• लॉग इन करें
  • |
  • रजिस्टर
गर्भावस्था

प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं ?

Sadhna Jaiswal
गर्भावस्था

Sadhna Jaiswal के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jan 30, 2019

प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं

गर्भावस्था के दौरान महिला के लिए संतुलित और स्वस्थ आहार बहुत महत्वपूर्ण हैं। इस समय महिला के शरीर  को अतिरिक्त पोषक तत्वों, विटामिन्स और खनिजो की आवश्कता होती है। प्रेगनेंसी के दौरान पोषक तत्वों की कमी से बच्चे के विकास में नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। स्वस्थ और पौष्टिक भोजन आपके और आपके बच्चे के विकास के लिए अति आवश्यक है। आइये आज हम जानते है की प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। [इसे भी पढ़ें - गर्भवती महिलाओं के लिए कौन से विटामिन लेना जरूरी है?]

 

गर्भावस्था के दौरान क्या खाना चाहिए?/ What Should be Eaten During Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था में बहुत ही सोच समझकर खाना चाहिए क्यों की इन सबका फर्क आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास में पड़ेगा। इसे पढ़ें...

  • प्रेगनेंसी में दूध तथा दूध से बने उत्पादों का सेवन जैसे दूध, छाछ, पनीर, दही आदि महिला के लिए लाभदायक है। दूध कैल्सियम का सबसे अच्छा स्त्रोत है, इसमें फास्फोरस, विटामिन बी, मेगनिसियम, और जिंक उच्च मात्रा में पाए जाते है। और दही तो विशेष रूप से गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • गर्भावस्था में दालो से मिलता है अतिरिक्त पोषण। गर्भवती महिला अपने भोजन में मसूर की दाल, मटर, सेम की फलिया चने(छोले), सोयाबीन और मूंगफली आदि दालें जरुर शामिल करें। दालो में प्रोटीन फाइबर आयरन फोलेट(बी9) और कैल्सियम बहुत अधिक मात्रा में मिलता है।
  • प्रेगनेंसी में अंडों का सेवन लाभदायक है। अंडे में वो सभी आवश्यक पोषक तत्व होते है जो एक गर्भवती महिला के लिए जरुरी है। एक अंडे में 77 कलोरी होती है,  साथ ही साथ उच्च गुणवत्ता वाला प्रोटीन और वसा भी मौजूद होता है इसके साथ ही इसमें कई विटामिन और खनिज पाए जाते हैं।

इसे भी पढ़ें - क्या खाएं गर्भवती महिलाएं 2nd ट्राईमिस्टर में?

  • ब्रोकली और हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल भी प्रेगनेंसी में ज्यादा से ज्यादा करें।  ब्रोकली, हरिपत्तेदार सब्जिया जैसे पालक, लौकी, तोरी, बीन्स में कई पोषक तत्व होते है। जो गर्भवती महिलाओ के लिए जरुरी है। इसमें फाइबर, विटामिन सी, के, ए, कैल्शियम, आयरन, फोलेट, पोटेशियम प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। ये सब्जिया कब्ज को रोकने में भी मदद करती है। जो गर्भवती महिलाओ की आम समस्या होती है।
  • साबुत अनाज बच्चे के विकास के लिए बहुत जरुरी है। साबुत अनाज का सेवन गर्भावस्था में आवश्यक कैलोरी की मात्रा को पूरा करने में मदद करता है। जिसकी खासकर दुसरे और तीसरे तिमाही में अत्याधिक आवश्कता पड़ती है। साबुत अनाजो में फाइबर, विटामिन्स भरपूर मात्रा में होता है। ओट्स और किनोवा में प्रोटीन उच्च मात्रा में होता है। जो प्रेगनेंसी के दौरान महतवपूर्ण है।  
  • गर्भावस्था में सूखे मेवे और ताजे फल जैसे सेब, केला, अनार, बहुत ही फायदेमंद होता है। सूखे मेवे आमतौर पर केलोरी, फाइबर और विभिन्न विटामिन्स और खनिजो से समृद्ध होते है। सूखे मेवे में काजू, किसमिश, बादाम, सूखे बेर, और खजूर में फाइबर, पोटेशियम, आयरन, और पौधों  के योगिक अधिक मात्रा में पाए जाते है। ताजे फलों और सूखे मेवों में प्राकृतिक शुगर भी उचित मात्रा में पाई जाती है। साथ ही ये केलोरी और पोषक तत्वों से भी भरपूर है।
  • प्रेगनेंसी में ज्यादा पानी पीना शिशु के विकास के लिए सही माना गया है, क्योकि बच्चा पेट में पानी से ही जीवित रहता है। पानी की सहायता से ही भोजन का रस बच्चे तक पहुचता है। पानी की कमी के कारण नार्मल डिलीवरी में भी बाधा आ सकती है और शिशु की जान को भी खतरा हो सकता है। प्रेगनेंसी में एक साथ ज्यादा पानी न पिए, दिन में थोडा थोडा करके बार बार पानी पिए।

 

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए/ What to Avoid Eating During Pregnancy in Hindi

आपको ये भी जानना भी बहुत जरुरी है की आपको क्या नहीं खाना चाहिए क्यों की यह आपके गर्भ में पल रहे बच्चे के विकास में बाधा डाल सकता है। इसे पढ़ें..

  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को कच्चे अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए। और इससे बने उत्पादों का भी सेवन नहीं करना चाहिए। कच्चे अंडे और इससे बने उत्पादों में समोनेला नाम के बैक्टीरिया के इन्फेक्शन का खतरा रहता है।
  • प्रेगनेंसी में चाय, कॉफी, जंक फ़ूड, फ़ास्ट फ़ूड, और एनर्जी ड्रिंक्स से दूर ही रहें। कई अध्ययनों में पाया गया है कि ज्यादा कैफीन के सेवन से गर्भपात, समय पूर्व प्रसव और कम वजन का बच्चा पैदा होने का खतरा रहता है।
  • गर्भावस्था में ब्लैक टी, कॉफ़ी आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • प्रेगनेंसी में शराब,बियर, धुम्रपान से भी परहेज रखें। शरीर में एल्कोहल की मौजूदगी से बच्चे के विकास में बाधा आ सकती है।  
  • महिला को गर्भावस्था के दौरान कच्चा पपीता नहीं खाना चाहिए। कच्चा पपीता खाना माँ के लिए खतरनाक हो सकता है। क्योकि इसमें पेप्सिन होता है और इसके साथ इसमें पपाइन भी होता है। जिससे गर्भ में पल रहे बच्चे की ग्रोथ और डेवलपमेंट रुक जाती है।
  • अनानास गर्माहट पैदा करने वाला होता है। इसीलिए प्रेगनेंसी में इसे खाने से बचना चाहिए।

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • 9
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.

| Feb 12, 2019

after intercourse next day se subah bheege badam or anjeer kha sakte hai?

  • रिपोर्ट

| Feb 12, 2019

after intercourse next day se subah bheege badam or anjeer kha sakte hai?

  • रिपोर्ट

| Feb 12, 2019

after intercourse next day se subah bheege badam or anjeer kha sakte hai?

  • रिपोर्ट

| Feb 02, 2019

fish kha sakte hai

  • रिपोर्ट

| Feb 02, 2019

egg kha sakte hai

  • रिपोर्ट

| Nov 11, 2018

nice

  • रिपोर्ट

| Aug 02, 2018

Thnx for inform

  • रिपोर्ट

| Jul 29, 2018

superb

  • रिपोर्ट

| Jul 29, 2018

Sahi hai

  • रिपोर्ट
+ ब्लॉग लिखें
टॉप गर्भावस्था ब्लॉग

Trying to conceive? Track your most fertile days here!

Ovulation Days Calculator
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}