Pregnancy

क्यों ज़रूरी है प्रसव के बाद मालिश

Parentune Support
Pregnancy

Created by

क्यों ज़रूरी है प्रसव के बाद मालिश

मां बनना दुनिया का सबसे सुखद एहसास है लेकिन इस सुख को प्राप्त करते वक्त महिलाओं को भारी दर्द से गुज़रना पड़ता है जिसके चलते शरीर कमज़ोर भी हो जाता है। इस कमज़ोरी को दूर करने के लिए प्रसव के बाद मालिश का रिवाज़ है जिससे मांसपेशियां मज़बूत होती हैं और शरीर स्वस्थ बनता है।

 

क्यों ज़रूरी है मालिश

  • डिलीवरी के दौरान शरीर खासतौर पर पेट, पीठ के निचल हिस्सों व कूल्हों पर काफी जोर पड़ता है। ऐसे में मालिश करवाने से मांसपेशियों में रक्त और ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ता है, जिससे विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और शरीर को आराम मिलता है।

 

  • मालिश से शरीर में एंडोर्फिन नामक हार्मोन का निर्माण होता है जो प्राकृतिक दर्द निवारक होता है और मूड एलीवेटर का कार्य करता है।

 

  • मालिश शरीर को ऑक्सीटॉसिन जारी करने में भी मदद करती है। ऑक्सीटॉसिन लेटडाउन रिफ्लेक्स को सक्रिय करता है जिससे स्तनों से दूध निकलता है।

 

  • अगर बच्चा सिज़ेरियन यानि ऑपरेशन से हुआ है तो मालिश आपको जल्दी ठीक होने में मदद कर सकती है। हालांकि जब तक घाव पूरी तरह भर नहीं जाता, तब तक उस पर मालिश न करवाएं। घाव ठीक होने के बाद उस क्षेत्र पर हल्के हाथों से मालिश करने से रक्त आपूर्ति बढ़ती है और अंदरूनी घाव ठीक होने में भी मदद मिलती है।

 

  • मालिश आपको पहले जैसा फिट और दोबारा से आपके बॉडी फिगर को लाने में मदद करती है। 

 

  • मालिश से बेबी ब्ल्यूज और प्रसवोत्तर अवसाद का सामना करने में सहायता मिलती है। इसके अलावा मालिश तनाव को दूर करने में भी मदद करती है।

 

  • मालिश स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने भी लाभकारी साबित होती है। विटामिन ई युक्त ऑयल से मसाज करवाकर आप स्ट्रेच मार्क्स से निजात पा सकती हैं। 

  • Comment
Comments()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ START A BLOG
Top Pregnancy Blogs
Loading
Heading

Some custom error

Heading

Some custom error