• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
खाना और पोषण

जलजीरा होता है फायदेमंद! और पढ़ें

Anubhav Srivastava
7 से 11 वर्ष

Anubhav Srivastava के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Nov 01, 2020

जलजीरा होता है फायदेमंद और पढ़ें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

एक ग्लास ठंडा जलजीरा आपके बच्चे के गर्म और सुस्त दिन को ताज़गी से भरने का आसान उपाय है।  ये रिफ्रेशिंग ड्रिंक आपने कभी न कभी ज़रूर पी होगी। अब अपने बच्चों को भी इसका लाभ दें।  जलजीरा में मिलाया गया काला नमक, ज़ीरा, अदरक, नींबू, पुदीना, आमचूर पावडर और इसी तरह की अन्य सामग्री, इसे न सिर्फ टेस्ट में शानदार बनाती है बल्कि सेहत के लिए भी ये एक हेल्दी ड्रिंक बन जाती है।  यहाँ हम आपको जलजीरा के कुछ ऐसे फायदे बताएंगे, जिसको जानने के बाद आप कभी-कभी नहीं, बल्कि हर रोज़ अपने बच्चे को इस रिफ्रेशिंग ड्रिंक को पिलाना चाहेंगे।
 

  • जलजीरा हमारे देश के लोकप्रिय पेय पदार्थों में से एक है। गर्मी के दिनों में जब हम अत्यधिक तापमान के कारण झुलस रहे होते हैं तो जलजीरा हमें ताजगी प्रदान करता है। ऐसे में जलजीरा पीना आपके बच्चे के लिए बेहद फायदेमंद सौदा हैं।इसमे काला नमक, अदरक, नींबू, पुदीना आदि को मिलाया जाता है जो कि आपके और आपके बच्चे के लिए अत्यंत लाभकारी हैं।
     
  • जलजीरा के स्वाद को चटपटा बनाने वाले आमचूर में मौजूद विटामिन सी की प्रचुर मात्रा से बच्चे की त्वचा का रंग निखरता है। इससे त्वचा से संबन्धित अन्य लाभ भी मिलते हैं और विटामिन सी के सेवन से बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि होती है। 
     
  • जलजीरा आपके बच्चे को गैस की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा कब्ज की समस्या भी जलजीरा पीने से दूर होती है। यह बेहतरीन स्वाद के लिए तो जाना ही जाता है और यदि आप इसे नियमित रूप से अपने बच्चे को देती हैं तो उसका पेट भी साफ रहता है और इससे मतली एवं चक्कर आने की समस्या से भी आपके बच्चे को निजात मिलती है।इसके अलावा पेट की अन्य समस्याओं जैसे उल्टी, ऐंठन और गठिया आदि से भी काफी राहत मिलती है।
     
  • अगर आपके बच्चे को एसिडिटी की समस्‍या है तो उसे जलजीरा धीरे धीरे पिलायें, जब तक कि एसिडिटी कम ना हो जाए।यह कब्‍ज की समस्‍या को दूर करता है। इसे बच्चे को दिन में दो बार पिलायें।इसे पीने से गैस दूर होती है। इसे तब तक धीरे धीरे पिलायें जब तक कि पेट की गैस पूरी तरह ना निकल जाए।
     
  • जलजीरा पीने से एनीमिया की समस्या दूर होती है।जलजीरा में लौह तत्व की प्रचुर मात्रा होती है। जब आपके बच्चे के  शरीर में खून की कमी हो जाती है तो आप जलजीरा की सहायता से अपने बच्चे में इसकी कमी को दूर कर सकते हैं। अर्थात जलजीरा एनीमिया के लिए भी बहुत फायदेमंद है।
     
  • यदि आपका बच्चा मोटापे से परेशान है तो भी जलजीरा के इस्तेमाल से उसे लाभ हो सकता है। जलजीरा में कैलोरी नहीं होती है और यह शरीर के टॉक्सिक पदार्थ को बाहर निकालता है। इससे बच्चे का वजन कम होने में मदद मिलती है। इसे पीने से भूख कम लगती है जिससे आपका बच्चा अति से ज्‍यादा भोजन खाने से बच जाएगा।
     
  • गर्मियों में डिहाइड्रेशन की समस्या बेहद आम होती है ऐसे में अपने बच्चे के शरीर को हाइड्रेटेड बनाए रखने के लिए आप उसे जलजीरा दे सकती हैं। यह शरीर में गर्मियों के मौसम में पानी की कमी नहीं होने देता।
     
  • जलजीरा सीने में जलन से राहत दिलाता है। गर्मी के दिनों में इसे पीने से बच्चे का लू लगने से भी बचाव करता है। इससे उसके शरीर और दिमाग़ दोनो को ठंडक मिलती है।
     
  • तनाव या चिड़चिड़ापन की परेशानी में भी जलजीरा आपके बच्चे के लिए बेहद फायदेमंद पेय साबित होगा।
     
  • जलजीरा में हम बेहतर स्वाद के लिए काला नमक को भी मिलाते हैं। नमक पाचन के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। जलजीरा सीने में जलन के लिए भी एक रामबाण है। यह आंतों को ठीक रखता है।
     
  • जलजीरा फायदे वैसे तो बहुत हैं लेकिन अगर अंधा-धुंध तरीके यदि इसे आप अपने बच्चे को देती हैं तो इसका नुकसान भी हो सकता है। जलजीरा के अत्यधिक सेवन से बचना चाहिए क्योकि ज्यादा सेवन से कभी-कभी कुछ बच्चों को इससे एलर्जी हो सकती है। किसी प्रकार की परेशानी होने पर चिकित्सक से परामर्श करें।

    कहने का अर्थ यह है कि जलजीरा न सिर्फ एक पेय है बल्कि यह अपने औषधीय गुणों के कारण एक दवा भी बन जाता है। अतः अपने बच्चे को रसायन वाले पेयों के बजाय जलजीरा पीने की आदत डालें। साथ ही यह भी ध्यान रखें की इसकी अति न होने पाएँ क्योंकि अति हर चीज की बुरी होती है।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • 2
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jan 28, 2019

very nice क्या हम रोज 1 पाउच जलजीरा पी सकते है और बच्चों को भी दे सकते है

  • Reply
  • रिपोर्ट

| Apr 27, 2020

How to made homemade jaljeera

  • Reply
  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Sadhna Jaiswal

आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट

गर्भावस्था

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}