खाना और पोषण

क्या बच्चों को जूस व शेक दिन के खाने की जगह देना सही है - यहाँ जानें

Anubhav Srivastava
3 से 7 वर्ष

Anubhav Srivastava के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jul 28, 2018

क्या बच्चों को जूस व शेक दिन के खाने की जगह देना सही है यहाँ जानें

आजकल की भागती-दौड़ती जिंदगी के बीच बच्चों की भी जीवन शैली व खानपान की शैली काफी हद तक बदल गई है। इसी का परिणाम है कि आजकल छोटे-छोटे बच्चों में भी कई ऐसी बीमारियां देखने को मिल रहीं हैं, जो पहले अधिक उम्र में हुआ करती थीं। दरअसल आजकल बच्चे सुंतुलित व पौष्टिक आहार की जगह जंकफूड, जूस व शेक पर ज्यादा ध्यान देते हैं। व्यस्तता की वजह से पैरेंट्स भी बच्चों की इस पसंद से सहमत हो जाते हैं, लेकिन यह बच्चे की सेहत के लिए ठीक नहीं है। जूस या शेक का अपना महत्व है और पौष्टिक आहार का अलग महत्व। आज हम बात करेंगे कि क्या जूस या शेक बच्चों के दिन के खाने की जगह ले सकता है। बच्चे के लिए आखिर क्या जरूरी है।

 

जूस या शेक मन संतुष्ट करते हैं भूख नहीं

दरअसल जूस या शेक बच्चे को कुछ पल के लिए स्वाद की वजह से खूब संतुष्ट कर सकते हैं, लेकिन कुछ समय बाद इसका असर खत्म हो जाएगा। यह भूख नहीं मिटा सकते। ऐसे में बच्चा भूखा ही रह जाएगा। सही से खाना न खाने से उसके शरीर पर काफी असर पड़ेगा। वह शारीरिक रूप से कमजोर होने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी अच्छा नहीं कर पाएगा। जूस से शरीर में ताकत आती है ये बात सही है, इसके कई फायदे भी होते हैं। पर ये फायदे इतने बड़े नहीं हैं कि जूस दिन के खाने की जगह ले सके। आहार का अपना ही महत्व है।
 

सही खानपान है जरूरी

आजकल बच्चों को घर में बने खाने की जगह बाहर के जंकफूड, शेक, जूस आइसक्रीम व चॉकलेट जैसी चीजें अच्छी लगती हैं। इसकी वजह से वह घर में बने खाने को नजरअंदाज करते हैं। डॉक्टरों के अनुसार, इस गलत खान-पान की आदत से बच्चों में मोटापा, टाइप-2 डायबिटीज, अस्थमा, आंख व हृदय संबंधी रोग व अन्य तरह की समस्याएं आ रहीं हैं।
 

उम्र के हर पड़ाव पर घर का खाना बेहतर

जन्म से 6 महीने तक बच्चे को मां का दूध ही देना चाहिए। 6 महीने के बाद उसे 1 साल तक दलिया व दाल का पानी देना चाहिए।  1 साल से 2 साल तक बच्चे के लिए दिन में दूध, केला, दलिया व साबूदाने का खाना बेहतर विकल्प है। वहीं 2 से 5 साल की उम्र में दिन में तीन बार संपूर्ण आहार यानी घर में बना हुआ भोजन जैसे खिचड़ी, सूजी का हलवा, हरी सब्जियां, दाल व चावल आदि बच्चे को देना चाहिए। इसके अलावा 5 से 8 साल के बच्चों को कैल्शियम की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। कैल्शियम उन्हें दूध, पनीर, फल, हरी सब्जियों व घर में बने अन्य आहार से ही मिलता है। अतः बच्चों की उम्र के किसी भी पड़ाव पर आहार सबसे महत्वपूर्ण है। हम कह सकते हैं दिन के खाने की जगह जूस व शेक नहीं ले सकते।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 3
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Jul 31, 2018

Ragi ko milk me kis tarha use kr te hai my son 1yer6month

  • रिपोर्ट

| Jul 31, 2018

Mera baccha 3. 5month ka h.. me use din me tin chaar bar khane ko deti hu ..sooji aur aate ka halwa bacche ke liye best hai.. bacche bade hi chav se khate hai..

  • रिपोर्ट

| Apr 27, 2018

Mera beta 2. 5 years ka h uski vomating bnd nhi hoti ja,ise hi weight badta h tbhi vomating ya loose motion ho jate kya kru kuch bto plz.

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}