• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
पेरेंटिंग बाल मनोविज्ञान और व्यवहार

सार्वजनिक जगहों पर छोटे बच्चों को ले जाते वक़्त रखें इन बातों का ख़याल

Anubhav Srivastava
1 से 3 वर्ष

Anubhav Srivastava के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Mar 16, 2020

सार्वजनिक जगहों पर छोटे बच्चों को ले जाते वक़्त रखें इन बातों का ख़याल
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

बच्चे कई बार अपने मूड के हिसाब से काम करते हैं। ये जरूरी नहीं कि बच्चे हमेशा उस तरह बर्ताव करें  जैसा कि आप चाहते हैं।  ऐसे में सार्वजनिक जगहों पर कई बार माता-पिता को शर्मिंदा होना पड़ जाता है। बच्चे औरों के सामने कई बार अलग तरीके का व्यवहार करने लगते हैं।  ऐसा ना हो, इसके लिए आप बच्चों को इन टिप्स के सहारे आसानी से ट्रेनिंग दे सकते हैं।


बच्चे के साथ बाहर जाने के समय इन बातों का जरूर ख्याल करें/ Take Care Of These Things While Going Out With The Child In Hindi

अगर आप बच्चे के साथ कहीं बाहर जाने की सोच रहे हैं तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें। इन बातों का अगर आपने ध्यान रखा तो आपके बच्चे आपको परेशान नहीं करेंगे। 

  1.  थके हुए या भूखे बच्चे को कभी भी कहीं बाहर ले कर ना जायें  ऐसे में बच्चे चिड़चिड़े हो जाते हैं। उन्हें भरपूर आराम दें और ख़याल रखें कि बाहर जाने से पहले वो ठीक से खा लें।
     
  2.  बच्चे की बात सुनें जब बच्चे माता-पिता से जुड़ा हुआ महसूस नहीं करते, तब भी वो कई बार इस तरह का बर्ताव करने लगते हैं ताकि वो आपका ध्यान पा सकें। वो ख़ुद को आपके जितना क़रीब पाएंगे, उतने ही वो शांत रहेंगे।
     
  3.  उसे बाहर ले जाने से पहले बताएं कि जहां वो जा रहे हैं, वहाँ क्या-क्या होगा और आप उनसे कैसे बर्ताव की उम्मीद रखते हैं।
     
  4.  रिश्तेदारों या दोस्तों के घर जाने पर उन्हें ऐसा महसूस ना होने दें कि आपका ध्यान उन पर नहीं है। इससे वो असहज हो जाते हैं। यात्रा के समय भी उनसे समय-समय पर बात करते रहें।
     
  5.  बच्चों को सीखना पसंद होता है. हर चीज़ को देख कर उनके मन में सवाल आते हैं। बाहर जायें तो उन्हें आस-पास की चीज़ों के बारे में बताते रहें। इससे उनकी जिज्ञासा भी शांत होगी और वो बोर भी नहीं होंगे।
     
  6. जब बच्चा बेचैन होने लगे तो उसे अनदेखा करने की गलती न करें ज़्यादातर माता-पिता ऐसे में जल्दी काम निपटाने की कोशिश करने लगते हैं जबकि ऐसे में आपको शांत होकर बच्चे से जुड़ने की कोशिश करनी चाहिए। उसे गले लगायें, उसकी आँखों में देखें और उसे गोद में उठाएं।
     
  7.  उसकी बात हमेशा ध्यान से सुनें. जब बच्चे को लग़ता है कि अप उसे समझ रहे हैं तब वो ज़्यादा ख़ुश रहता है।
     
  8.  जब बच्चा ज़िद करने लगे तो हर बार उसकी मांग पूरी ना करें. शुरू में बच्चा रोयेगा लेकिन धीरे-धीरे समझ जायेगा कि आप उसकी हर जायज़-नाजायज़ ज़िद पूरी नहीं करेंगे
     
  9.  अगर बच्चा बाहर बिगड़ने लगे तो उसे कहीं अकेले में ले जायें, जिससे बाक़ी लोगों को असुविधा न हो। आप उसे कुछ देर के लिए कार में ले जाकर चुप करा सकते हैं।
     
  10.  अपना धैर्य ना खोएं, बच्चे बच्चों की तरह बर्ताव करते ही हैं और इसमें कोई शर्म की बात भी नहीं है। ये ना सोचें कि देखने वाले क्या सोच रहे होंगे।

ये हैं कुछ ऐसे उपाय जिनको अगर आप आजमाएंगे तो आपके बच्चे घर की तरह बाहर भी सामान्य तरीके से व्यवहार करेंगे। 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Deepak Pratihast
मॉमबेस्डर
आज के दिन के फीचर्ड कंटेंट
आज का पैरेंटून
पैरेंटिंग के गुदगुदाने वाले पल

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}