• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

कैसे करें गर्मी में नवजात की देखभाल ?

Priya Garg
0 से 1 वर्ष

Priya Garg के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Apr 30, 2019

कैसे करें गर्मी में नवजात की देखभाल

गरमी का मौसम बड़ा ही अच्छा होता है लेकिन गरमी के साथ आने वाली बीमारियाँ और सूरज की तपन किसी को भी नहीं भाती। गरमी का मौसम अपने साथ पसीने और घमौरियाँ लेकर आता है। ये मौसम जितना मुश्किल बड़े लोगों के लिए होता है उतना ही मुश्किल छोटे बच्चों के लिए होता है। ऐसे मौसम में छोटे बच्चों की खास देखभाल करना बहुत ज़रूरी है। 

 

कैसे करें गर्मियों में शिशु की देखभाल ?/ How to Take Care Newborn in Summer in Hindi

अपने बच्चे को गरमी के मौसम से बचा के रखने के कुछ आसान और ज़रूरी तरीके नीचे दिए गए हैं -

1. सूती पहनाएं गरमी दूर भगाएँ - गरमियों के लिए सबसे बेहतर कपड़ा सूती को माना जाता है। जहाँ ये शरीर के पसीने को सोख लेता है वहीं ये शरीर तक हवा की आवा-जाही को बढ़ाता है। इस मौसम में सूती कपड़े पहनना बहुत आरामदायक होता है। इसलिए बच्चे को गरमी से बचाने का सबसे आसान तरीका उन्हें सूती से बने कपड़े पहनाएं।

 

2. बच्चे के शरीर में पानी की मात्रा स्थिर रखें - गरमियों में शरीर को पानी की सबसे ज़्यादा जरूरत होती है। इसलिए गरमी के दिनों में बच्चे को ज़्यादा से ज़्यादा पानी पिलाएँ और शरीर में पानी का उचित स्तर बना कर रखें। ज़्यादातर डॉक्टर द्वारा ये 6 महीने तक बच्चों को पानी न पिलाने की सलाह दी जाती है क्योंकि इस उम्र में बच्चे की ये सभी जरूरत माँ का दूध पूरा करता है। पर 6 महीने के बाद बच्चे को थोड़े-थोड़े अंतराल पर पानी दिया जा सकता है ताकि पानी का सही स्तर बना रहे।

 

3. बच्चे को रोज नहलाएं - गरमी में पसीना बहना और हवा में आ जाना पर पसीने का सूख जाना एक आम समस्या है। सूखे पसीने से शरीर पर कीटाणु पैदा होते है जिससे इन्फ़ैकशन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इसके कारण खुजली और रशेस जैसी बीमारियाँ भी हो सकती है। बच्चे को इन समस्याओं से बचाने के लिए ज़रूरी है की गरमी में बच्चों को रोज़ नहलाया जाए। इससे उन्हें नींद भी अच्छी आती है और बच्चों का मूड़ भी अच्छा रहता है।

 

4. रूम का टंपरेचर स्थिर रखें -  गरमी में अक्सर सभी मम्मी-पापा एक गलती करते हैं वो यह की वह अपने बच्चे को AC या कूलर के सामने रखते हैं ताकि बच्चे को लगातार हवा लगती रहे और वो पसीने से बचे रहें। ये करना गलत होता है। अगर आपको AC इस्तेमाल करने की आदत है , तो रूम का तापमान24 डिग्री तक रखें। बार बार तापमान  को बदलने से आपको शिशु को सर्दी और खांसी हो सकती है।

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 8
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Aug 09, 2019

meri beti 35 days ki hui hai usko fever hai kya isse khatara ho ta hai what i do for her?

  • रिपोर्ट

| Jun 13, 2019

mere baby ko face par dane danese aa gaye hai kuch upay batao plz

  • रिपोर्ट

| Jun 01, 2019

good

  • रिपोर्ट

| Jun 01, 2019

mera baby 1 month ka h but bo raat me sota hi nhi h or din me bhi kafi kam time ke liye sota h.... what can I do

  • रिपोर्ट

| Jun 01, 2019

mera baby boy 15 din ka h uska wt Kam ho Raha h uska wt badane ke liye muje kya karna chaye ?

  • रिपोर्ट

| May 21, 2019

meri baby 15 month ki h or uska weight 7kg h kya ye thik h

  • रिपोर्ट

| May 01, 2019

👌👌

  • रिपोर्ट

| Mar 09, 2018

mere bacche Ko Jule me sota hai to usse head ke piche ke side bahaut pasina aata hai Pura godi gila ho jata hai to uske liye kya karna chahiye mera baby 5 month ka hai

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}