बाल मनोविज्ञान और व्यवहार

क्या आपके बच्चे को गुस्सा आता है! इसे पढ़ें...

Parentune Support
सभी आयु समूहों

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 15, 2018

क्या आपके बच्चे को गुस्सा आता है इसे पढ़ें

गुस्सा आना एक सामान भावना है।लेकिन अगर बच्चे का व्यवहार अनियंत्रित या आक्रामक हो जाता है तो गुस्सा एक समस्या बन सकता है।
 

आपका बच्चा इतना गुस्सा क्यों करता है?

ऐसे कई कारण हैं जिनमें आपका बच्चा अन्य बच्चों से ज्यादा गुस्सा आता हो:

 

  • परिवार के सदस्यों का बहस करना या एक-दूसरे से गुस्सा होना:एक स्त्य है कि जैसा वातावरण वैसा आचरण मतलब कि हम जैसे माहोल मे रह्ते है उसका असर हमारे व्य्वहार मे नज़र आता है,आपका बच्चा परिवार मे सदस्यो को लड्ता झगड्ता देखेगा उसका सिधा असर उसके दिमग पे होगा फिर या तो वो बहुत सहम जयेगा या फिर वो भी गुस्से वाला बन जायेगा ।
     
  • दोस्ती मे समस्याओं का होना: बच्चे अपने दोस्तो के बहुत करीब होते है,कभी कभी दोस्ती मे अन-बन के कारण उनका मूड खराब रहता और इस स्थिति मे बच्चे घर मे गुस्से मे या चिड्चीडे बने घुमते है।
     
  • किसी दुसरे द्वारा तंग किये जाना:बहुत बार ऐसा होता कि हम अपनी परेशानीयो मे इत्ना घिर जाते कि बच्चा किस मुसिबत मे है इसके बारे मे ध्यान नही जाता। सायद उसे कोइ तंग कर रहा हो क्लास मे ,सड्क पे या आस-पड़ोस मे और या फिर किसी और के द्वारा पर बच्चा बता नही रहा और जिसके कारण उसके स्वभाव मे अंतर दिखता है ।
     
  • स्कूलवर्क या परीक्षा कि परेशानी: इस प्रतियोगिता कि दुनिया मे हर कोई चाहता की उसका बच्चा आगे निकले और हम इतना दबाव डालते कि 90% -99% तक लाना है। उन्हे प्रोत्साहित करने कि जगह उन्हे सुनाते रह्ते है की पढ़ नही रहे ,दिन भर खेलते है,फेल होंगे तो पता चलेगा इत्यादी इत्यादी ।
     
  • किसी चीज के बारे में बहुत तनावग्रस्त, चिंतित या भयभीत महसूस करना
     
  • यौवन के दौरान हार्मोन परिवर्तन : हर उम्र के बाद हार्मोन मे परिवर्तन आता और इसका असर शरिर और दिमाग दोनो पे पड़ता है क्युकि इसमे किशोर मस्तिष्कतनाव हार्मोन,सेक्सहार्मोन,और विकास हार्मोन को बाहर निकालते है जो कि मस्तिष्क के  विकास को प्रभावित करती है।
     

कुछ सरल उपाय:
 

ऐक साथ मिलकर गुस्से से निपटे

अपने बच्च के साथ टीम बनाऐ और गुस्से से निपटने मे सहायता करे, इस प्रकार आप उन्हे समझा सकते है की परेशानी उनमे नही है,गुस्से मे है। अपने बच्चे को गुस्से के संकेतों को पहचाने मे उनकी सहायता करें।उदाहरण के लिए:

  • उनका दिल तेजी से धड़कना
  • उनकी मांसपेशियों में तनाव आना
  • अपने दांत पिसना
  • अपनी मुट्ठी को बल पुर्वक बांधना
  • शांत होके घूरना
     
बच्चे के लिए गुस्से के समाधान 

गुस्से के कारण क्या- क्या परेशानियां हो रही है यह जानने के लिए मिलकर काम करें। गुस्से के प्रबंधन के लिए उपयोगी रणनीतियों के बारे में बात करें

  • आप अपने बच्चे को प्रोत्साहित कर सकते हैं
  • 10 तकगिनती गिने।
  • स्थिति से दूर चले जाना।
  • धीरे-धीरे और गहराई से साँस लें।
  • एक विश्वसनीय व्यक्ति से बात करें।
  • गुस्से को शांत करने के लिए एक निजी जगह पर जाएं।
     

सकारात्मक रहें

सकारात्मक रहना महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया है ।अपने बच्चे के प्रयासों और अपने स्वयं के प्रयासों की प्रशंसा करें, चाहे कितना भी छोटा हो,इससे आपके बच्चे का विश्वास बढ़ेगा कि वे अपने गुस्से का प्रबंधन कर सकते हैं। इससे उन्हें महसूस होगा कि आप दोनों एक साथ सीख रहे हैं।

बच्चो के दोस्त बने दोस्त वो होता है जिस्से आप अपने सारे दुख दर्द, खुशी,अपकी निजी बाते सब कछ बांट सकते हो क्युकि आपको पता है कि वो आपको समझेगा बिना डांते ,बिना आप पे गुस्सा किये । अगर माता -पिता अपने ब्च्चो क दोस्त कि तरह समझाये तो उसके गुस्से कि वजह जान पायेंगे ।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 2
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Feb 22, 2018

very helpful

  • रिपोर्ट

| Jan 17, 2018

Very useful.....

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप बाल मनोविज्ञान और व्यवहार ब्लॉग
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}