• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य खाना और पोषण

कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए आपके घर में ही हैं पर्याप्त उपाय, ये 10 बातें जरूर जान लें

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया May 13, 2020

कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए आपके घर में ही हैं पर्याप्त उपाय ये 10 बातें जरूर जान लें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

जिस तरीके से कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं तो ये बहुत आवश्यक है आपके लिए की भरपूर सावधानियां बरतें। आप लॉकडाउन के नियमों का जरूर पालन करते होंगे और अपने घर में ही रहते होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके घर के अंदर के ही कुछ घरेलु उपाय ऐसे हैं जो आपको कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव में भरपूर मदद कर सकते हैं। कोरोना से बचाव के लिए आयुष मंत्रालय की तरफ से समय-समय पर आयुर्वेद और घरेलू उपचारों के बारे में बताए जाते हैं।  देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों से इसे मानने की अपील की है। निर्देशों के मुताबिक नाक में तेल डालने, च्यवनप्राश का सेवन करने, गर्म पानी पीने और योग-व्यायाम करने से शरीर की इम्युनिटी बढ़ाकर वायरस के असर से बचा जा सकता है। केंद्रीय आयुर्वेद एवं सिद्ध अनुसंधान परिषद, आयुष मंत्रालय के निदेशक प्रो. वैद्य करतार सिंह धीमान ने कोरोना से जुड़े कई सवालों के जवाब ऑल इंडिया रेडियो को दिए हैं,तो आप भी जानिए की कोरोना वायरस के संक्रमण से हम कैसे अपना और परिवार का बचाव कर सकते हैं।

सवाल-  क्या नाक में घी या तेल डालने से संक्रमण का खतरा कम होता है?

जवाब- जैसा कि हम जानते हैं कि  कोरोना वायरस नाक या मुंह के माध्यम से ही शरीर में प्रवेश करता है। नाक में तेल या घी डालने पर कोई भी वायरस म्यूकस मेम्ब्रेन यानी श्लेष्म कला पर आक्रमण नहीं कर पाता है। सामान्य दिनों में भी अगर दो से तीन बूंद तिल का तेल, घी या नारियल का तेल नाक में डालते हैं तो धूल के सूक्ष्म कण, प्रदूषण, किटाणु और जीवाणु शरीर में प्रवेश करने से पहले ही खत्म हो जाते हैं।

सवाल-  क्या रोग प्रतिरोधिक क्षमता बढ़ने पर वायरस का संक्रमण नहीं होगा?

जवाब-  हर इंसान का रहन-सहन और खानपान का असर उसके शारीरिक बल और रोग प्रतिरोधक क्षमता पर असर करता है। इसलिए ये बहुत आवश्यक है कि हम इन दिनों अपने खानपान पर अधिक ध्यान दें। इसी का सकारात्मक पहलू है कि आज कई लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने के कारण कोरोना पॉजिटिव होने पर भी लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं और खुद ठीक भी हो रहे हैं। संक्रमण से बचने के लिए लॉकडाउन का पालन करें और बार-बार हाथ धोते रहें।

सवाल-   गर्म पानी पीने से कोरोना से बचाव कैसे होता है?

जवाब- आप इस बात को जान लें कि बचाव का एकमात्र तरीका सोशल डिस्टेंसिंग है। हाथ धोने और मास्क पहनने से बचाव होता है। जहां तक बात गर्म पानी की है कफ के कारण कई बीमारियां होती हैं ओर गर्म पानी पीने से कफ होने का खतरा कम हो जाता है। 

सवाल-  हल्दी या हल्दी वाला दूध बहुत लोग नहीं पीते, वो क्या करें?

जवाब- बहुत सारे लोग हैं जिन्हें हल्दी वाला दूध पसंद नहीं आता है। अगर आप हल्दी या हल्दी वाला दूध नहीं पी पाते हैं तो गुरुची या गिलोय का रस निकाल सकते हैं। अगर गिलोय धनवटी या गुरुची धनवटी की गोली उपलब्ध है तो ले सकते हैं। इससे इम्यून पावर भी बनी रहती है और बुखार नहीं आता। 

सवाल-  क्या गर्म पानी में हल्दी डालकर पीने से फायदा होता है? 

जवाब-  गर्म पानी में हल्दी डालकर पीने से कोई फायदा नहीं होता। हां, हल्दी और गर्म पानी से गरारा कर सकते हैं यह गले के लिए फायदेमंद है।

सवाल-  हल्दी कितनी मात्रा में लेना चाहिए?

जवाब-  एक व्यक्ति को एक समय में 3 से 4 ग्राम हल्दी लेना चाहिए, वो भी 150 से 200 एमएल दूध में मिलाकर। इससे रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। 

सवाल-  सैनेटाइजर से एलर्जी है तो क्या करें?

जवाब- अगर सैनेटाइजर से एलर्जी है तो साबुन से हाथ धोएं। बहुत से लोगों को अल्कोहल से एनर्जी होती है।

सवाल-  इम्युनिटी बढ़ाने के लिए खानपान के अलावा क्या करें?

जवाब- ये तो बहुत आवश्यक है कि आप अपने परिवार के खान-पान का विशेष ध्यान रखें। इसके अलावा  व्यायाम, योग, प्राणायाम करें और मन को शांत रखें। मन पर इस बीमारी के भय को बिल्कुल हावी नहीं होने दें। मन से मजबूत रहेंगे तो बीमारियों से लड़ने की क्षमता अच्छी रहेगी। गर्म पानी पीएं, तुलसी-दालचीनी मिलाकर चाय में इस्तेमाल करें। दूध में हल्दी का सेवन करें और च्यवनप्राश लें।

सवाल-   काढ़ा क्या होता है और कैसे बनता है?

जवाब-  तुलसी की कुछ पत्तियां, 2-3 लौंग, थोड़ी सी दालचीनी और थोड़ी सी अदरक, 4 कप पानी में उबालें। जब यह दो कप रह जाए तो उसमें थोड़ा गुड़ या चीनी डाल दें। अब काढ़ा तैयार हो गया है, दिनभर में इसका दो बार सेवन करें। अगर डायबिटीज की बीमारी है तो उसमें चीनी नहीं डालें।

सवाल-  क्या आयुष मंत्रालय औषधियों से कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ रहा है?

आयुष मंत्रालय की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मंत्रालय ने एक उच्च स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया है जिससे अध्यक्ष यूजीसी के चेयरमैन हैं, इसमें आईसीएमआर सहित कई औषधि वैज्ञानिक शामिल हैं। उम्मीद है जल्द ही वायरस से बचाव का इलाज ढूंढ लिया जाएगा।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}