए हैं। निम्नलिखित सेवाओं को लॉकडाउन के आदेश की सीमाओं से बाहर रखा गया है।


यानि की रोजमर्रा की जरूरतों के सभी दुकान खुले रहेंगे। इसके अलावा किसी प्रकार की आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने के लिए सरकारी विभाग मुस्तैद रहेंगे। 

लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या बंद रहते हैं?

ये बहुत महत्वपूर्ण है आपके लिए जानना कि लॉकडाउन के दौरान क्या-क्या बंद रहेंगे और आपको इस समय में क्या नहीं करना चाहिए। 

  • सार्वजनिक परिवहन जैसे कि मेट्रो, रेल, बस वगैरह बंद रहेंगे। हालांकि कुछेक जगहों पर ये कहा गया है कि बहुत कम मात्रा में सरकारी बसें चलेंगी। इसके अलावा सिटी व इंटर स्टेट बसों के आवागमन पर भी रोक लगा दी गई है। फिलहाल बाहरी देशों से आने वाले विमानों पर भी रोक लगा दी गई है।

  • मॉल, सभी अन्य दुकानें, बड़े डिपार्टमेंटल स्टोर, फैक्ट्रियां, वर्कशॉप, दफ्तर, गोदाम, साप्ताहिक बाजारें अभी बंद रहेंगे।

  • राज्यों की सीमाएं को बंद कर दिए गए हैं यानि कि एक राज्य से दूसरे राज्यों को जोड़ने वाले बॉर्डर को सील कर दिए गए हैं। 

  • सभी प्रकार के कंस्ट्रक्शन के काम को रोक दिए गए हैं यानि कि इस समय में आप अपने मकान व किसी प्रकार के कंस्ट्रक्शन काम को भी नहीं कर सकते हैं। एनएच व अन्य सरकारी कंस्ट्रक्शन के काम को भी रोक दिए गए हैं।

  • सभी प्रकार के धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिए गए हैं। सरकार व स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लोगों से बार-बार अपील की जा रही है कि वे अपने घरों में ही रहें और अत्यंत आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें।

अभी कुछ दिनों तक आप एक दूसरे के संपर्क में आने से बचें ताकि आप और आपका परिवार कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित रह सकें।.

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Deepak Pratihast
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट
आज का पैरेंटून
पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}