• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
खाना और पोषण गर्भावस्था

जानिए, गर्भावस्था के समय सौंफ खाने के फायदे है या नुकसान?

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 11, 2019

जानिए गर्भावस्था के समय सौंफ खाने के फायदे है या नुकसान

भारत में सौंफ का खास महत्व है। यह जहां एक तरफ मसाले के रूप में भोजन में इस्तेमाल की जाती है, तो इसमें मौजूद गुणों के कारण इसे औषधि के रूप में भी यूज किया जाता है। इसमें मौजूद पाचक गुण की वजह से बड़ी संख्या में लोग खाना खाने के बाद सौंफ खाते हैं। इसके अलावा यह पेट फूलने व गैस जैसी समस्या को भी दूर करता है। पर सौंफ को लेकर एक बहस जो लंबे समय से चल रही है, वो ये है कि प्रेग्नेंसी के दौरान इसका सेवन करना चाहिए या नहीं। इसको लेकर सब अपनी-अपनी राय देते हैं, पर हकीकत ये है कि प्रेग्नेंसी में इसका सेवन ठीक नहीं है। इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे गर्भावस्था में सौंफ खाने से क्या होते हैं नुकसान और इससे कैसे बचें।

प्रेग्नेंसी में सौंफ खाने के क्या हो सकते हैं नुकसान? / What are the side effects of eating Saunf In Hindi 

वैसे तो सौंफ के बहुत से फायदे हैं। गर्भावस्था के शुरुआती चरण में यह कुछ समस्याओं में काफी फायदा पहुंचाता है, लेकिन प्रेग्नेंसी के महीने बढ़ते ही इसके सेवन से फायदे कम और जटिलताएं ज्यादा बढ़ती हैं। आइए विस्तार से जानते हैं प्रेग्नेंसी में सौंफ खाने से होने वाले नुकसानों के बारे में।

  1. योनि से ब्लीडिंग -  गर्भावस्था में महिलाओं को मॉर्निंग सिकनेस की समस्या होती है। इस समस्या से राहत पाने के लिए कुछ महिलाएं सौंफ खाने लगती हैं, जो ठीक नहीं है। प्रेग्नेंसी के दौरान सौंफ खाने से कई महिलाओं के साथ योनि से खून निकलने की समस्या आने लगती है।
     
  2. अजन्मे बच्चे पर भी प्रभाव -  कई रिसर्च में सामने आया है कि गर्भावस्था में अधिक सौंफ खाने से पेट में पल रहे बच्चे पर भी कई तरह के बुरे प्रभाव पड़ते हैं।
     
  3. गर्भपात का खतरा – प्रेग्नेंसी में अधिक सौंफ खाने से कुछ गंभीर मामलों में तो गर्भपात का भी खतरा बन जाता है। इसलिए गर्भावस्था में सौंफ से दूर रहने की सलाह दी जाती है।
     
  4. भ्रूण के विकास पर भी असर – कुछ रिसर्च में ये सामने आया है कि गर्भावस्था में ज्यादा सौंफ खाने से भ्रूण के विकास पर भी बुरा असर पड़ता है।
     
  5. पीरियड्स शुरू होना –  बेशक सौंफ खाने से कई फायदे होते हैं, लेकिन गर्भावस्था के दौरान इसे खाना काफी नुकसानदायक होता है। डॉक्टरों के अनुसार अधिक सौंफ खाने का असर उनमें पनपने वाले फोएटस पर पड़ता है और कई मामलों में तो गर्भावस्था के दौरान सौंफ खाने से पीरियड्स भी शुरू हो जाते हैं। प्रेग्नेंसी के समय पीरियड्स शुरू होने का मतलब है पेट में पल रहे बच्चे पर इसका असर पड़ना। यही वजह है कि 9 महीने तक गर्भवती को सौंफ  खिलाने को मना किया जता है।

प्रेगनेंसी में सौंफ खाने के क्या  कुछ  फायदे भी होते हैं? | Pregnancy Me Saunf Khane Ke Fayde


हालांकि ऐसा नहीं है कि प्रेग्नेंसी के दौरान सौंफ का सेवन करने से सिर्फ नुकसान होने की ही संभावना बनी होती है। कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक इस समय में सौंफ खाने से कुछ लाभ भी हो सकते हैं। लेकिन फिर भी  हमारा सुझाव ये है कि आप अगर प्रेग्नेंसी के दौरान सौंफ का सेवन करना चाहती हैं तो पहले अपने डॉक्टर की सलाह अवश्य ले लें। अब आप ये भी जान लें कि गर्भावस्था के दौरान सौंफ खाने के कई फायदे हो सकते हैं। जो इस प्रकार हैं:

  1.  मॉर्निंग सिकनेस- प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली मॉर्निक सिकनेस की समस्या से सौंफ राहत दिला सकता है। उल्टी और मतली से निजात दिलाने में सौंफ फायदेमंद हो सकता है।
     
  2.  पाचन के लिए- गर्भावस्था के दौरान पाचन से संबंधित समस्याओं में सौंफ का सेवन करने से लाभ मिल सकता है। सौंफ में पाया जाने वाला फाइबर कब्ज की समस्या से भी निजात दिला सकता है।
     
  3.  अनिद्रा से राहत- प्रेगनेंसी के दौरान अगर आपको अनिद्रा की समस्या है तो सौंफ का सेवन कारगर सिद्ध हो सकती है। सौंफ में मैग्नीशियम नाम का तत्व पाया जाता है जो कि अनिद्रा की समस्या को दूर करने में सहायक है। 
     
  4. डाइबिटीज यानि मधुमेह में लाभदायक- प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाले डाइबिटीज की समस्या में भी सौंफ काफी फायदेमंद हो सकता है। डाइबिटीज  को कंट्रोल करने में इसमें पाया जाने वाला हाइपोग्लाइसेमिक गुण असरदायक है।
     
  5. ब्लडप्रेशर की समस्या- प्रेग्नेंसी के दौरान उच्च रक्तचाप की समस्या होने की संभावना बनी होती है। सौंफ में पोटैशियम पाया जाता है और ये आपके ब्लड में सोडियम की मात्रा को कम करने में सहायक हो सकता है।  

गर्भावस्था के दौरान ये बहुत जरूरी है कि आप अपने आहार का पूर्ण ध्यान रखें। इसके अलावा ये भी महत्वपूर्ण है कि हर व्यक्ति के शरीर की जरूरतें अलग-अलग हो सकती है। कुछ आहार जो आपके लिए सही है वह दूसरे के लिए भी बिल्कुल सही हो ये आवश्यक नहीं। इसलिए आप अपने डॉक्टर व आहार विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। हां, एक और बात की किसी प्रकार के नुस्खे या दवा का इस्तेमाल आप बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करें। अपना ध्यान रखें और विश्वास रखें कि आने वाले दिनों में सब कुछ बेहतर होने वाला है। 

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
टॉप खाना और पोषण ब्लॉग

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}