• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
स्वास्थ्य

धार्मिक स्थल व रेस्टोरेंट खुल गए लेकिन इन 10 बातों का जरूर ध्यान रखें

Prasoon Pankaj
गर्भावस्था

Prasoon Pankaj के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 08, 2020

धार्मिक स्थल व रेस्टोरेंट खुल गए लेकिन इन 10 बातों का जरूर ध्यान रखें
विशेषज्ञ पैनल द्वारा सत्यापित

कोरोना वायरस के चलते पिछले 2 महीनों से देश भर में लॉकडाउन लागू कर दिए गए थे लेकिन 1 जून से अनलॉक 1.0 शुरू कर दिए गए हैं। जिंदगी की जो रफ्तार थम सी गई थी अब एक बार फिर से धीरे-धीरे करके उनको वापस ट्रैक पर लाने की कवायद शुरू हो गई है। 8 जून से बहुत सारे जगहों पर शॉपिंग मॉल्स, होटल, रेस्टोरेंट और धार्मिक स्थलों को खोल दिए गए हैं। लेकिन इसके साथ ही कुछ दिशा निर्देश भी जारी किए गए हैं जिनका पालन करना अनिवार्य है। 

रेस्टोरेंट में जाने के लिए किन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखें

दिल्ली में अभी होटलों और बैक्वेट हॉल को खोलने की अनुमति नहीं दी गई है। रेस्टोरेंट व मॉल्स में थर्मल स्क्रीनिंग कराना अनिवार्य है और हां इसके साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी पूरा ध्यान रखना है। 

  1. रेस्टोरेंट और मॉल के सभी कर्मचारियों व ग्राहकों के लिए मास्क लगाना जरूरी है।

  2.  पूरे कैंपस को समय-समय परसैनिटाइज करते रहना होगा। इसके अलावा सभी टच पॉइंट जैसे कि दरवाजे का हैंडल इत्यादि को विशेष रूप से साफ किया जाएगा।

  3.  सीसीटीवी वर्किंग मोड में होने चाहिए और बिल का भुगतान करने के लिए कैशलेस ट्रांजेक्शन का इंतजाम जरूर होना चाहिए।

  4. बिना फेस मास्क का प्रयोग किए किसी को रेस्टोरेंट में एन्ट्री करने की इजाजत नहीं होनी चाहिए।

  5. रेस्टोरेंट में इंतजार करते समय में भी अपने हाथों को धोते रहें व खाना खाने से पहले भी हाथों को अच्छे से धो लें।

  6. रेस्टोरेंट के सभी कर्मचारी हाथों में ग्लब्स लगाए रखें व मुंह पर मास्क रखें

  7. रेस्टोरेंट में बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं व 10 साल से कम उम्र के बच्चों को साथ लेकर नहीं जाएं।

  8. रेस्टोरेंट के सभी कर्मचारियों को सरकार की तरफ से जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है।

  9. रेस्टोरेंट के एसी को लेकर जो भी गाइडलाइंस बनाए गए हैं उसका पालन अवश्य करें

  10. रेस्टोरेंट में एक दूसरे से कम से कम 6 फीट की दूरी बना कर रखें।

  11. रेस्टोरेंट में एक ग्राहक के चले जाने के बाद दूसरे ग्राहक को उस सीट पर बैठाने से पहले अच्छे से सैनिटाइज किया जाना जरूरी है।

  12. डिस्पोजेबल मेन्यू रखें और उत्तम क्वालिटी का नैपकिन पेपर

  13. रेस्टोरेंट की कुल सिटिंग कैपेसिटी का अधिकतम 50 फीसदी सीटों को ही भरा जा सकता है।

अब बात धार्मिक स्थलों की, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर देश के अधिकांश धार्मिक स्थल खुल गए हैं। मंदिर या अन्य किसी धार्मिक स्थल पर जाने से पहले आपको कुछ एहतियात जरूर बरतने चाहिए। 

धार्मिक स्थलों पर जाने से पहले इन महत्वपूर्ण बातों का जरूर ध्यान रखें

सावधानी के तौर पर मंदिरों में फिलहाल प्रसाद का वितरण नहीं होगा इसके अलावा मंदिरों में लगी घंटियों को भी कपड़े से ढ़क दिया गया है। 

  • मंदिर जाने के बाद अधिकांश लोग वहां पहुंचकर अपने हाथ मुंह को धोते हैं, लेकिन अब आप अपने घर से ही हाथ मुंह को धो लें।

  • मंदिर परिसर में मौजूद किसी भी चीज को फिलहाल हाथ ना लगाएं। मंदिर जाने से पहले अपने पूजन सामग्री जैसे की  लोटा, जल, अगरबत्ती फूल इत्यादि को जरूर चेक कर लें

  • मंदिर में भी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान जरूर रखें

  • मंदिर में दर्शन के उपरांत ना तो रूकें और किसी से भी हाथ नहीं मिलाएं

  • घर वापस आकर फिर अपने हाथ पैरों को अच्छे से जरूर धो लें

  • मंदिर में भी मास्क पहनकर जाएं

  • अभी समूह में भजन-कीर्तन करने से परहेज करें

  • भगवान की मूर्ति को  हाथ ना लगाएं

  • प्रसाद ना तो खरीदें और ना ही घर से लेकर जाएं

  • जूता चप्पल धार्मिक स्थल के बाहर ही उतार दें या अगर आप खुद के वाहन से मंदिर गए हैं तो गाड़ी में ही रख दें

  • मंदिर में मौजूद किसी की चप्पल या जूते में अपना पैर डालने या छूने से बचें

  • 10 साल से कम उम्र के बच्चों को या बुजुर्गों को मंदिर लेकर ना जाएं

इसके अलावा अगर आपको सर्दी, बुखार, खांसी या अन्य किसी प्रकार की बीमारी के लक्षण दिख रहे हों तो अभी सार्वजनिक जगहों पर जाने से बचें व डॉक्टर से संपर्क करें।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

इस ब्लॉग को पेरेंट्यून विशेषज्ञ पैनल के डॉक्टरों और विशेषज्ञों द्वारा जांचा और सत्यापित किया गया है। हमारे पैनल में निओनेटोलाजिस्ट, गायनोकोलॉजिस्ट, पीडियाट्रिशियन, न्यूट्रिशनिस्ट, चाइल्ड काउंसलर, एजुकेशन एंड लर्निंग एक्सपर्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, लर्निंग डिसेबिलिटी एक्सपर्ट और डेवलपमेंटल पीड शामिल हैं।

  • कमेंट
कमैंट्स ()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें

टॉप स्वास्थ्य ब्लॉग

Ask your queries to Doctors & Experts

Ask your queries to Doctors & Experts

Download APP
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}