• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

प्रेग्नेंसी में भी करती रही तैयारी और अब बन गई IPS अफसर

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 25, 2021

प्रेग्नेंसी में भी करती रही तैयारी और अब बन गई IPS अफसर
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

अगर मन में हो लगन और आपके पास है जुनून तो फिर आपको सफलता हासिल करने से कोई रोक नहीं सकता है। आज हम आपको इस ब्लॉग में एक ऐसी महिला के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने प्रेग्नेंसी के दौरान डिलीवरी होने से कुछ ही समय पहले UPSC जैसी कठिन परीक्षा में भाग लिया और इनको इस परीक्षा में कामयाबी भी मिली। हम बात कर रहे हैं उत्तर प्रदेश की डॉ प्रज्ञा जैन जिन्होंने UPSC की परीक्षा में 194वीं रैंक हासिल की और अब ये IPS ऑफिसर हैं। 

आईपीएस अधिकारी डॉ प्रज्ञा जैन (IPS officer Pragya Jain) का परिचय  

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में बड़ौत नाम का एक छोटा सा कस्बा है। डॉ प्रज्ञा जैन इसी कस्बे की रहने वाली हैं। शुरुआती दौर की शिक्षा इन्होंने बड़ौत में ही की। इनके पिता पद्म जैन एक आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं और इनकी मां हाउस वाइफ हैं। डॉ प्रज्ञा जैन बचपन से ही मेधावी छात्र रहीं और हाईस्कूल से लेकर इंटरमीडिएट की परीक्षा में सदैव प्रथम स्थान हासिल किया। इसके बाद इन्होंने डॉक्टर बनने का लक्ष्य तय किया। फिर डॉक्टर बनने के बाद अपने भाई वैभव जैन के साथ प्रैक्टिस शुरू की। इसके बाद बैंक ऑफ बड़ोदा में चीफ मैनेजर के पद पर कार्यरत विनीत जैन के साथ इनका विवाह हुआ। शादी के बाद ये दिल्ली के शाहदरा में शिफ्ट हो गईं। 

  •    इसके बाद इन्होंने शाहदरा में ही अपना क्लीनिक स्टार्ट किया और इसके साथ ही पढ़ाई करने का सिलसिला भी जारी रखा। साल 2014 में इन्होंने पहली बार UPSC की परीक्षा दी लेकिन इस बार वे असफल रहीं। साल 2015 में ये फिर से परीक्षा में शामिल हुई लेकिन उनको एक बार फिर असफलता का सामना करना पड़ा। इन असफलताओं से डॉ प्रज्ञा जैन का हौसला नहीं टूटा और वे ज्यादा परिश्रम और लगन के संग परीक्षा की तैयारियों में जुटी रहीं। 
     
  • लेकिन इस बार उनके सामने एक और बड़ी चुनौती ये थी कि वे प्रेग्नेंट थीं। प्रेग्नेंसी के दौरान इन्होंने खूब परिश्रम किया। डॉक्टर ने इनको बेड रेस्ट करने की सलाह दी और डिलीवरी का समय आने में अब कुछ ही दिन बचे थे। मेन्स की परीक्षा में सफल होने के बाद जब इनको साक्षात्कार के लिए बुलाया गया तब डॉक्टर ने उनको बेड रेस्ट करने की सलाह दी थी। बावजूद इसके वो साक्षात्कार देने के लिए पहुंचीं। डॉक्टर ने उनको बहुत ज्यादा देर तक बैठने से भी मना किया था इसलिए उन्होंने बोर्ड के मेंबर्स को पहले ही इंटरव्यू लेने का रिक्वेस्ट किया। बोर्ड मेंबर्स ने उनकी बात मान ली और इंटरव्यू संपन्न हुआ। इंटरव्यू देने के कुछ ही दिनों बाद इन्होंने एक प्यारी सी बिटिया पीहू को जन्म दिया। 
     
  • अब इंतजार था तो बस UPSC का परिणाम आने, रिजल्ट की घोषणा होते ही डॉ प्रज्ञा जैन खुशी से भर उठीं। अब डॉ प्रज्ञा जैन IPS अफसर बन चुकी थीं। अपने क्लीनिक और घर संभालने के साथ वे पढ़ाई करती रहीं, तमाम तरह की कठिनाइयां सामने आए लेकिन इनका आत्मविश्वास मजबूत बना रहा। 

इंटरव्यू में पास होने के बाद भी इनकी चुनौतियां बनी रही। ट्रेनिंग के लिए अपनी 6 महीने की बच्ची को छोड़कर जाना और इसके अलावा प्रेग्नेंसी के बाद इतने कठिन प्रशिक्षण प्रक्रिया से होकर गुजरना बहुत आसान नहीं था लेकिन इन्होंने मजबूत इरादे के संग इस दौर का सामना किया। ट्रेनिंग के दौरान भी एक हादसे में उनके दोनों हाथों की हड्डी भी फ्रैक्चर हो गई। अब प्रज्ञा पंजाब में तैनात हैं और उनकी ये सफलता सबके लिए प्रेरणा स्रोत है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}