गर्भावस्था

गर्भावस्था के दौरान व्रत करना कितना सुरक्षित ?

Parentune Support
गर्भावस्था

Parentune Support के द्वारा बनाई गई
संशोधित किया गया Jun 14, 2018

गर्भावस्था के दौरान व्रत करना कितना सुरक्षित

वैसे तो हम महिलाये बहुत से कठिन व्रत रखते है पर प्रेगनेंसी में व्रत रखना जरूरी नहीं होता है,  क्युकी यह आपके लिए यह नुक्सानदायक भी हो सकता है। जैसे की, करवा चौथ, तीज और होई अष्टमी ऐसे ही व्रत हैं, जो शादीशुदा महिलाओं  के लिए  परम्परागत तौर पर , जरुरी होते हैं। ये  व्रत उन्हे रखना ही होता है चाहे वो प्रेगनेंट ही क्यों न हो |यह जानते हुए भी की व्रत रखना उनकी और उनके बच्चे की सेहत के हिसाब से ठीक नहीं होता है ।ऐसे में आपको अपनी देखभाल की ज्यादा जरूरत होती है। ख़ास तौर पर, यदि व्रत नवरात्री या रमजान के हों तो क्योंकि इनकी अवधि बहुत लम्बी होती है।आपको ख्याल रखना है की व्रत का आपके बच्चे की सेहत पे कोई बुरा असर न पड़े |


प्रेगनेंसी में व्रत रखना कितना सुरक्षित है-- अगर आपका और आपके पेट में पल रहे बच्चे का स्वास्थ अच्छा हैं, तो आप कुछ समय तक भूख को सहन कर सकती हैं। लेकिन यदि ऐसा नहीं है तो आपके लिए व्रत रखने जे बारे में सोचे भी नहीं । खासकर के गर्मियों के मौसम में बहुत जल्दी डिहाइड्रेशन हो जाता है। ऐसे में, आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी के अलावा, पानी की कमी भी हो सकती है | इसलिए गर्मियों में आपको व्रत रखने से पहले एक बार और सोच ले।

क्या समस्याएं हो सकती हैं ज्यादा देर तक भूखा रहने से--  चक्कर  आना कमजोरी, बेचैनी, सिरदर्द, बेहोशी, एसीडिटी,घबराहट आदि | प्रेग्नेंट महिलाओं का व्रत रखना उसकी और उसके होने वाले बच्चे की सेहत के लिए नुक्सानदायक हो सकता है| पर कुछ व्रतों में आप फलाहार कर सकती हैं। इस तरह के व्रत आपके लिए कुछ हद तक ठीक हो सकते हैं। जितना हो सके ताजे फलों का सेवन करिये।

व्रत रखते समय ध्यान रखने योग्य कुछ बातें-मल्टीविटामिन का सेवन जारी रखें,ऐसे फलों का सेवन ज्यादा न करें, जिनमें शुगर हो,चाय या कोफ़ी का सेवन न करें,प्रेगनेंसी और व्रत एक साथ हो तो, तला हुआ तो कुछ भी न खाएं,यदि मौसम गर्मी का है तो बाहर जाने से बचें और खूब सरे तरल का सेवन करें,आराम आपके लिए बहुत जरूरी है, इसलिए पर्याप्त आराम जरूर करें, कोशिश करें कि व्रत और प्रेगनेंसी के दौरान, भारी कार्य या एक्सरसाइज तो बिलकुल भी न करें,फास्टिंग से आपका सिस्टम थोड़ा धीमा हो जाता है। इसलिए कुछ भी अचानक से खा लेने के बजाय पहले कोई तरल जैसे नारियल पानी जरूर पी लें।यदि आपको बहुत ज्यादा थकावट, बेहोशी, धड़कन का अनियमित होना, पेट में दर्द होना, उल्टी या मतली जैसी समस्याएं हो रही हैं तो डॉक्टर से तुरंत सम्पर्क करें।

 

आपका एक सुझाव हमारे अगले ब्लॉग को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य पैरेंट्स के साथ शेयर जरूर करें।

  • कमेंट
कमैंट्स()
Kindly Login or Register to post a comment.
+ ब्लॉग लिखें
Loading
{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}

{{trans('web/app_labels.text_Heading')}}

{{trans('web/app_labels.text_some_custom_error')}}