पेरेंटिंग समारोह और त्यौहार

प्रेग्नेंसी में करवा चौथ का व्रत रखें तो इन बातों का ख्याल रखें

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Oct 26, 2018

प्रेग्नेंसी में करवा चौथ का व्रत रखें तो इन बातों का ख्याल रखें

प्रेग्नेंसी के दौरान व्रत रखना चाहिए या नहीं इसको लेकर महिलाओं में भ्रम की स्थिति बनी रहती है। कुछ व्रत तो ऐसे होते हैं जिनको रखना प्राय: सभी सुहागन स्त्रियों के लिए एक नियम सा बन चुका होता है। इन्हीं व्रतों में से एक है करवा चौथ का व्रत। मान्यताओं के मुताबिक अपने पति की लंबी आयु के लिए महिलाएं करवा चौथ के व्रत का पालन करती हैं। करवा चौथ व्रत में सूर्योदय से लेकर रात में चांद निकलने तक ना तो कुछ खाना होता है और ना ही पानी पीना होता है लेकिन इस तरह के निर्जल व्रत का पालन करना गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे की सेहत के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। हालांकि कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जो इन परिस्थितियों में भी व्रत रखना चाहती है। खैर, अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान करवा चौथ का व्रत रख रही हैं तो इन जरूरी बातों का जरूर ध्यान रखें।     

 

प्रेग्नेंसी के दौरान व्रत रखते समय इन बातों का ख्याल रखें / Keep these things in mind while fasting during pregnancy

  1. डॉक्टर से सलाह जरूर लें-  करवा चौथ का व्रत आपको रखना चाहिए या नहीं इसके बारे में सबसे महत्वपूर्ण सलाह आपके डॉक्टर की है। अगर आपका डॉक्टर व्रत के लिए इजाजत देते हैं तो ही आप व्रत रखें अन्यथा नहीं। दरअसल गर्भावस्था के दौरान ज्यादा देर तक भूखे रहने से हाइपरटेंशन या डायबीटीज होने का खतरा रहता है। हालांकि इसको लेकर अभी कोई रिसर्च सामने नहीं आया है जो इस बात को साबित कर सके कि गर्भावस्था के दौरान व्रत करना सुरक्षित है या नहीं लेकिन फिर भी डॉक्टर से सलाह मशविरा जरूर कर लें उसके बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचे। 
     
  2. डिहाइड्रेशन का ख्याल रखें-  मान लीजिए की आपके डॉक्टर ने व्रत करने की इजाजत दे भी दिया है तो इस बात का ख्याल जरूर रखें कि करवा चौथ के दिन पूरी तरह से खाना-पीना बंद ना करें। दिन के समय में पानी, दूध, फल, जूस और नारियल पानी जैसे तरल पदार्थों का सेवन करते रहना चाहिए ताकि आप डिहाइड्रेशन से बच सकें।
     
  3. व्रत के दौरान हाई कैलोरी फूड या बहुत ज्यादा फैट वाले खाद्य पदार्था का सेवन करने से बचें। ऐसे खाद्य पदार्थ जिसमें अत्यधिक मात्रा में चीनी या नमक हो तो उसको नहीं खाएं नहीं तो जेस्टिटेशनल डायबिटीज या ब्लड प्रेशर होने का खतरा हो सकता है।
     
  4. व्रत के दौरान अगर एसिडीटी, गैस, बहुत ज्यादा थकान, सिरदर्द, उल्टी या चक्कर जैसी परेशानियां आ रही है तो तत्काल अपना व्रत खोल दें और कुछ खा लें।
     
  5. भले आप व्रत में हों लेकिन आपको हमेशा याद रखना चाहिए कि आपके गर्भ में एक बच्चा भी मौजूद है और उसकी जरूरतों को पूरा करना भी आपका ही दायित्व है। व्रत में होने के बावजूद आप प्रत्येक 2 घंटे पर फल या अन्य कोई भी खाद्य पदार्थ खाती रहें। 
     
  6. व्रत को शुरू करने से पहले ड्राई फ्रूट्स या अन्य पौष्टिक पदार्थों का भारी मात्रा में सेवन कर लें ताकि आपके शरीर में ऊर्जा का स्तर मेंटेन रह सके।
     
  7. चूंकि आप व्रत में रहेंगी तो इस दौरान आपको अपने शरीर के आराम का भी ख्याल रखना चाहिए। इस दौरान संभव है कि आप तुरंत थकान महसूस करने लग जाएं तो इसलिए शरीर को आराम देना बहुत जरूरी है।
     
  8.  हाइपरटेंशन और डायबिटीज रोगी महिलाएं व्रत ना रखें। इससे ब्लड प्रेशर बढ़ने और दौरा पड़ने का खतरा हो सकता है।
     
  9. गर्भावस्था के अंतिम 3 महीने वाली महिलाएं व्रत ना रखें।
     
  10. व्रत के पूरा हो जाने के बाद एक साथ ज्यादा खाना ना खाएं नहीं तो अपच और एसिडिटी के चलते पेट दर्द भी हो सकता है। शुरुआत तरल पदार्थ से करें और उसके बाद थोड़ी थोड़ी मात्रा में भोजन करें।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Oct 26, 2018

Thanks... very good post for pregnant ladies...

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}