Health and Wellness

कब और कैसे करें वॉकर का इस्तेमाल बच्चे के लिए

Parentune Support
1 to 3 years

Created by Parentune Support
Updated on Mar 11, 2018

कब और कैसे करें वॉकर का इस्तेमाल बच्चे के लिए

अक्सर पैरेंट्स चाहते हैं कि उनका बच्चा जल्दी-जल्दी चलना सीखे। इसके लिए वह तमाम कोशिशें करते हैं। इसी क्रम में वह वॉकर का भी सहारा लेते हैं। वॉकर में अपने बच्चे को तेजी से चलते हुए देखकर पैरेंट्स काफी खुश भी होते हैं। उन्हें लगता है कि इससे वह जल्दी चलना सीख लेगा। यह काफी हद तक सही भी है, लेकिन वॉकर से फायदे के साथ-साथ नुकसान भी होते हैं। पिछले कुछ साल में हुए रिसर्चों में ये सामने आया है कि इसका इस्तेमाल बच्चे के विकास को स्लो करता है। आज हम बात करेंगे आखिर कब और कैसे करें वॉकर का इस्तेमाल करें।
 

वॉकर देने में जल्दबाजी न करें

अक्सर देखा जाता है कि जल्दी की चाहत में पैरेंट्स बच्चों को वॉकर में बैठा देते हैं, लेकिन ये सही नहीं है। पहले बच्चे को बैठने व घुटने के बल ठीक से रेंगने की स्थिति में आने दें। इसके बाद ही वॉकर के बारे में सोचें। वॉकर को लेकर कुछ साल पहले चाइल्ड सेफ्टी पर यूरोप में एक शोध हुआ था, उसमें 6-15 महीने के 109 शिशुओं में से 56 को वॉकर दिया गया था। बाद में सामने आया कि जिनको वॉकर दिया गया वे बच्चे शारीरिक संचारण और मानसिक विकास के मानदंडों (जैसे बैठना, रेंगना व चलना) में उन 53 बच्चों से काफी पीछे रहे जिन्हें वॉकर नहीं दिया गया था। शोध में ये भी निकलकर आया कि जिन बच्चों ने वॉकर का इस्तेमाल नहीं किया था वे औसतन 5 महीने की उम्र में बैठना, 8 महीने में घुटने के बल रेंगना व 10 महीने में चलने लगे।
 

वॉकर से नहीं हो पाता पूर्ण विकास

दरअसल बच्चा घर में चल-फिर कर, बहुत सी वस्तुओं की खोज कर काफी कुछ सीखता है। वह किसी चीज को गिराकर उसे पाने के लिए कई तरह की शारीरिक क्रिया करता है, जो वॉकर पर बैठे बच्चा नहीं कर पाता। ऐसी स्थिति में बच्चा अपने स्तर पर खोज नहीं कर पाता और उसकी बुद्धि का विकास नहीं हो पाता है।
 

7-8 महीने के बाद ही डालें वॉकर में

बच्चा आमतौर पर 6-7 महीने की उम्र में घुटने के बल रेंगना शुरू कर देता है। बच्चा जब घुटने के बल सही से रेंगने लगे, तो समझिए व चलना भी सीख जाएगा। अगर इस दौरान आपको कोई दिक्कत लगे या आप चाहते हैं कि बच्चा जल्दी चलना सीख जाए तो विकल्प के रूप में आप बच्चे को 7-8 महीने का होने के बाद ही वॉकर में डालें।
 

1 दिन में 40 मिनट से ज्यादा वॉकर में न रखें

बच्चे को वॉकर की आदत भी लंबे समय तक के लिए न लगाएं। ज्यादा समय तक वॉकर में रहने से बच्चे की रीढ़ की हड्डी को नुकसान पहुंचने का डर रहता है। अगर बच्चे को वॉकर में डालना शुरू कर दिया है, तो इस बात का ध्यान रखें कि एक दिन में उसे 40 मिनट से ज्यादा वॉकर में समय न बिताने दें। क्योंकि ज्यादा देर तक उसमें बैठे रहने से उसे नुकसान पहुंचेगा।

  • 2
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Apr 06, 2018

Mera beta 8 mahine ka h bt vo abhi tk ghutno se bhi nhi khiskta h abhi tk jha behthati hu vhi betha rHta h kya ye tensan ki baat h

  • Report

| Mar 21, 2018

mera beta 13month ka h but vo chalta ni sirf ghutne ke bal chalta h kya kru

  • Report
+ START A BLOG
Top Health and Wellness Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error