समारोह और त्यौहार

अपने बच्चे को जरूर बताएं दीपावली का महत्व और इसके फायदे

Nishtha Dutt
3 से 7 वर्ष

Nishtha Dutt के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 17, 2017

अपने बच्चे को जरूर बताएं दीपावली का महत्व और इसके फायदे

पैरेंट्स होने के नाते आप इस बात को बखूबी समझते होंगे की त्योहारों में बच्चों से ही होता है उत्साह और उल्लास।  ऐसे में इस खास मौके पर आप अपने बच्चों को त्योहारों के महत्व के बारे में जरूर बताएं। दीपावली का मतलब सिर्फ पटाखें और दीप जलाना ही नहीं होता है बल्कि इससे जुड़े सभी पहलुओं के पीछे एक सकारात्मक संदेश भी छुपा होता है। आप अपने बच्चे को बता सकते हैं की दीप जलाने का मकसद क्या है या फिर दीवाली के अवसर पर घरों की साफ-सफाई क्यों की जाती है। इस त्योहार से जुड़ी अच्छी बातों को अगर आप अपने बच्चे को बताते हैं तो उनको हमारी संस्कृति और परंपरा के भी बारे में विस्तार से जानने का मौका मिल सकेगा।

करेंगे ये काम तो त्योहारों की खुशियां हो जाएगी दोगुनी

  1. त्योहारों के महत्व के बारे में बताएं : सबसे पहले जरूरी है कि आप अपने बच्चे को हर त्योहार के बारे में बताएं। क्योंकि दिवाली को सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है, ऐसे में जरूरी है कि आप बच्चे को इसका महत्व, उन्हें बताएं कि दिवाली क्यों मनाते हैं, इससे जुड़ी कहानियां बताएं, ताकि वह इस उल्लास को महसूस कर सकें। इसके बारे में विस्तार से बताएं। ऐसे तो दीपावली से  जुड़ी अनेक कथाएं हैं। मान्यताओं के मुताबिक रावण वध करने के पश्चात भगवान राम 14 वर्ष के वनवास की अवधि को समाप्त करते हुए इस दिन ही अयोध्या वापस लौटे थे। भगवान राम के अयोध्या से वापस लौटने के बाद अयोध्यवासियों ने उस दिन दीपावली का आयोजन किया था। इस तरह की अनेक प्रचलित कथाओं के बारे में अपने बच्चे को जरूर बता दें।

  2. दीपावली के अवसर पर साफ-सफाई के महत्व के बारे में बताएं- हमारे पूर्वजों ने जो कुछ भी रीति-रिवाज बनाया उसके पीछे कहीं ना कहीं कुछ विशेष तर्क हुआ करते थे। अब जैसा की हम लोग जानते हैं की वर्षा ऋतु के बाद शरद ऋतु यानी सर्दी के मौसम का आगाज होता है। जैसा की आप जानते हैं कि बारिश के मौसम में हर तरफ पानी, जल-जमाव और घरों के अंदर भी कीड़े-मकोड़ों की बहुतायत हो जाती है। तो दीपावली के अवसर पर हम अपने घर को अच्छे से साफ-सफाई करते हैं। आप इसी बहाने अपने बच्चे को स्वच्छता के महत्व के बारे में भी बता सकते हैं और आपका बच्चा भी उत्साहित होकर इन कामों में आपकी मदद कर सकता है। दिवाली पर जब आप अपने घर की सफाई में जुटें, तो इसमें बच्चे की भी मदद लें, लेकिन ध्यान रखे ये मदद उसे सफाई का महत्व सिखाने व उत्साहित करने के लिए है। आप उस पर उतना बोझ न डाल दें, जो वह उठा न पाए। जब वह आपके साथ मिलकर घर की सफाई करेगा, तो खुद को बहुत खुश महसूस करेगा।

  3. सामाजिक मेल-मिलाप : बच्चों में मेल-मिलाप की भावना जीवित रखने के लिए दिवाली सबसे बेहतर त्योहार हो सकता है। आप भी अपने बच्चे को इसके बारे में बताएं। उन्हें दिवाली पर पड़ोसी, रिश्तेदार व दोस्तों के यहां अपने साथ जरूर ले जाएं, ताकि वह भी ये सब सीखें। वैसे भी बच्चों को घर से बाहर जाने में खुशी ही मिलती है।

  4. घर को सजाना : दिवाली पर घर को सजाने का महत्व भी बताएं। दिवाली पर कई तरह की खूबसूरत लड़ियां मिलती हैं। उन्हें खरीदकर लाएं और बच्चों को उन्हें अलग-अलग स्टाइल में सजाने को कहें। इसके अलावा उन्हें रंगोली बनाने को दें, मिट्टी के बर्तन को सजाने को दें। इन सबको करते हुए बच्चा न सिर्फ उत्साहित होगा, बल्कि उसमें क्रिएटिविटी भी आएगी।

  5. पटाखों का इस्तेमाल सावधानी के साथ करने की ट्रेनिंग दें- पटाखों को लेकर बच्चों में बहुत क्रेज देखने को मिलता है। लेकिन पटाखों का इस्तेमाल करते समय विशेष सावधानियां बरतने की भी जरूरत होती है। तेज आवाज वाले पटाखों से परहेज करें। कई बार असावधानी के चलते पटाखों से बच्चे जल जाते हैं तो बेहतर है कि हम इसको लेकर हमेशा अलर्ट रहें। घर में फर्स्ट एड बॉक्स जरूर रखें।  

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}