• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

क्या हैं गर्भधारण ना कर पाने के मुख्य कारण या प्रेग्नेंट ना हो पाने के कारण ?

Deepak Pratihast
गर्भावस्था

Deepak Pratihast के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया May 10, 2019

क्या हैं गर्भधारण ना कर पाने के मुख्य कारण या प्रेग्नेंट ना हो पाने के कारण

मां बनना हर महिला के लिए सुखद अनुभूति होती है। विवाह के बाद हर महिला चाहती है कि वह मां बने, लेकिन कुछ वजहों से कई महिलाएं मां नहीं बन पातीं। इस वजह से उन्हें कई ताने भी सुनने पड़ते हैं। जरूरी नहीं कि गर्भवती न हो पाने की वजह महिला ही हो, लेकिन फिर भी उन्हें समाज में तरह-तरह की बातें सुननी पड़ती हैं। दरअसल बदलते लाइफस्टाइल की वजह से फर्टिलिटी की समस्या (Infertility Reason) इसका बड़ी वजह है। इसके अलावा कई अन्य कारण भी हैं, जिनकी वजह से कई महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हैं। आइए जानते हैं उन वजहों के बारे में जिनकी वजह से महिलाएं प्रेग्नेंट नहीं हो पाती हैं।

क्या हैं गर्भधारण ना कर पाने के मुख्य कारण? / Infertility Reason & Treatment for Women in Hindi

कुछ कारण/आदतें जो किसी महिला को प्रेग्नेंट होने से रोक सकतें हैं। पूरा ब्लॉग पढ़ें...

  1. मोटापा व वजन -  डॉक्टरों के अनुसार, कई केस में मोटापा अधिक होने के कारण भी महिलाएं मां नहीं बन पातीं। दरअसल मोटापे की वजह से इंफर्टिलिटी की समस्या हो जाती है। जिससे गर्भधारण करने में दिक्कत आती है। यही नहीं मोटापे से वजन अधिक हो जाता है, इससे भी गर्भधारण करने पर असर पड़ता है। हालांकि इस बात का भी ध्यान रखें कि वजन जरूरत से ज्यादा कम भी न हो। क्योंकि बहुत कम वजन होने से भी मां बनने में दिक्कतें आती हैं। कम वजन होने से महिला के हाइपोथैलेमस में खराबी आती है और ओवरी सही से काम नहीं करती।

  2. तनाव – आज के समय में तनाव (डिप्रेशन) की वजह से भी कई महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हैं। तनाव की वजह से फर्टिलिटी पर असर पड़ता है। इसके अलावा अगर आपको ठीक से नींद नहीं आ रही तो इसे कंट्रोल करें, क्योंकि यह भी मां बनने के सुख से दूर करता है। नींद न आने की स्थिति में आप डिप्रेशन का शिकार होने लगती हैं।

  3. सही समय पर सहवास न करना -  गर्भधारण करने के लिए जरूरी है कि आप सही समय पर सहवास करें। डॉक्टरों के अनुसार, गर्भधारण करने के लिए ओव्यूलेशन यानी डिंबोत्सर्जन के समय में सहवास करना जरूरी है। अगर इस समय आपने सहवास नहीं किया तो गर्भवती होने की संभावना बहुत कम होती है। [ पढ़ेंजानें शिशु के जन्म के बाद कब तक सेक्स से दूर रहना चाहिए ?]

  4. गलत पोजीशन में सेक्स – आजकल युवा पीढ़ी कुछ नया करने के लिए सेक्स के अलग-अलग पोजीशन को अपनाते हैं। पर गर्भधारण करने के लिए यह ठीक नहीं है। गलत पोजीशन की वजह से भी आप गर्भधारण करने से वंचित रह सकती हैं। गर्भधारण के लिए सेक्स के दौरान महिला का नीचे होना व पुरुष का ऊपर होना सबसे बेहतर पोजीशन है। हालांकि वीर्य स्खलन के बाद आप कुछ देर लेटी रहें। [जरूर पढ़ें क्या हैं गर्भावस्था के दौरान सेक्स इच्छा के सबसे बड़े कंफ्यूजन और उनके जवाब ?]

  5. ज्यादा गर्भनिरोधक इस्तेमाल करने के कारण – आजकल दंपत्ति अनचाहे गर्भ से बचने के लिए गर्भनिरोधक का काफी इस्तेमाल करते हैं। इसकी वजह से भी गर्भधारण करने में दिक्कत आती है। दरअसल गर्भ रोकने के लिए इंजेक्शन और गोलियां अधिक लेने से महिलाओं की फर्टिलिटी कम होती है और भविष्य में कंसीव करने के चांस कम होते हैं।

  6. ओव्यूलेशन न होना – ओव्यूलेशन  मासिक धर्म के दौरान होने वाली वो अवस्था है, जिसमें महिलाओं में सबसे अधिक अंडोउत्सर्जन होता है। गर्भधारण के लिए यह सबसे सही समय माना जाता है, पर कई महिलाओं में ओव्यूलेशन होता ही नहीं है। ऐसे में गर्भधारण करना मुश्किल होता है। ओव्यूलेशन के ठीक से न होने की वजह पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम होता है। [ये ब्लॉग पढ़ लेना चाहिए - कब और क्यों जाए आइवीएफ ट्रीटमेंट के लिये?]

  7. फेलोपियन ट्यूब का बंद होना –  कई बार ओव्यूलेशन की समस्या फेलोपियन ट्यूब बंद होने की वजह से होती है। इससे महिलाओं में अंडोत्सर्जन न होने की समस्या होने लगती है। इस ट्यूब में किसी भी ब्लॉकेज के कारण शुक्राणु अंडकोष तक नहीं पहुंच पाते हैं। इस समस्या के होने पर महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पातीं।

  8. पोलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम (PCOS) – पोलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम होने पर मेल हार्मोन की मात्रा नॉर्मल लेवल से अधिक होती है। इससे पीड़ित होने पर टेस्टोस्टेरोन और प्रोजेस्टेरोन की कम मात्रा होने की वजह से महिलाओं में एग फोल्लिक्ल का विकास नहीं हो पाता और महिलाएं गर्भधारण से वंचित रह जाती हैं।

  9. थायरॉइड - थायरॉइड की स्थिति में भी महिलाएं गर्भधारण नहीं कर पाती हैं। दरअसल हाइपर थायरॉइड होने पर महिलाओं को रिप्रोडक्टिव  हार्मोन बैलेंस करने में परेशानी आती है। थायरॉइड डिसऑर्डर से मेंस्ट्रुअल साइकल में परेशानी आने लगती है। इससे बेवक्त पीरियड्स, पीरियड्स में न के बराबर खून निकलना, बहुत ज्यादा खून निकलना जैसी दिक्कतें आती हैं। वहीं एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का कम मात्रा में सेक्रीशिन होना थायरॉइड लेवल में कमी की सबसे बड़ी वजह है। इससे महिलाओं को ओवरियन सिस्ट हो सकता है व उनके गर्भधारण करने की संभावना खत्म हो सकती है।

  10. अनियमित पीरियड्स - गर्भधारण करने के लिए पीरियड्स (मासिक धर्म) का सही समय पर आना बहुत जरूरी है। जब यह सही या नियमित समय पर नहीं आता, तो महिला को पीरियड्स के दौरान बहुत दर्द होता है। ये दोनों वजहें ही गर्भधारण में बाधा बनती हैं।

  11. गर्भाशय में गांठ – गर्भाशय में गांठ यानी फाइब्रॉयड होने से भी गर्भधारण करने में परेशानी आती है। फाइब्रॉयड में मासिक धर्म के दौरान सामान्य से ज्यादा खून बहना, यौन संबंध बनाते समय दर्द होना, पीरियड्स के बाद भी खून आने जैसी दिक्कतें आती हैं और इस वजह से अंडाणु और शुक्राणु आपस में मिल नहीं पाते। इस स्थिति में मां बनना संभव नहीं होता है।

  12. अधिक उम्र – कई मामलों में महिला और पुरुष दोनों की अधिक उम्र की वजह से भी गर्भधारण करना मुश्किल होता है। माना जाता है कि अगर महिला की उम्र 32 से ऊपर हो तो उसकी प्रजनन क्षमता काफी कम हो जाती है।

  13. नशा – आजकल कई महिलाएं भी खूब नशा करती हैं, जो गर्भधारण करने के लिहाज से ठीक नहीं है। धूम्रपान से उनकी फर्टिलिटी पर असर पड़ता है। अगर नशा ज्यादा हो, तो मां बनने की संभावनाएं लगभग खत्म हो जाती हैं।

  14. सर्वाइकल – सर्वाइकल होने की स्थिति में भी गर्भधारण करने की संभावना नहीं रहती है। सर्वाइकल प्रॉब्लम की वजह से स्पर्म सर्वाइकल कैनाल से नहीं गुजर पाते हैं। ऐसे में महिलाएं मां नहीं बन पाती हैं

 

महिलाओं के गर्भधारण न कर पाने की एक बड़ी वजह पुरुषों की कमी भी है। दरअसल आजकल कई केस ऐसे आ रहे हैं, जिनमें पुरुषों के वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या कम होने की वजह से उनकी फर्टिलिटी कम हो जाती है और इस वजह से वह प्रजनन नहीं कर पाते।

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 2
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| May 13, 2019

Tere Te Rehte Hain

  • रिपोर्ट

| Apr 07, 2019

mere ek beti hai jo ek saal 7 month ki hai ab hum dusra baby chahte hai pr period time pe ni aate. delivary ke Baad 2-3 baat aayi mujhe 7month Baad aaye to aapko btao ab me kya kru

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Always looking for healthy meal ideas for your child?

Get meal plans
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}