शिशु की देख - रेख

कितना सही है बच्चे को फॉर्म्युला मिल्क पिलाना

Parentune Support
0 से 1 वर्ष

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Aug 28, 2018

कितना सही है बच्चे को फॉर्म्युला मिल्क पिलाना

नवजात शिशु के लिए सबसे अच्छा आहार मां का दूध होता है। मां का दूध मिलावट रहित और सभी पोषक तत्वों से भरपूर होता है, लेकिन कई बार ऐसे हालात बन जाते हैं, जहां मां को दूध नहीं बनता या कुछ और वजहों से मां बच्चे को अपना दूध नहीं पिला पाती। ऐसे में बच्चे को फॉर्म्युला दूध पर ही निर्भर होना पड़ता है। फॉर्म्युला दूध या पाउडर दूध एक तरह से मां के दूध का दूसरा विकल्प है। कई मां अपने बच्चों को अपने दूध के अलावा फॉर्म्युला दूध भी देती हैं। वैसे मां के दूध की फॉर्म्युला दूध से कोई तुलना नहीं की जा सकती, लेकिन अगर फॉर्म्युला दूध से बच्चे की सेहत पर कोई नुकसान नहीं हो रहा तो इसे पिलाने में कोई समस्या नहीं है। यह मूलरूप से पाउडर के रूप में गाय का ही दूध होता है।

फॉर्म्युला दूध खरीदने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

  1. बच्चे के लिए फॉर्म्युला दूध खरीदने से पहले बहुत सी ऐसी बातें हैं जिनको जानना जरूरी है। दरअसल फॉर्म्युला दूध के विभिन्न ब्रैंडों की हर बच्चे के लिए अलग-अलग प्रतिक्रिया होती है। ये जरूरी नहीं कि जो दूध एक बच्चे के लिए ठीक है, वह दूसरे के लिए भी ठीक हो। इसलिए आपको कई फॉर्म्युला दूध यूज करके देखना पड़ सकता है कि आखिर कौन सा दूध आपके बच्चे के अनुकूल है।
     
  2. वैसे तो सभी फॉर्म्युला दूध में एक ही तरह की सामग्री का यूज किया जाता है, लेकिन इसके बाद भी आपका बाल रोग विशेषज्ञ ही बच्चे के शारीरिक विकास के आधार पर आपके शिशु के लिए सही फॉर्म्युला की सलाह दे सकता है।
     
  3. फॉर्म्युला मिल्क बनाते समय सफाई का खास ध्यान रखें। अपने हाथ अच्छे से धो लें।
     
  4. बोतल में दूध डालने से पहले उसे ठीक से स्टेरलाइज ( किटाणुमुक्त) कर लें।
     
  5. फॉर्म्युला मिल्क बनाने से पहले उचित मात्रा में पानी उबालें। उबले हुए पानी को कमरे के तापमान पर आ जाने के बाद इसमें से 500 मिलीलीटर पानी को स्टेरलाइज करके रखी 1 लीटर की बोतल में डाल लें। प्रत्येक 30 मिलीलीटर फॉर्म्युला दूध के लिए एक स्कूप का यूज करें और उसे इस पानी में मिलाएं। बोतल को धीरे-धीरे घुमाएं। ध्यान रखें कि इसमें हवा के बुलबुले न बनें। अब तैयार दूध को किसी खुले बर्तन में डाल लें और चम्मच की मदद से बच्चे को पिलाएं। चाहें तो बोतल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
     
  6. अगर आपको लगता है कि तैयार दूध ठंडा हो गया है और आप बच्चे को थोड़ा गर्म दूध देना चाहती हैं, तो एक पैन में कुछ पानी उबाल लें और तैयार दूध की बोतल को कुछ समय के लिए गर्म पानी में डालें। बोतल को तब तक रखें, जबतक दूध आपके हिसाब से गर्म नहीं हो जाता। इस बात का खास ध्यान रखें कि तैयार दूध कभी भी माइक्रोवेव या स्टोव पर गर्म न करें।
     
  7. 24 घंटे से ज्यादा समय तक रेफ्रिजरेटर में व 1 घंटे से ज्यादा समय तक कमरे के तापमान में रखे फॉर्म्युला दूध को कभी भी बच्चे को न दें। उसे फेंकना ही बेहतर है।
     
  8. दूध तैयार करने से पहले बोतल, निप्पल, निप्पल लगाने वाली रिंगग और ढक्कन को गर्म पानी का इस्तेमाल करते हुए साबुन से अच्छे से धोएं।

 

ये जानकारी आपको कैसी लगी ! हमें अपने कमैंट्स, लाइक्स के माध्यम से जरूर बताएं।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 1
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Oct 10, 2017

thankyou parentune support . sahi me maa ka doodh amrit hota hai.

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}