• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
बच्चों के साथ यात्रा

5 बातें गर्मी के मौसम में रोड ट्रिप को सुरक्षित बनाने के लिए

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया May 22, 2019

5 बातें गर्मी के मौसम में रोड ट्रिप को सुरक्षित बनाने के लिए

स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां (Summer Vacation's) शुरू हो चुके हैं और आपने भी शायद इन छुट्टियों में फैमिली के संग कहीं घूमने का प्लान बना लिया होगा। छुट्टियों के इस सीजन में कई बार टिकट की मारामारी को देखते हुए अधिकांश लोग अपनी गाड़ी से दूर के सफर पर निकलने की योजना बना लेते हैं। दरअसल अपनी कार से लांग ड्राइव (Long Drive) पर जाने का अपना मजा होता है। लेकिन इसके साथ ही आप अगर गर्मी के मौसम में अपनी कार से लंबी दूरी का रास्ता तय करने की सोच रहे हैं तो आपको कुछ बेहद जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। ये आपकी और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए आवश्यक है। अब मेरे एक सवाल का जवाब दीजिए, जब आप लंबी दूरी के लिए कार से निकलना चाहते हैं तो सबसे पहले आप अपनी गाड़ी में क्या चेक करते हैं, आपका जवाब होगा कि कार का हवा-पानी। बिल्कुल, ये एक अच्छी आदत है लेकिन क्या आपको मालूम है कि इस भीषण और तपती गर्मी  में आपकी ये आदत आपको मुश्किल में भी डाल सकती है। आपने हाईवे पर कार के टायरों के फटने से हुए हादसों के बारे में अक्सर सुना होगा, तो चलिए आज हम आपको इस ब्लॉग में बताते हैं कि गर्मी के महीने में अगर आप कार से लंंबी दूरी का रास्ता तय कर रहे हैं तो आपको किस तरह की सावधानियां बरतने की जरूरत है।

गर्मी के मौसम में रोड ट्रिप को सुरक्षित कैसे बनाएं ?/ How to Plan a Safe Road Trip in Hindi

क्या आप जानते हैं कि आंकड़ों के मुताबिक प्रत्येक साल 78 हजार से ज्यादा सड़क हादसे टायर फटने की वजह से ही होते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादातर हादसे वाहनों के पिछला टायर फटने की वजह से होते हैं। गर्मी के मौसम में अपनी कार से लंबी दूरी का रास्ता तय करने की सोच रहे हैं तो आपको कुछ बेहद जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। ये आपकी और आपके परिवार की सुरक्षा के लिए आवश्यक है। गर्मी के मौसम में रोड ट्रिप को सुरक्षित बनाने के लिए इन 5 बातों का ध्यान रखें...

गर्मी के मौसम में क्यों फटते हैं गाड़ियों के टायर? / Why Do Tires Burst More in Summer In Hindi? 

आमतौर पर कार के टायरों में निर्धारित मापदंड के मुताबिक हवा भरे जाते हैं, लेकिन गर्मी के मौसम में हाईवे पर लंबे सफर के दौरान यही पर्याप्त हवा परेशानी का सबब बन सकते हैं। और यही वजह है कि तेज रफ्तार होने की वजह से कार के टायर फट जाते हैं और हादसे की मुख्य वजह बन जाते हैं।

  1. तेज रफ्तार होने पर  ग्रिप घिस जाने की वजह से छोटे-मोटे पत्थर, गड्ढ़े या किसी कट में गिरने से टायर फट जाते हैं
     
  2. कई जगहों पर ऊबड़-खाबड़ रास्ता होने की वजह से कटे-फटे टायर हादसे का कारण बन सकते हैं
     
  3. गाड़ियों के टायरों में निर्धारित मापदंड के अनुसार हवा लंबे सफर के दौरान घर्षण की वजह से गर्म होकर ज्यादा दबाव बनाते हैं और इस कारण से भी टायर फट सकता है।
     
  4. ज्यादातर हाईवे सीसीरोड में बदल चुके हैं। इस तरह के रोड पर टायरों में घर्षण होने की ज्यादा संभावना बनी रहती है।
     
  5. कम गुणवत्ता वाले टायरों का प्रयोग करना या फिर निर्धारित किलोमीटर तय कर लेने के बाद भी लंबे समय तक टायरों का नहीं बदलना

 

गर्मी के मौसम में लॉन्ग ड्राइव पर निकलने से पहले ध्यान रखी जाने वाली बातें / What to Remember Before Summer Road Trip in Hindi

क्या आप जानते हैं कि आंकड़ों के मुताबिक प्रत्येक साल 78 हजार से ज्यादा सड़क हादसे टायर फटने की वजह से ही होते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक ज्यादातर हादसे वाहनों के पिछला टायर फटने की वजह से होते हैं।

  1. सबसे जरूरी बात की अगर आप गर्मी के मौसम में लंबे सफर पर निकलने वाले हैं तो अपनी गाड़ी के टायरों में निर्धारित मापदंड से थोड़ी कम हवा भरवाएं।
     
  2. जैसे की आप एक्सपाइरी डेट के बाद की दवा या अन्य किसी प्रकार का खाद्य पदार्थ इस्तेमाल नहीं करते हैं ठीक उसी प्रकार से कार के टायरों को भी निर्धारित किलोमीटर तय कर लेने के बाद या कट-फट गए हों तो बदल लेना चाहिए
     
  3. जब कभी टायर बदलें तो हमेशा ये प्रयास करें कि टायरों का जोड़ा एक साथ बदलें नहीं तो टायरों का एलाइनमेंट और व्हील बैलेंसिंग बिगड़ने की संभावना बनी रहती है। 
     
  4. सॉफ्ट रबर के टायर ज्यादा दबाव सह सकते हैं। ट्यूबलेस टायर को ज्यादा सुरक्षित माना जाता है।
     
  5. अपनी गाड़ी के हिसाब से निर्धारित साइज के मुताबिक ही टायर लगवाएं। लुक और मॉडिफिकेशन के चक्कर में निर्धारित साइज से बड़ा टायर असुरक्षित साबित हो सकता है।

 

विशेषज्ञों के मुताबिक तपती गर्मी के दौरान टायरों में हवा का प्रेशर बढ़ने से हीट जेनरेशन बढ़ जाता है और यही वजह है कि टायर फटने की संभावना बढ़ जाती है। वहीं दूसरी तरफ दबाव कम रहने से टायर के फेब्रिक और बीडवायर पर  लोड आने से भी पंक्चर होने और टायर फटने की संभावना बन जाती है। आपको जानकारी होनी चाहिए कि टायर पर थ्रेड वियर इंडिकेटर का चिन्ह होता है, अगर वहां तक टायर घिस जाए तो फिर आप इसे मरम्मत करवा लें या नया लगवा लें। अपनी गाड़ी के टायरों का एलाइनमेंट और बैलेंस समय-समय पर जरूर चेक करवाते रहें। अगर आपकी गाड़ी के ट्यूब में 3 मिमी से बड़ा कट है तो ट्यूब जरूर बदलवा लें। अगर आप इन बातों का ध्यान रखेंगे तो निश्चित रूप से आपका फैमिली ट्रिप बेहद सुरक्षित और आनंददायक हो सकता है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 4
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| May 23, 2019

mera baccha 1 sal 3 mahine ka h wo pahele roti dal khata tha abhi kuch dno se wOK kuch nhi kha raha uski bhook bdne ka koi upaye btaye

  • रिपोर्ट

| May 22, 2019

Thanks

  • रिपोर्ट

| May 22, 2019

शुक्रिया @Rajesh...

  • रिपोर्ट

| May 22, 2019

हमारे जैसे ट्रैवलर्स के लिए ये एक जरूरी जानकारी है .प्रसून जी धन्यवाद .

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप बच्चों के साथ यात्रा ब्लॉग

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}